Atal hind
कैथल टॉप न्यूज़ राष्ट्रीय हरियाणा

कलायत में त्यौहार तकरार ,एसडीएम ने निर्माण रुकवाया लोगों ने विरोध जताया 

कलायत में त्यौहार तकरार ,एसडीएम ने निर्माण रुकवाया लोगों ने विरोध जताया

बिना नोटिस जारी किए एसडीएम ने रोका रास्ते का निर्माण
अचानक विकास योजनाओं पर रोक लगाने से भड़के सामाजिक संगठन
कलायत नगर पालिका परिसर में एसडीएम की मौजूदगी में स्थानीय लोगों ने की नारेबाजी
Kalayat news/atal hind/tarsem singh।
महिला कॉलेज से बस स्टैंड तक बनाए जा रहे नव निर्माणाधीन रास्ते का निर्माण कार्य एसडीएम द्वारा होली के दिन बंद करवा दिया। कलायत के विकास की लाइफ लाइन कहे जाने वाले रास्ते का निर्माण कार्य को एसडीएम वीरेंद्र सिंह द्वारा बंद करवाने के निर्देश पर स्थानीय लोगों के विरोध का सामना करना पड़ा। नगर पालिका पहुंचे एसडीएम वीरेंद्र कुमार के खिलाफ स्थानीय लोगों ने जमकर नारेबाजी की और रास्ते के निर्माण में प्रशासनिक अधिकारियों द्वारा रोके जाने पर उनकी मंशा पर भी सवाल उठाए। स्थानीय लोगों ने बताया कि महिला कॉलेज से बस स्टैंड तक बनाए जा रहे 40 फुट चौड़े व 1000 मीटर लंबे रास्ते का निर्माण कार्य करीब 10 दिन से जारी है। एकाएक सुबह करीब 10 बजे नगरपालिका जेई आदर्श कुमार व एक पालिका कर्मचारी रास्ते का निर्माण बंद करवाने के लिए मौका स्थल पर पहुंचे।

निर्माण कार्य को बंद किए जाने का पता चलते ही दर्जनों स्थानीय लोग वहां पर एकत्रित हो गए। उन्होंने रास्ते का निर्माण बंद करवाने बारे पूछा गया तो अधिकारी कोई संतुष्ट जवाब नहीं दे सके। केवल इतना मात्र कहा कि ऊपर से आदेश हैं इसलिए रास्ते का निर्माण बंद किया जा रहा है। जब स्थानीय लोगों ने पालिका जेई का विरोध किया तो वहां से जेई साहब खिसक लिए। करीब 2 घंटे बाद एसडीएम पुलिस बल के साथ नगरपालिका कार्यालय पहुंचे और उन्होंने नगरपालिका कर्मचारियों को रास्ते का निर्माण बंद करने के निर्देश दिए। भनक लगते ही दर्जनों की संख्या में कस्बे के लोग पालिका कार्यालय में एकत्रित हो गए और एसडीम वीरेंद्र सिंह से रास्ता निर्माण बंद करवाने बारे पूछा गया तो एसडीएम कोई संतुष्ट जवाब नहीं दे सके तथा कर्मचारियों को निर्माण बंद करने के निर्देश देते रहे। इस पर मौजूद लोगों के सब्र का बांध टूट गया और नगरपालिका कार्यालय के बाहर एसडीम के खिलाफ जमकर नारेबाजी शुरू कर दी।

 

प्रशासनिक अधिकारियों और स्थानीय नेताओं पर लगाए भू माफियाओं से मिलीभगत के आरोप:
प्रशासनिक अधिकारियों द्वारा रास्ता निर्माण बंद किए जाने पर स्थानीय लोगों ने आरोप लगाते हुए कहा कि कुछ लोगों द्वारा नगर पालिका की जमीन के आसपास काफी जमीन खरीदी हुई है। नगर पालिका द्वारा जिस रास्ते का निर्माण किया जा रहा है उसके दोनों और नगर पालिका की जमीन है लेकिन कुछ लोग चाहते हैं कि नगर पालिका द्वारा निकाला जा रहा 40 फुट का रोड उनकी जमीन के साथ लगते निकाला जाए ताकि उन्हें भारी मुनाफा मिले। उन्होंने आरोप लगाया कि कुछ प्रशासनिक अधिकारी और भू माफिया से मिलीभगत कर उनकी सहायता कर रहे हैं। उन्होंने प्रदेश मुख्यमंत्री व गृह मंत्री अनिल विज से पूरे मामले की निष्पक्ष जांच की मांग की है।

