कैथल वालों को डरने की जरूरत नहीं पुलिस महानिदेशक प्रशांत अग्रवाल करेंगे निगरानी 

 

कैथल वालों को डरने की जरूरत नहीं पुलिस महानिदेशक प्रशांत अग्रवाल करेंगे निगरानी

कैथल, 26 मार्च (atal hind ) कोरोना वायरस को फैलने से रोकने के लिए प्रदेश स्तर पर दिन-रात निगरानी बनाई गई है। प्रत्येक जिला में इस महामारी को फैलने से रोकने के लिए किए गए प्रबंधों की निगरानी के लिए एक-एक उच्चाधिकारी की नियुक्ति की गई है, जोकि जिला के अधिकारियों से निरंतर बैठक और क्षेत्र में जाकर मोनिटरिंग कर रहे हैं।

जिला कैथल में हरियाणा के अपराध शाखा के पुलिस महानिदेशक प्रशांत अग्रवाल को यह जिम्मेदारी सौंपी गई है। डीजीपी अग्रवाल ने जिला उपायुक्त सुजान सिंह, पुलिस अधीक्षक शशांक कुमार सावन तथा अन्य उच्चाधिकारियों से बैठक लेकर जिला में अब तक किए गए कार्यों की समीक्षा की। इससे पहले हरियाणा की मुख्य सचिव केसनी आनंद अरोड़ा ने वीडियो कांफ्रैंस के माध्यम से जिला में नियुक्त किए गए उच्चाधिकारियों, आयुक्तों, उपायुक्तों से कोरोना वायरस की स्थिति के बारे में और तमाम प्रशासनिक इंतजामों के बारे में विस्तार से चर्चा की।

डीजीपी क्राईम प्रशांत अग्रवाल ने कहा कि पुलिस विभाग जिला में बनाए गए कंट्रोल रूम पर शिफ्ट वाईज पुलिस विभाग, स्वास्थ्य विभाग, प्रशासनिक कर्मचारी की नियुक्ति करें और कंट्रोल रूम में आने वाले सभी कॉल्स की डिटेल रखें तथा कॉल करने वाले व्यक्ति को संबंधित लाभ देने के बाद पूछना भी सुनिश्चित करें। सभी डीएसपी रैंक के अधिकारी निरंतर क्षेत्र में गस्त करत रहें। उन्होंने कहा कि जरूरी सामान को लाने वाले बड़े वाहन व अन्य वाहनों को सामान पहुंचाने के बाद वापिस आते हैं तो उन्हें नही रोका जाए, ताकि आवक निरंतर जारी रहे। कोरोना वायरस को लेकर जिला में जितने भी व्यक्ति होम क्वायरनटाईन हैं वह निश्चित अवधि तक घरों से बाहर नही निकलने चाहिए, ऐसा अगर कोई करता है तो उसके खिलाफ आवश्यक कार्रवाई अमल में लाई जाए। सभी संबंधित अधिकारी निरंतर क्षेत्र में जाकर सुनिश्चित करें कि लोगों को जरूरी वस्तुओं की कोई कमी नही रहे। स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी कोरोना से संबंधित रिपोर्ट हर रोज समयानुसार अपलोड करना सुनिश्चित करें और यह भी देखें कि रिपोर्ट बिल्कुल दुरूस्त हो। सभी संबंधित उपमंडलाधीश व अन्य उच्चाधिकारी अपनी डियूटी का निर्वहन करते हुए निरंतर क्षेत्र में रहकर निगरानी करें और आम जन को भी जागरूक करते रहें कि सोशल डिस्टैंस यानि एक दूसरे से उचित दूरी बनाकर रखें, बेवजह घरों से बाहर नही निकलें।

इस मौके पर उपायुक्त सुजान सिंह ने कहा कि जिला में कोरोना वायरस महामारी को फैलने से रोकने के लिए कदम उठाए गए हैं। निरंतर शहर में सार्वजनिक स्थानों के साथ-साथ प्रत्येक वार्डों में ब्लीचिंग स्पे्र किया जा रहा है। शहर में राशन व दवाईयों की दुकानों खुली हैं और उन्हें हिदायत दी गई है कि अपने ग्राहकों को उचित दूरी पर खड़े करने के लिए सांकेतिक चिन्ह बनाएं, ताकि लोग एक-एक करके सामान ले सकें। ऐसे लोगों का भी चयन कर लिया गया है जो रोजाना कमाकर खाने पर आश्रित है या झुग्गी-झोपडिय़ों में रहते हैं। इन सभी को प्रत्येक सप्ताह राशन की किट बनाकर दी जाएगी, ताकि सभी अपना गुजर-बसर कर सकें। कोई भी जिला वासी जिला की हैल्प लाईन नंबर 01746-224240 तथा 98963-17010 व 100 तथा 108 पर संपर्क कर सकते हैं। इस अवसर पर नगराधीश सुरेश राविश, डॉ. नीरज मंगला, डीआईओ दीपक खुराना मौजूद रहे।

 

बॉक्स:

उपायुक्त सुजान सिंह ने कहा कि जिला में कोरोना वायरस को फैलने से रोकने के लिए स्वास्थ्य विभाग के माध्यम से इंतजाम किए गए हैं। जिला में 127 बैड के आईसोलेशन वार्ड बनाए गए हैं, 11 वैल्टीनेटर की व्यवस्था की गई है। इसी प्रकार सिग्नस व शाह अस्पताल में 17 आईसीयू बैड भी रिजर्व किए गए हैं। नागरिक अस्पताल में पीपीई किट्स, एन-95 मास्क, ट्रिपल लेयर, सर्जिकल मास्क, ब्लीचिंग पाऊडर, गलब्ज आदि पर्याप्त मात्रा में उपलब्ध हैं। इसी प्रकार जिला में क्वायरनटाईन के लिए 515 बैड की व्यवस्था की गई है। जिला में अभी तक कोरोना वायरस का कोई भी मामला नही है।

 

बाक्स:

पुलिस अधीक्षक शशांक कुमार ने बताया कि गुहला में विदेश से आए हुडा पार्ट-2 निवासरी सुनील गोयल को 15 मार्च से 2 अप्रैल तक होम आईसोलेशन में रखा गया था, परंतू उसने होम आईसोलेशन को तोड़कर सरकारी आदेशों की अवहेलना की है। इस बारे में एसएमओ गुहला संजीव गोयल ने शिकायत दर्ज करवाई थी। नियमानुसार कार्रवाई करते हुए उक्त व्यक्ति के खिलाफ आईपीसी की धारा 188, 270 तथा 271 के तहत मामला दर्ज कर लिया गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *