Atal hind
कैथल क्राइम टॉप न्यूज़ हरियाणा

कैथल में  महिला ASI बबीता समेत 7 लोगों पर केस दर्ज,पुलिस कर्मचारियों पर रिश्वत और प्रताड़ित करने के आरोप

कैथल में  रमन कुमार खुदकुशी मामले में  महिला ASI बबीता समेत 7 लोगों पर केस दर्ज

kaithal (अटल हिन्द ब्यूरो/ कृष्ण प्रजापति)

महादेव कॉलोनी सिरटा रोड  निवासी रमन कुमार ने वीरवार को 13 पेज का सुसाइड नोट लिखने के बाद अपने ही घर पर फांसी

का फंदा लगा कर खुदकुशी कर ली।   मृतक रमन की मां की शिकायत पर महिला एएसआई समेत सात लोगों के खिलाफ केस दर्ज किया है।

मृतक रमन की मां ने बताया कि रमन की शादी 9 मार्च 2019 को कौल निवासी सीना के साथ हुई थी। शादी के बाद सीना के साथ

अनबन हो गई और उसका बेटा परेशान रहने लगा। इसके बाद एक जनवरी 2020 को सीना अपने मायके चली गई और पुलिस में

शिकायत दे दी।

संतोष ने बताया कि रमन को थाने में बुलाकर सीना के परिजनों और एएसआई बबीता ने पीटा और कार्रवाई ना करने का दबाव

देकर बबीता ने एक लाख रुपये भी ले लिये। इसके बाद सीना के घरवालों ने भी 15 लाख रुपये के लिए दबाव बनाना शुरु कर

दिया।

इसी वजह से रमन परेशान रहने लगा और उसने 13 पेज का सुसाईड नोट लिखकर फांसी का फंदा लगाकर खुदकुशी कर ली।

अमित कुमार, सिटी थाना प्रभारी ने बताया की अब पुलिस ने रमन की मां की शिकायत पर सात लोगों के खिलाफ केस दर्ज किया

है। जिसमें रमन की पत्नी सीना, ससुर धर्मपाल, लड़की के दो भाई निवासी कौल, लड़की की सभी सगी बुआ और सिटी थाने में

तैनात एएसआइ बबीता शामिल है।

ससुराल पक्ष, पत्नी, उनके बॉयफ्रेंड और महिला एएसआई की प्रताड़ना से आहत होकर युवक ने लगाई फांसी

महिला थाने की एएसआई को एक लाख की रिश्वत देने व थाने में पिटाई करने के मामले की हो रही है शहर में चर्चा !

 जिंदगी इम्तिहान लेती है लेकिन यहाँ तो इम्तिहान ने एक शख्स की जान ले ली। घर मे 13 पेज का सुसाइड नोट लिखकर युवक ने

अपनी जीवनलीला समाप्त कर ली। शहर की महादेव कॉलोनी में एक युवक द्वारा पत्नी, पत्नी के बॉयफ्रेंड, पुलिस और ससुराल पक्ष

द्वारा प्रताड़ित होकर सुसाइड कर लिया। मृतक के द्वारा लिखे गए सुसाइड नोट में युवक ने अपनी मौत का जिम्मेदार महिला थाना

में कार्यरत एक महिला पुलिस एएसआई बबीता को भी ठहराया है। आरोप हैं कि मृतक की शादी 10 मार्च 2019 को कौल निवासी

सीना नामक एक युवती से हुई थी, उसके बाद उसकी पत्नी के नाजायज संबंध कौल निवासी कई युवकों से हो गए थे जिसको लेकर

पति और पत्नी में अक्सर तकरार रहने लगी और मृतक की पत्नी ने मृतक के खिलाफ पुलिस को शिकायत दे दी। आरोप है कि थाने

में तैनात महिला पुलिसकर्मी बबीता ने भी उसको प्रताड़ित किया और परिजनों ने समझौते के नाम पर 15 लाख की की डिमांड की

थी, महिला पुलिसकर्मी एएसआई बबीता, पत्नी, पत्नी के ब्वॉयफ्रेंड और ससुराल पक्ष की प्रताड़ना से तंग आकर युवक ने घर में

फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। पुलिस ने मौके पर पहुंच कर जांच शुरू कर दी है। मृतक का शव कब्जे में लेकर जिला के

