Atal hind
राष्ट्रीय

कैथल जिले में दम तोड़ रही है मुख्यमंत्री परिवार समृद्धि योजना

व्यवस्था के अभाव में कैथल जिले में दम तोड़ रही है मुख्यमंत्री परिवार समृद्धि योजना

प्रशासन का दावा “अब तक 23 हजार परिवारों को किया जा चुका है पंजीकृत” लेकिन लोगों के कट रहे चक्कर पर चक्कर

कैथल, 19 फरवरी (कृष्ण प्रजापति): प्रदेश सरकार द्वारा शुरू की गई मुख्यमंत्री परिवार समृद्धि योजना कैथल जिले में व्यवस्था के अभाव में दम तोड़ती नजर आ रही है, हालांकि जिला प्रशासन का दावा है कि अब तक 23 हजार लोगों का पंजीकरण इस योजना में हो चुका है लेकिन आम जनता की माने तो उनको न केवल योजना के फार्म भरने के लिए चक्कर पर चक्कर काटने पड़ रहे हैं बल्कि मुफ्त का नाम देकर उनको गुमराह भी किया जा रहा है। सच्चाई ये है कि इस योजना का लाभ लेने के लिए प्रधानमंत्री जीवन ज्योति बीमा योजना, प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना, प्रधानमंत्री श्रम योगी मानधन योजना, प्रधानमंत्री किसान मानधन योजना, प्रधानमंत्री लघु व्यापारी योजना एवं प्रधानमंत्री फसल बीमा योजनाओं से जुड़ना जरूरी है, भविष्य में जिसमें कई स्कीमों की किश्त हमारे खाते से कटेगी, इन योजनाओं के अनुसार उनके खाते से पहले भी 50 से लेकर 200 रुपये तक की राशि कट भी रही है। इसके अलावा अटल सेवा केंद्र संचालक भी उनसे पैसे मांग रहे हैं। जिले के अधिकतर अटल सेवा केंद्रों में मुख्यमंत्री परिवार समृद्धि योजना की वेबसाइट ही ठीक से नहीं चल रही है और सरकार बड़े बड़े वायदे कर रही है कि मार्च तक आपके खाते में पैसे आ जाएंगे। सभी अटल सेवा केंद्रों में मौजूद संचालको की समस्या है कि दिन में साईट बंद रहती है अथवा ना के बराबर काम करती है, शाम के 5 बजे के बाद साइट चलती है, सरकारी अटल सेवा केंद्रों में 5 बजे के बाद कर्मचारियों की छुट्टी हो जाती है ऐसे में जनता को परेशान होना पड़ रहा है लेकिन जिला प्रशासन कुंभकर्णी नींद में सोया हुआ है। कुछ अटल सेवा केंद्र संचालकों का यह भी कहना है कि जनता के लिए इस प्रकार की योजनाओं का केंद्र संचालकों को कोई पैसा डीसी और अन्य अधिकारी लेने नहीं दे रहे और उनके द्वारा किए गए कार्यों का पैसा खातों में आता ही नहीं जिससे उनके मन में इस बात का भी डर है कि कहीं सरकार अटल सेवा केंद्र संचालकों के माध्यम से फ्री में काम करवा कर उनको बेकार के काम करवाने में लगी हुई है। पिछले दिनों फैमिली आईडी बनाने का कार्य, जाति आधारित सर्वे किया गया था, इसके अलावा अनेक ऐसे कार्य थे जो सरकार के आदेशों के चलते जिला प्रशासन द्वारा अटल सेवा केंद्र संचालकों से करवाए तो गए थे लेकिन उनकी एवज में बताया गया एक भी पैसा अधिकतर अटल सेवा केंद्र संचालकों के खाते में नहीं डाला गया। इसके साथ-साथ कई अटल सेवा केंद्र संचालकों ने बताया कि उनको कई कई महीनों की सैलरी भी नहीं मिली है जिससे उनको आर्थिक तंगी से भी गुजरना पड़ रहा है। उधर योजना के फॉर्म भरवाने आये लोगो ने बताया कि जिले के आला अधिकारी बड़े बड़े प्रेस नोट जारी करके और लाखों लोगों के पंजीकृत होने के सीएम के पास झूठे दावों की फाइलें भेज कर गुमराह करने में लगे हुए हैं व इस मामले में केवल अखबार की सुर्खियां बनकर झूठी वाहवाही लुटने में लगे हुए हैं। कई अटल सेवा केंद्र संचालको ने बताया कि पहली बात तो यह साइट नहीं चल रही दूसरी बात इस योजना में एक स्टार मार्क है कि जब परिवार के कम से कम 1 सदस्य का प्रधानमंत्री श्रम योगी योजना का कार्ड जरूर बनेगा जिसकी फीस 55 रुपये से लेकर 200 रुपये तक है जोकि उम्र के हिसाब से लगती है। एक तरफ तो सरकार व प्रशासन यह वायदे कर रहे हैं कि योजना फ्री है जबकि इस योजना के कार्ड बनाने के पैसे लगते हैं, इस बात का जिक्र न करके प्रशासन व सरकार जनता को गुमराह कर रहे हैं। सीएससी सेंटरों पर जनता से मनमर्जी के रेट लिए जा रहे हैं, किसी भी सीएससी सेंटर पर कार्रवाई नहीं हो रही है। इसके अलावा इस साइट में daughter-in-law पुत्रवधु का कोई ऑप्शन नहीं आता है। इस साइट पर आवेदन करते समय आवेदक के मोबाईल पर बार-बार ओटीपी जाता है, वह ऑप्शन गलत है क्योंकि काफी सारे लोगों ने वो मोबाईल नम्बर ही बदल लिए हैं जो उनके प्रधानमंत्री श्रम योजना आदि से जुड़े हुए हैं। दूसरा बैंक खाते कभी कभी मांग लेती है और कभी कभी नहीं मांगती।

