AtalHind
टॉप न्यूज़भिवानी

किसानों की बहन बेटियों बारे मन्त्री जयप्रकाश दलाल ने की  आपत्तिजनक व अमर्यादित टिप्पणी

किसानों की बहन बेटियों बारे मन्त्री जयप्रकाश दलाल ने की  आपत्तिजनक व अमर्यादित टिप्पणी

सर्व जातीय जाटू खाप धनाना ने मन्त्री जयप्रकाश दलाल से तुरन्त वापिस लेकर माफी मांगने की मांग 

भिवानी 29 नवम्बर , 2023. (ATAL HIND)सर्व जातीय जाटू खाप धनाना ने किसानों की बहन बेटियों पर राज्य के कृषि कल्याण मन्त्री जयप्रकाश दलाल द्वारा जो घोर आपत्तिजनक व अमर्यादित टिप्पणी की है , उसकी घोर निंदा की है तथा इसे तुरंत वापिस लेने व जनता से माफी मांगने की मांग की है ।

सर्व जातीय जाटू खाप धनाना के पदाधिकारियों की आपात बैठक खाप के प्रधान कप्तान भीमसिंह मिताथल की अध्यक्षता में हुई , जिसमें मुख्य रूप से खाप सचिव मास्टर राजसिंह जताई , कुलदीप सिंह धनाना , अजित सिंह बाडी , राज सिंह कबाड़ी व राजसिंह राजड़ ने भाग लिया तथा सर्व सम्मति से एक प्रस्ताव पास करके कृषि कल्याण मन्त्री जे पी दलाल द्वारा किसानों की बहु बेटियों के विरुद्ध जो आपत्तिजनक व अमर्यादित भाषा बोली है , उसकी घोर निंदा की है तथा अविलम्ब जनता से माफी मांगने की मांग की है ।

उन्होंने कहा कि सभी की बहन बेटियां एक समान हैं , मन्त्री के घर में बहन बेटियां हैं , वे भी हमारी ही बहन बेटियां हें , हमारे आापस में वैचारिक मतभेद हो सकते हैं , पक्ष विपक्ष होता है , सरकार का नीतियो के आधार पर विरोध तथा पक्ष रहता है , किसी से व्यक्तिगत विरोध नहीं होना चाहिए , आज जो सत्ता पक्ष है , वह पहले विरोध पक्ष था , आगे भी विरोध पक्ष हो सकता है ,

लेकिन राज्य के कृषि कल्याण मंत्री द्वारा दो दिन पहले लोहारू तहसील के गिगनाऊ गांव में बागवानी कार्यक्रम का शुभारम करते हुए किसानों व उनकी बहु बेटियों बारे जो विवादित व अमर्यादित टिप्पणी की है वह घोर निंदनीय है और समस्त नारि जात शक्ति का अपमान है , बहन बेटियां सभी की समान हैं ,

किसान समाज उनके अपमान को कभी सहन नहीं करेगा । एक जिम्मेवार कैबिनट पद पर आसीन व्यक्ति को ऐसी बहन बेटियों बारे ओच्छी , अमर्यादित टिप्पणी करना मन्त्री पद के आचरण के बिलकूल खिलाफ है ,

इसके लिए उन्हें तुरन्त जनता से माफी मांगनी चाहिए तथा की गई अभद्र टिप्पणी को अविलम्ब वापिस लेनी चाहिए । उन्होंने कहा कि ये मन्त्री जी पहले भी किसान आन्दोलन के दौरान किसानों बारे आपत्तिजनक , अभद्र व अमर्यादित ब्यान देते रहे हैं , जिनका कोई औचित्य नहीं था ,

एक वरिष्ठ मन्त्री को उनके पद की गरिमा बनाए रखनी चाहिए अन्यथा लोगों से अपेक्षानुसार सम्मान मिलने की बजाए उनको विरोध का ही कोपभाजन बनना पड़ेगा । सभ्य नागरिक समाज में एक मन्त्री द्वारा की गई इस तरह की अशोभनीय , अभद्र व अमर्यादित टिप्पणी कभी भी बर्दाशत नहीं हो सकती ।

उन्होंने अपना कार्य करते समय संयम रखना चाहिए और विरोधियों को अपना दुश्मन मानने की बजाए लोकतान्त्रिक प्रक्रिया का हिस्सा मानना चाहिए , उन्हें यह याद रखना चाहिए कि वे भाजपा के मन्त्री नहीं है , बल्कि राज्य की जनता के कृषि कल्माण मन्त्री हैं और उनके लिए सारी जनता एक समान है ।

हम मांग करते हैं कि उन्हें जनता के साथ अपने आचरण में सुधार करना चाहिए और आगे इस तरह की अमर्यादित टिप्पणी से बचना चाहिए । यदि उन्होंने अपनी इस अमर्यादित भाषा पर खेद प्रकट करते हुए माफी नहीं मांगी तो जाटू खाप उनके विरुद्ध कठोर फैसला लेने पर मजबूर होगी ।

Advertisement

Related posts

Modi’s guarantee-लहर बीजेपी सत्ता विरोधी है इसलिए मोदी की गारंटी” और “विश्वगुरु” के बारे में खूब प्रचार किया।

editor

अंतरराष्ट्रीय जगत में भारत को शर्मिंदगी झेलनी पड़ रही है.लेकिन भाजपा समर्थकों की नज़र में अपदस्थ किए गए पार्टी नेता दोषी नहीं पीड़ित हैं

atalhind

दिल्ली:राम मंदिर की प्राण-प्रतिष्ठा का विरोध करना महंगा पड़ा ,कॉलोनी छोड़ने को कहा

editor

Leave a Comment

URL