नागरिक अस्पताल में पोस्टमार्टम के लिए भेजा है और सुसाइड नोट के आधार पर जांच जारी है। घरेलू पति पत्नी के झगड़े के

मामले में पुलिस दोनों पक्षों की काउंसलिंग करवाती है और पंचायती तौर पर झगड़ा मिटाने की कोशिश करती है ताकि दोनों घर

बसे रहे परंतु इस मामले में पुलिस पर ही आरोप लगाए जा रहे हैं कि पुलिस की भूमिका संदेहपूर्ण है कि पुलिस पैसे के लालच में

मामले को बढ़ाती रही और न्याय की उम्मीद ना मिलने और पुलिस प्रताड़ना ना सहन कर पाने की वजह से एक युवक ने अपनी

जान दे दी। मृतक की मां ने बिलखते हुए कहा कि उसने अपना जवान बेटा खोया है, मामले की गंभीरता से जांच होनी चाहिए,

दोषियों पर कार्रवाई होनी चाहिए। अगर इसमें पुलिस दोषी पाई जाती है तो उस महिला पुलिसकर्मी पर सख्त कार्रवाई होनी

चाहिए।

बॉक्स- महिला एएसआई पर प्रताड़ना, रिश्वत के आरोपो ने बढ़ाई पुलिस की चिंता, महिला थाना सवालों के घेरे में

उधर महिला थाने की एएसआई बबीता पर नाजायज तौर पर प्रताड़ित करने और मामले में रिश्वत लेने के गंभीर आरोप लगने से

महिला थाना सवालों के घेरे में है और पुलिस कर्मियों की चिंता बढ़ सकती है। शहर में आज इस पूरे प्रकरण की चर्चा रही कि

महिला थाने का यह कोई पहला मामला नहीं है जिसमें पुलिस कर्मचारियों पर रिश्वत और प्रताड़ित करने के आरोप लगे हों, इससे

पहले भी अनेक युवक-युवतियों ने मामले में महिला पुलिस अधिकारियों की लापरवाही को लेकर आरोप लगाए हैं। आपको बता दें

कि रक्षाबंधन के अवसर पर कई वर्षों पहले मनोहर सरकार द्वारा महिला थाने खोले गए थे जिसका उद्देश्य महिलाओं की

समस्याओं को महिला पुलिस कर्मचारियों और अधिकारियों द्वारा नजदीक से सुनना व समझना रहा था लेकिन महिला पुलिस थाने

में रिश्वत के मामले उजागर होने के कारण अब महिला थाने सवालों के घेरे में है। यदि उक्त मृतक युवक के आरोपों में सच्चाई है

और इसकी गंभीरता से जांच होती है तो इस सच से पर्दा उठ जाएगा। इससे पहले भी अनेक आरोप केवल आरोप बनकर रह गए

थे। इस मामले की गहनता से जांच जरूरी है, कैथल महिला थाने की पड़ताल होनी जरूरी है, जिन पुलिस कर्मचारियों पर रिश्वत के

आरोप लगे हैं उनसे भी पूछताछ की जानी चाहिए।

डिस्क्लेमर (अस्वीकरण) : इस आलेख में व्यक्त किए गए विचार लेखक के निजी विचार हैं. इस आलेख में दी गई किसी भी सूचना की सटीकता, संपूर्णता, व्यावहारिकता अथवा सच्चाई के प्रति ATAL HIND उत्तरदायी नहीं है. इस आलेख में सभी सूचनाएं ज्यों की त्यों प्रस्तुत की गई हैं. इस आलेख में दी गई कोई भी सूचना अथवा तथ्य अथवा व्यक्त किए गए विचार #ATALHIND के नहीं हैं, तथा atal hind उनके लिए किसी भी प्रकार से उत्तरदायी नहीं है.

अटल हिन्द से जुड़ने के लिए शुक्रिया। जनता के सहयोग से जनता का मीडिया बनाने के अभियान में कृपया हमारी आर्थिक मदद करें।

Related posts

किसानों को सबक सिखाने की धमकी खट्टर को भारी पड़ेगी

admin

पहला राफेल विमान हिलाल अहमद लेकर आएंगे।

admin

हैवानियत की हदें पार, खून से लथपथ बच्ची पहुंची पड़ोसी के दरवाजे…

admin

Leave a Comment

URL