बॉक्स- सभी अटल सेवा केन्द्रों पर मुफ्त करवाया जा रहा है पंजीकरण : उपायुक्त

उपायुुक्त सुजान सिंह ने कहा कि मुख्यमंत्री परिवार समृद्धि योजना हरियाणा सरकार की महत्वकांक्षी योजना है। इस योजना के तहत आर्थिक व सामाजिक सुरक्षा देने के उद्देश्यों को पूरा करने हेतु चलाई गई विभिन्न योजनाओं का लाभ उठाने के लिए हर पात्र परिवार को प्रतिवर्ष बैंक खाते में 6 हजार रुपये की राशि देने का प्रावधान है। जिला में अभी तक 23 हजार परिवारों को पंजीकृत किया जा चुका है। सभी अटल सेवा केंद्रों के माध्यम से पात्र व्यक्तियों को पंजीकरण किया जा रहा है। उन्होंने बताया कि मुख्यमंत्री परिवार समृद्धि योजना के तहत मिलने वाली राशि में से लाभार्थी परिवार के सदस्यों के प्रधानमंत्री जीवन ज्योति बीमा योजना, प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना, प्रधानमंत्री श्रम योगी मानधन योजना, प्रधानमंत्री किसान मानधन योजना, प्रधानमंत्री लघु व्यापारी योजना एवं प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना, पेंशन योजना का प्रीमियम जमा करवाने के बाद शेष राशि को भविष्य निधि में निवेश अथवा नगद भुगतान के लिए रखा जाएगा। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री परिवार समृद्घि योजना का लाभ लेने के लिए पात्र लोग अपने पास के अटल सेवा केन्द्रों पर परिवार के सदस्यों के आधार कार्ड, मोबाईल नम्बर, बैंक खातों की पासबुक जोकि आधार कार्ड से लिंक हो, को ले जाकर पंजीकरण करवाएं और मौके पर ही अपना परिवार पहचान पत्र और मानधन कार्ड बनवाएं। लाभार्थी अटल सेवा केन्द्र से बाहर निकलने से पहले अपने मोबाईल पर पंजीकरण से संबंधी एसएमएस देख लें। उन्होंने बताया कि इस योजना का लाभ लेने के लिए परिवार की कुल वार्षिक आय 1 लाख 80 हजार रूपये से कम तथा 5 एकड़ से कम कृषि भूमि होनी चाहिए। उन्होंने कहा कि जिला के सभी पात्र परिवारों को इस योजना से जोड़ा जाएगा। उपायुक्त सुजान सिंह ने बताया कि इस योजना के पंजीकरण के लिए संबंधित व्यक्ति से कोई फीस नही ली जाती। इस फीस का भुगतान हरियाणा सरकार द्वारा किया जा रहा है।

Related posts

विकास दुबे की गिरफ्तारी और एनकाउंटर,हैदराबाद में गैंग रेप के आरोपियों का भी एनकाउंटर

Sarvekash Aggarwal

गौरखधंधा, फरीदाबाद में पकड़ी गई नकली सेनीटाईजर की फैक्ट्री

बल्लबगढ़ में तस्करों ने गौरक्षकों पर चलाई गोली

Leave a Comment