की जा सकती है निर्माणाधीन सड़क की ड्राइंग से छेड़छाड़:
स्थानीय निवासी राधेश्याम भट्ट, रवींद्र सूर्यवंशी, दिलबाग सिंह, राजेंद्र गर्ग, विक्रम, अमित, अनिल, राजेश, रमेश कुमार व दूसरे ने प्रशासनिक अधिकारियों की मंशा पर सवाल उठाते हुए कहा कि नगर पालिका द्वारा जिस 40 फुट चौड़े रास्ते का निर्माण किया जा रहा है उसके दोनों तरफ नगरपालिका की 30-30 फुट जमीन लगती है। दोनों तरफ दुकाने काटे जाने से नगरपालिका की आमदनी बढ़ेगी और नगरपालिका को भारी मुनाफा होने के साथ-साथ आमजन को भी रोजगार मुहैया होगा। प्रशासनिक अधिकारियों द्वारा जिस प्रकार से आनन-फानन में रास्ते का निर्माण रोका जा रहा है इससे उनकी मंशा पर सवाल उठने लगे हैं। उन्होंने आशंका जाहिर करते हुए कहा कि जिस प्रकार से प्रशासनिक अधिकारी तानाशाह रवैया अपना रहे हैं इससे सड़क निर्माण की ड्राइंग में भी छेड़छाड़ की जा सकती है और भू माफियाओं को लाभ पहुंचाया जा सकता है।

12 अप्रैल को लाया जा रहा है अविश्वास प्रस्ताव इसलिए रोका गया रास्ते का निर्माण:
एसडीएम वीरेंद्र सिंह ने कहा कि 12 अप्रैल को नगर पालिका प्रधान के खिलाफ कुछ पार्षदों द्वारा अविश्वास प्रस्ताव लाया गया है। तब तक माननीय उपायुक्त के निर्देश पर रास्ते का निर्माण कार्य बंद किया गया है। 12 अप्रैल के बाद रास्ते का निर्माण सुचारु करवा दिया जाएगा। रास्ते के निर्माण कार्य में पूरी पारदर्शिता बरती जाएगी।

उप प्रधान की भू-माफिया से मिलीभगत इसीलिए लाया गया अविश्वास प्रस्ताव : रजनी राणा
नगरपालिका चेयरपर्सन रजनी राणा ने उप प्रधान पूजा धीमान पर आरोप लगाते हुए कहा कि नगरपालिका उपप्रधान की जमीन भी नगर पालिका की जमीन के साथ लगती है। वह तथा कुछ भू-माफिया चाहते हैं कि नगर पालिका द्वारा जिस रास्ते का निर्माण किया जा रहा है वह रास्ता उनकी जमीन से साथ लगते गुजरे ताकि उन्हें भारी मुनाफा हो सकता है। लेकिन अब जिस 40 फुट के रास्ते का निर्माण किया जा रहा है उसके दोनों और नगर पालिका की जमीन है। नगरपालिका को आमदनी हो इसके लिए उसके दोनों और दुकान काटने का प्लान तैयार किया गया है लेकिन पूजा धीमान भू- माफियाओं के साथ मिलकर उस रास्ते का निर्माण अपनी जमीन के साथ लगते करवाना चाहती हैं। उन्होंने कुछ पार्षदों को बहकाकर उनके खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव लाया गया है।

विकास कार्यों में पार्षदों के साथ किया गया भेदभाव इसलिए लाया गया अविश्वास प्रस्ताव:
नगर पालिका उप प्रधान पूजा धीमान ने कहा कि चेयरपर्सन रजनी राणा द्वारा रास्ता निर्माण में बाधा डालने व भू-माफिया से मिली भक्त के सभी आरोप निराधार हैं। रास्ता निकालना या ना निकालना यह प्रशासनिक अधिकारियों का काम है। रास्ते का निर्माण कार्य बंद करवाने में उनका कोई लेना देना नहीं है। अविश्वास प्रस्ताव बारे पूजा धीमान ने कहा कि कलायत में विकास कार्यों में पार्षदों के साथ भेदभाव किया गया इसलिए ही कुछ पार्षद उनसे नाराज हैं। पार्षदों के साथ भेदभाव के कारण ही उनके खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव लाया गया है।

डिस्क्लेमर (अस्वीकरण) : इस आलेख में व्यक्त किए गए विचार लेखक के निजी विचार हैं. इस आलेख में दी गई किसी भी सूचना की सटीकता, संपूर्णता, व्यावहारिकता अथवा सच्चाई के प्रति ATAL HIND उत्तरदायी नहीं है. इस आलेख में सभी सूचनाएं ज्यों की त्यों प्रस्तुत की गई हैं. इस आलेख में दी गई कोई भी सूचना अथवा तथ्य अथवा व्यक्त किए गए विचार #ATALHIND के नहीं हैं, तथा atal hind उनके लिए किसी भी प्रकार से उत्तरदायी नहीं है.

अटल हिन्द से जुड़ने के लिए शुक्रिया। जनता के सहयोग से जनता का मीडिया बनाने के अभियान में कृपया हमारी आर्थिक मदद करें।

Related posts

रॉकी मित्तल को मिली जमानत, 333 व 353 धाराएं भी हटी

admin

तो कुछ ऐसी है Chandigarh Police में दर्ज सबसे पहली FIR की कहानी…

Sarvekash Aggarwal

डीडीवाई स्कूल खरक पांडवा का शत प्रतिशत रहा 12वीं का परीक्षा परिणाम

Sarvekash Aggarwal

Leave a Comment

URL