Atal hind
कैथल टॉप न्यूज़ शिक्षा हरियाणा

कैथल – निजी स्कूल में चल रही थी क्लास  ग्रामीणों ने बनाई वीडियो, सोशल मीडिया पर हुआ वायरल, एक भी बच्चे के मुंह पर नहीं मिला मास्क !

कैथल जिला प्रशासन और सरकार के आदेशों को धत्ता बताते हुए खुले हुए हैं निजी स्कूल
ग्रामीणों ने बनाई वीडियो, सोशल मीडिया पर हुआ वायरल, एक भी बच्चे के मुंह पर नहीं मिला मास्क !
लॉक डाउन में प्रशासनिक अधिकारियों की लापरवाही हुई जगजाहिर
https://www.facebook.com/atalhinddainik/videos/663400627633889
कैथल, 08 सितंबर (कृष्ण प्रजापति): जिले के कौल गांव में स्थित एक निजी स्कूल द्वारा लॉकडाउन के दौरान सरकार व जिला प्रशासन के आदेशों की परवाह न करते हुए कक्षाएं लगाई जा रही हैं। कक्षाएं लगाने के दौरान न केवल सोशल डिस्टेंसिंग का कोई ध्यान नहीं रखा गया बल्कि ग्रामीणों द्वारा बनाई गई वीडियो में अधिकतर बच्चे बिना मास्क के देखे गए, एक भी छात्र के मुंह पर मास्क नहीं था। इस पूरे घटना की ग्रामीणों ने वीडियो बना ली और अपने मोबाइल में कैद कर लिया। ग्रामीणों का कहना है कि कौल में यह एक निजी स्कूल है जिसका वीडियो जब वे बना रहे थे तो न केवल छोटे-छोटे बच्चे बिना मास्क के पाए गए, बल्कि वीडियो बनाने पर स्कूल संचालक द्वारा उन्हें धमकाया भी गया। आपको बता दें कि करोना के चलते पूरे देश-प्रदेश में लॉकडाउन स्थिति के दौरान सभी शिक्षण संस्थान सरकार द्वारा बंद किए गए हैं और फिलहाल कोई भी शिक्षण संस्थान खोलने का सरकार और जिला प्रशासन द्वारा कोई आदेश नहीं दिया गया है लेकिन सरकार और प्रशासन के आदेशों को धत्ता बताकर निजी स्कूल संचालक सरेआम स्कूल खोलकर क्लासें लगा रहे हैं जिससे करोना के मरीज बढ़ने की आशंका ग्रामीणों ने जताई है।
उनका कहना है कि करोना के नाम पर किसानों के सम्मेलनों को रद्द करवाने की धमकी दी जा रही है, व्यापारियों की दुकानें बंद करवाने के फरमान जारी किए जा रहे हैं लेकिन दूसरी ओर निजी स्कूलों के संचालकों द्वारा सरेआम स्कूल खोले जाने पर जिला प्रशासन और सरकार जानबूझकर आंखें मूंदे हुए हैं।ग्रामीणों ने आरोप लगाते हुए कहा कि प्रशासन और सरकार के नुमाइंदों के इशारों के बिना कोई भी स्कूल संचालक इतना बड़ा गलत कदम नहीं उठा सकता इसलिए इस पूरे मामले की गहनता से जांच की जानी चाहिए। मामले में सरकार और जिला प्रशासन के आदेशों की अवहेलना करने वालों पर नकेल कसी जानी चाहिए। कोविड-19 के चलते प्रत्येक व्यक्ति के लिए मास्क पहनना अनिवार्य जिला प्रशासन द्वारा किया गया है, न पहनने पर चालान भी किए जा रहे हैं, सोशल डिस्टेंसिंग को लेकर भी पूरी दिशा निर्देश सरकार और जिला प्रशासन द्वारा दिए जा रहे हैं लेकिन अभी भी कई जगहों पर सोशल डिस्टेंसिंग और अन्य सावधानियों की अवहेलना की जा रही है, प्रशासन द्वारा इस मामले में कार्रवाई की जानी चाहिए। उधर इस बारे में स्कूल संचालक से संपर्क करने का प्रयास किया गया लेकिन स्कूल संचालकों से संपर्क नहीं हो पाया। वहीं वीडियो में स्कूल संचालक बच्चों के बैग में भी मास्क होने की बात कह रहे हैं और स्कूल में भी 200 मास्क पड़े होने की बात भी कह रहे हैं।

डिस्क्लेमर (अस्वीकरण) : इस आलेख में व्यक्त किए गए विचार लेखक के निजी विचार हैं. इस आलेख में दी गई किसी भी सूचना की सटीकता, संपूर्णता, व्यावहारिकता अथवा सच्चाई के प्रति ATAL HIND उत्तरदायी नहीं है. इस आलेख में सभी सूचनाएं ज्यों की त्यों प्रस्तुत की गई हैं. इस आलेख में दी गई कोई भी सूचना अथवा तथ्य अथवा व्यक्त किए गए विचार #ATALHIND के नहीं हैं, तथा atal hind उनके लिए किसी भी प्रकार से उत्तरदायी नहीं है.

अटल हिन्द से जुड़ने के लिए शुक्रिया। जनता के सहयोग से जनता का मीडिया बनाने के अभियान में कृपया हमारी आर्थिक मदद करें।

Related posts

सवाल है तो चुभेगा भी-दलित की बेटी या समाज की बेटी?

admin

नंगे नाच की बात कह कर मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने राजभवन को घेरने की धमकी दी।

Sarvekash Aggarwal

जाखल के कई गाँवों को   सिचाई विभाग की 45 वर्ष पुरानी समस्या का हुआ समाधान 

admin

Leave a Comment

URL