Atal hind
कैथल टॉप न्यूज़ शिक्षा हरियाणा

कैथल और पूंडरी महिला आईटीआई बने युवतियों की पहली पसंद,रोहतक एमडीयू  में हॉस्टल के विद्यार्थियों के लिए गाइडलान जारी

कैथल और पूंडरी महिला आईटीआई बने युवतियों की पहली पसंद,

कैथल/हिसार/रोहतक  (अटल हिन्द ब्यूरो )

कैथल जिले के कालेजों में शनिवार को छठे दिन भी दाखिले  के लिए आवेदन प्रक्रिया जारी रही। नगर के

आरकेएसडी कालेज में सबसे अधिक कुल 1604 आवेदन आ चुके हैं तो वहीं आइजी कॉलेज भी छात्राओं की

पहली पसंद बना हुआ है। इसके साथ ही राजकीय कालेज कैथल में भी अभी तक करीब 1200 आवेदन

वेबसाइट पर आ चुके हैं। विद्यार्थियों ने उच्चतर शिक्षा विभाग की वेबसाइट पर दाखिले के लिए आवेदन किए।

कालेजों के साथ आईटीआई में भी विद्यार्थियों की ओर से ऑनलाइन माध्यम से दाखिलों को लेकर आवेदन किए

जा रहे हैं। यहां विद्यार्थियों के आवेदन करने के लिए हेल्प डेस्क लगाएं है, जो विद्यार्थी इन हेल्प डेस्क के माध्यम

से ऑनलाइन आवेदन करना चाहता है, वह नियमों का पालन करके कर सकता है। शहर की आइटीआइ में

550, महिला आईटीआई में 200 आवेदन अभी तक आ चुके हैं। इसके अलावा जिले कही अन्य आईटीआईमें

करीब एक हजार आवेदन और आ चुके हैं।

कैथल और पूंडरी की महिला आईटीआई युवतियों की पहली पसंद बनी हुई हैं। सुबह से लेकर सायं तक

युवतियों का आवेदन फार्म अपलोड करवाने के लिए तांता लगा हुआ है। आइटीआई में जहां युवतियों को कोर्स

के बारे में जानकारी दी जा रही है तो वहीं उनका फार्म भी नि:शुल्क अपलोड करवाया जा रहा है। महिला

आईटीआई पूंडरी की इंचार्ज प्राचार्या ऊषा रानी ने बताया कि आईटीआई में युवतियों व महिलाओं को आधुनिक

मशीनों पर नि:शुल्क व्यवसायिक प्रशिक्षण दिया जा रहा है। इसे लेकर युवतियां व महिलाएं सरकारी नौकरी के

साथ-साथ अपना काम भी कर सकती हैं। छात्राओं को 1000 रुपये की राशि राजकीय आईटीआई पूंडरी की

प्राचार्या ऊषा रानी ने बताया कि युवतियों का रूझान पूरी तरह से आइटीआइ की ओर है। अब तक 100 से

अधिक फार्म आ चुके हैं। इस बार 8वीं पास युवतियां व महिलाएं भी आईटीआई का कोर्स कर सकती हैं।

छात्राओं को 1000 रुपये की राशि टूल किट के साथ-साथ छात्रवृति भी दी जाती है।

 

  हरियाणा कृषि विश्वविद्यालय हिसार में दाखिले के लिए तारीख 16 सितंबर 2020 

स्नातकोत्तर व पीएचडी प्रोग्रामों में दाखिले के लिए प्रवेश परीक्षा का अंतिम चरण 16 सितंबर को

हिसार। हरियाणा कृषि विश्वविद्यालय (Haryana Agricultural University) प्रशासन ने शनिवार को बेसिक

साइंस की पी.एच.डी. में दाखिले के लिए प्रवेश परीक्षा (Entrance examinations) का तीसरा चरण आयोजित

किया। प्रवेश परीक्षा में 543 परीक्षार्थी शामिल हुए, जबकि 337 परीक्षार्थी अनुपस्थित रहे। विश्वविद्यालय

प्रशासन (University administration) की ओर से परीक्षाओं को चार चरणों में आयोजित किया जाना है,

जिसका तीसरा चरण 12 सितंबर को आयोजित किया गया। अब स्नातकोत्तर व पी.एच.डी. की परीक्षाओं का

अंतिम चरण 16 सितम्बर को होगा। विश्वविालय के कुलपति प्रोफेसर समर सिंह व कुलसचिव डॉ. बी.आर.

