कैथल-अधिकारी ठेकेदारों से मिलीभगत करके सड़क निर्माण में बरत रहे हैं धांधली, कुंभकरणी नींद सोया जिला प्रशासन !

कैथल-अधिकारी ठेकेदारों से मिलीभगत करके सड़क निर्माण में बरत रहे हैं धांधली, कुंभकरणी नींद सोया जिला प्रशासन !

आनन-फानन में बना दी ढांड गांव में सड़क, ना पुरानी सड़क उखाड़ी, न सफाई की, ऐसे ही बना डाली सड़क !

सड़क निर्माण में धांधली करने वाले ठेकेदार व अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई की उठी मांग !

कैथल, 10 नवम्बर (कृष्ण प्रजापति): पिछले 5 सालों में भारतीय जनता पार्टी पारदर्शिता व ईमानदारी के गीत गाती रही लेकिन अधिकारी ठेकेदारों के साथ मिलकर बेईमानी करते रहे। न तो खट्टर सरकार द्वारा उन अधिकारियों पर नकेल कसी गई और ना ही अफसरशाही पर लगाम कसी गई। अफसरशाही पर लगाम लगाने में भारतीय जनता पार्टी पूरी तरह विफल रही हालांकि मुख्यमंत्री खुद को ईमानदार और पूरी सरकार को ईमानदार बताते रहे लेकिन जनता ने उनके घमंड में डूबे मंत्रियों को ठिकाने लगाने में कोई कसर नहीं छोड़ी और हजारों वोटों के अंतर से हराकर उनके मंत्रियों को घर बैठाने का काम जागरूक जनता ने किया। ढांड में सड़क निर्माण कार्य जोरों पर है लेकिन लोक निर्माण विभाग के अधिकारियों द्वारा ठेकेदारों से मिलीभगत के चलते अनेक अनियमितताओं को अंजाम दिया गया। सड़कों को रातों-रात बनाया जा रहा है ताकि शिकायत करने वालों को भी भनक न लगे। सड़क निर्माण में इस प्रकार की धांधलियां बरती जा रही हैं जिसको सहन करना आम आदमी के वश से बाहर है। सड़क निर्माण में गड़बड़ी होते देख लोगों की एक ही बात थी कि ये तो आंखों देखे जहर पीने वाली बात हो रही है। जब सड़क निर्माण में ठेकेदार और निर्माण एजेंसी द्वारा बरती जा रही लापरवाही की शिकायत के लिए आम जनता ठेकेदार और अधिकारियों के मोबाइल पर संपर्क साधने का प्रयास करते हैं तो अधिकारी उनकी कोई बात का जवाब नहीं देते और व्यस्त होने का बहाना बनाकर फोन काट देते हैं, जिससे अंदाजा लगाया जा रहा है कि कैथल में यह सब खेल अधिकारियों और ठेकेदारों की मिलीभगत से चल रहा है। इस कार्य में नेताओं का भी हाथ हो सकता है क्योंकि अधिकारी नेताओं की शह पर और ठेकेदार अधिकारियों की शह पर भ्रष्टाचार को अंजाम दे रहे हैं।

 

कैथल जिले में आजकल कई सड़कों का निर्माण कार्य हो रहा है इसमें मुख्य रूप से ढांड कस्बे में पेहवा-करनाल रोड का निर्माण कार्य, पंचमुखी चौक से बाबा बिहारी दास चौक व थाने वाली सड़क का निर्माण कार्य किया जा रहा है जिसमें बीच में न तो डिवाइडर बनाये गए और ना ही पुरानी सड़क को उखाड़ा गया। इसके अलावा दोनों तरफ नाले बनाए जाने थे, वे भी नहीं बनाए गए, सड़क को चौड़ा करने के नाम पर पेड़ काट दिए गए लेकिन सड़क को चौड़ा नहीं किया गया। बिजली के पोल हटाकर दूर कर दिए गए लेकिन एक भी कार्य को पूरा किए बिना केवल औपचारिकता बरतकर सड़क निर्माण कार्य किया जा रहा है। जब सड़क का निर्माण कार्य देखकर लोगों को इसमें गोलमाल की आशंका जाहिर हुई तो स्थानीय निवासी वेदप्रकाश जांगड़ा, रामकुमार प्रजापति, कालाराम, हरिश्चंद्र कंबोज, पूनाराम गांगल, राजेश कसाना, देवी चंद, हर्ष ढांड आदि ने इस सड़क निर्माण में धांधली को लेकर रोष जताया और अधिकारियों से संपर्क साधने का प्रयास किया तो अधिकारियों ने व्यस्त होने का बहाना बनाकर टाल मटोल करते हुए फोन काट दिया व किसी भी बात का संतोषजनक जवाब नहीं दिया। स्थानीय निवासियों ने कहा कि सड़क निर्माण में ठेकेदार जो निर्माण सामग्री इस्तेमाल कर रहा है, निर्माण कार्य में धांधली रहा है उसके लिए लोक निर्माण विभाग के अधिकारी मिलीभगत हैं और अधिकारी भी किसी नेता की शह पर ही इस प्रकार के कार्य को अंजाम दे रहे हैं। उन्होंने इस पूरे मामले की जांच उच्च स्तर पर करवाने की मांग की है और इस सड़क निर्माण में दोषी अधिकारियों, ठेकेदारों निर्माण एजेंसी के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने की मांग भी की है।

बॉक्स– उधर इस बारे में बातचीत करने के लिए हमने विभाग के कार्यकारी अभियंता, अधीक्षक अभियंता, जिला उपायुक्त आदि सभी से संपर्क साधने का प्रयास किया लेकिन किसी से भी संपर्क नहीं हो पाया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *