Atal hind
कैथल क्राइम टॉप न्यूज़ हरियाणा हेल्थ

कैथल में नर्स की बड़ी करतूत ,सरकारी अस्पताल कैथल के साथ साथ देश भगत यूनिवर्सिटी  मंडी गोबिंदगढ़ फतेहगढ़ साहिब में लगा रही थी हाजरी ,हुई टर्मिनेट 

कैथल में नर्स की बड़ी करतूत ,सरकारी अस्पताल कैथल के साथ साथ देश भगत यूनिवर्सिटी  मंडी गोबिंदगढ़ फतेहगढ़
साहिब में लगा रही थी हाजरी ,हुई टर्मिनेट
कैथल (अटल हिन्द /राजकुमार अग्रवाल )
Big handiwork of nurse in Kaithal, Desh Bhagat University Mandi Gobindgarh Fatehgarh along with Government Hospital Kaithal
Hajri was applying in Sahib, termite was done
कैथल लगातार विवादों का केंद्र बन रहे सरकारी अस्पताल कैथल में एक और बड़ी कार्यवाही सामने आई है। इसमें सीएमओ कैथल ओमप्रकाश ने आरटीआई कार्यकर्ता जयपाल रसूलपुर द्वारा की गई शिकायत पर कार्यवाही करते हुए सरकारी अस्पताल में लगी प्रियंका रानी (कम्युनिटी नर्स) को तुरंत प्रभाव से टर्मिनेट करने के आदेश जारी किए हैं। गौरतलब है कि लगभग पांच महीने पहले जयपाल ने सीएम विंडो में शिकायत दी थी कि कैथल के सरकारी अस्पताल में कार्यरत प्रियंका रानी कम्युनिटी नर्स एनएचएम (नेशनल हेल्थ मिशन) स्कीम के तहत जो आज से 3 वर्ष पूर्व मार्च 2018 में ड्यूटी पर लगी थी। इस नर्स पर तीन बड़ी संस्थाओं जिसमें दो प्राइवेट यूनिवर्सिटी महर्षि मारकंडेश्वर यूनिवर्सिटी मुल्लाना अंबाला तथा देश भगत यूनिवर्सिटी मंडी गोबिंदगढ़ फतेहगढ़ साहिब और सरकारी अस्पताल कैथल में फ्रॉड करना शामिल है के आरोप लगाए गए थे जो सही पाए गए हैं!

इसी संबध में  एसडीएम कैथल ने इसकी जांच की थी जिसमे अपनी टिप्पणी की थी कि प्रियंका रानी ने दो यूनिवर्सिटी में फर्जीवाड़ा किया है जिसमे उसने सरकारी अस्पताल में मार्च 2018 में ड्यूटी ज्वाइन करने के बाद लगातार   सरकारी अस्पताल कैथल के साथ साथ देश भगत यूनिवर्सिटी में परीक्षाओं में भी अपनी हाजरी लगाई थी और सरकारी पैसा वेतन के तौर पर क्लेम कर लिया था। जयपाल रसूलपुर ने यह भी बताया कि इस की नियुक्ति भी गलत तरीके से की गई थी क्योंकि प्रियंका रानी को कम्यूनिटी नर्स के पद पर नियुक्ति देते समय इसके प्राइवेट संस्था मुलाना का एक्सपीरियंस सर्टिफिकेट के बेस पर 2 अंक दे दिए थे जो एनएचएम की गाइडलाइंस की उल्लंघन है और साथ में हाईकोर्ट चंडीगढ़ के आदेशों की भी उलंघना है। इस पूरे मामले में कार्यवाही करते हुए ओमप्रकाश सिविल सर्जन कैथल ने तुरंत प्रभाव से 17 मार्च 2021 को प्रियंका रानी को एनएचएम बायलॉज के नियम 21 के तहत दोषी मानते हुए इसकी सेवाओं को समाप्त करने का टर्मिनेशन ऑर्डर जारी कर दिया है।
यह है पूरा मामला
इस नर्स ने अपने जीएनएम डिप्लोमा को पूरा करने के बाद एमएमयू मुल्लाना अंबाला में स्टाफ नर्स के पद पर नौकरी ज्वाइन की और लगातार दो साल मुलाना में नौकरी करने के साथ-साथ वह देश भगत यूनिवर्सिटी मंडी गोबिंदगढ़ फतेहगढ़ साहिब में पोस्ट बेसिक बीएससी नर्सिंग का रेगुलर कोर्स (सेशन 2015-17) भी करती रही और दोनों जगह हाजिरी लगाती रही। इतना ही नहीं सरकारी अस्पताल कैथल में नौकरी ज्वाइन करने के बाद भी देश भगत यूनिवर्सिटी में रेगुलर बी.एस.सी नसिंग की परीक्षाएं भी देती रही। इस बात की शिकायत जयपाल रसूलपुर ने जब इंडियन नसिंर्ग काउंसिल, नई दिल्ली के साथ-साथ हरियाणा सरकार को सीएम विंडो के माध्यम से की थी जिसमे इंडियन नर्सिंग काउंसिल ने इस पूरे मामले की जांच करके प्रियंका रानी को तीनों संस्थाओं में फर्जीवाड़ा करने का दोषी पाया और इसका नाम नर्सिंग रजिस्टर ऑफ हरियाणा से काटने के लिए हरियाणा नर्सिंग काउंसिल को लिखा था।

डिस्क्लेमर (अस्वीकरण) : इस आलेख में व्यक्त किए गए विचार लेखक के निजी विचार हैं. इस आलेख में दी गई किसी भी सूचना की सटीकता, संपूर्णता, व्यावहारिकता अथवा सच्चाई के प्रति ATAL HIND उत्तरदायी नहीं है. इस आलेख में सभी सूचनाएं ज्यों की त्यों प्रस्तुत की गई हैं. इस आलेख में दी गई कोई भी सूचना अथवा तथ्य अथवा व्यक्त किए गए विचार #ATALHIND के नहीं हैं, तथा atal hind उनके लिए किसी भी प्रकार से उत्तरदायी नहीं है.

अटल हिन्द से जुड़ने के लिए शुक्रिया। जनता के सहयोग से जनता का मीडिया बनाने के अभियान में कृपया हमारी आर्थिक मदद करें।

Related posts

हाट स्पाट  बनती Pataudi सब्जी की भीड़ से उड़े  होश  

कैथल में घी बनाने वाली फैक्ट्री में छापेमारी, फैक्ट्री से भारी मात्रा में घी, रिफाइंड और खाने के तेल के टीन बरामद

admin

मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने दी सासंद दीपेन्द्र हुड्डा को धमकी ,कहा राजनीति महंगी पड़ेगी 

admin

Leave a Comment

URL