कंबोज सहित अन्य प्रशासनिक अधिकारियों ने परीक्षा केंद्रों का दौरा करते हुए चल रही परीक्षाओं का जायजा

लिया और ड्यूटी कर्मचारियों को शांतिपूर्वक परीक्षा करवाने की अपील की। उधर, विश्वविद्यालय के कुलसचिव

डॉ. बी.आर. कंबोज ने बताया कि स्नातकोत्तर कार्यक्रमों में प्रवेश के लिए परीक्षा का आयोजन कोरोना महामारी

के चलते केंद्र व राज्य सरकार द्वारा जारी हिदायतों का पालन करते हुए किया जा रहा है।

परीक्षाओं पर पड़ रहा कोरोना का असर परीक्षा नियंत्रक डॉ. एस.के. पाहुजा ने बताया कि कोरोना महामारी के

चलते इसका सीधा असर परीक्षार्थियों की संख्या पर भी पड़ रहा है। इन परीक्षाओं के लिए कुल 3448 ने

विद्यार्थियों ने ऑनलाइन आवेदन किया था, जिनमें स्नातकोत्तर व पी.एच.डी. के कोर्स शामिल हैं। परीक्षा के

तीसरे चरण में बेसिक साइंस की पी.एच.डी. के लिए आयोजित प्रवेश परीक्षा में 880 उम्मीदवारों को शामिल

होना था, जबकि 543 उम्मीदवार ही शामिल हो पाए। केंद्र व राज्य सरकार की जारी हिदायतों को ध्यान में रखते

हुए इन परीक्षाओं को आयोजित करवाने के लिए चार परीक्षा केंद्र बनाए गए थे, जिनमें कृषि महाविद्यालय, कृषि

अभियांत्रिकी एवं तकनीकी महाविद्यालय, इंदिरा चक्रवर्ती गृह विज्ञान महाविद्यालय और मौलिक विज्ञान एवं

मानविकी महाविद्यालय शामिल हैं। इन चार केंद्रों पर 41 कमरे जिनमें हॉल भी शामिल हैं, निर्धारित किए गए थे

ताकि सामाजिक दूरी व सेनेटाइजेशन की पूरी तरह से पालना की जा सके। स्नातकोत्तर अधिष्ठाता प्रोफेसर

आशा ने बताया कि विश्वविद्यालय की ओर से जारी परीक्षा की तिथियों अनुसार 6 सितम्बर, 9 सितम्बर व 12

सितम्बर को तीन चरणों में परीक्षाएं संपन्न हो चुकी हैं। स्नातकोत्तर व पी.एच.डी. की परीक्षाओं का अंतिम चरण

16 सितम्बर को होगा।

रोहतक महर्षि दयानंद विश्वविद्यालय में हॉस्टल के विद्यार्थियों के लिए गाइडलान जारी

रोहतक महर्षि दयानंद विश्वविद्यालय (Maharishi Dayanand University) ने 15 सितंबर से शुरु होने वाले

फाइनल, टर्मिनल सेमेस्टर की परीक्षाओं (Examinations) में एमडीयू के हाॅस्टस में रहने वाले विद्यार्थियों के

लिए गाइडलाइन(Guideline) जारी की हैं। डीन एकेडमिक एफेयर्स प्रो. नीना सिंह ने बताया कि हाॅस्टल में

रहने वाले हर विद्यार्थी (Every student) को परीक्षा के दौरान हाॅस्टल में रहने के लिए अपने विभाग के अध्यक्ष,

निदेशक के माध्यम से अपनी रिक्वेस्ट सब्मिट करवानी होगी। परीक्षा के लिए हर हाॅस्टलर को अंडरटेकिंग देनी

होगी कि न तो वह और न ही उसके परिवार से कोई भी कोविड-19 से संक्रमित है। अगर किसी भी छात्र में

कोरोना के लक्षण पाए गए तो उसे तुरंत हाॅस्टल खाली करना होगा। हाॅस्टल मे रहने के दौरान भारत सरकार

एवं राज्य सरकार के सेल्फ क्वारंटाइन निर्देशों का विद्यार्थियों को पालन करना होगा। हाॅस्टल में रहने के दौरान

मेस नहीं चलेगी। विद्यार्थियों को अपने स्टे के दौरान विश्वविद्यालय द्वारा जारी दिशा-निर्देशों का पालन करना

होगा।

डिस्क्लेमर (अस्वीकरण) : इस आलेख में व्यक्त किए गए विचार लेखक के निजी विचार हैं. इस आलेख में दी गई किसी भी सूचना की सटीकता, संपूर्णता, व्यावहारिकता अथवा सच्चाई के प्रति ATAL HIND उत्तरदायी नहीं है. इस आलेख में सभी सूचनाएं ज्यों की त्यों प्रस्तुत की गई हैं. इस आलेख में दी गई कोई भी सूचना अथवा तथ्य अथवा व्यक्त किए गए विचार #ATALHIND के नहीं हैं, तथा atal hind उनके लिए किसी भी प्रकार से उत्तरदायी नहीं है.

अटल हिन्द से जुड़ने के लिए शुक्रिया। जनता के सहयोग से जनता का मीडिया बनाने के अभियान में कृपया हमारी आर्थिक मदद करें।

Related posts

दुष्यंत चैटाला ने कहा पीपली में किसानों पर हुए लाठीचार्ज की होनी चाहिए जांच 

admin

haryana यहां हड़ताल कर दी तो, दो दिन में पता चल लाएगा !

Sarvekash Aggarwal

गुरुग्राम के बाद अन्य जिलों में भी नपेंगे अधिकारी एनसीआर में जमकर हुआ रजिस्ट्रियों में फर्जीवाड़ा

admin

Leave a Comment

URL