Atal hind
कैथल टॉप न्यूज़ हरियाणा

कैथल संघ द्वारा एक कदम आगे सामुहिक विवाह करवा कर जनमानस  बढ़ाया 

कैथल संघ द्वारा एक कदम आगे सामुहिक विवाह करवा कर जनमानस  बढ़ाया
राज्यमंत्री कमलेश ढांडा ने सामुहिक विवाह समारोह में नव दंपत्तियों को दिया आशीर्वाद, 15 कन्याओं को 11-
11 हजार रुपए दिए कन्यादान के रूप में, सेवा संघ संस्था को 2 लाख रुपये देने की घोषणा
KAITHAL NEWS, 4 अप्रैल (ATAL HIND   ) हरियाणा महिला एवं बाल विकास राज्य मंत्री कमलेश ढांडा ने कहा कि सेवा संघ संस्था द्वारा जरूरतमंद कन्याओं की सामुहिक शादियां करके पुनीत कार्य किया जा रहा है। यह संस्था अब तक 250 से अधिक जरूरतमंद कन्याओं के हाथ पीले करवा चुकी है, जो वर्तमान समय में सुखी वैवाहिक जीवन व्यतीत कर रहे हैं। हरियाणा सरकार द्वारा बेटियों के मान-सम्मान के लिए अनेकों योजनाएं चलाई जा रही है। आपकी बेटी-हमारी बेटी के तहत बेटी के जन्म पर आर्थिक मदद दी जा रही है।

राज्यमंत्री कमलेश ढांडा पंजाबी सेवा सदन में सेवा संघ द्वारा 14वें सामुहिक विवाह समारोह में बतौर मुख्यातिथि बोल रही थी। इस अवसर पर राज्यमंत्री ने प्रत्येक कन्याओं को 11-11 हजार रुपए कन्यादान के रूप में तथा संस्था को सेवा कार्य करने के लिए 2 लाख रुपये देने की घोषणा की। इस मौके पर विधायक लीला राम, दिव्यांग जन आयुक्त राजकुमार मक्कड़, पीएनबी के डीजीएम के एल कुकरेजा, संस्था के प्रधान डॉ. एम.एस. शाह, संस्थापक एवं महासचिव शिव शंकर पाहवा सहित एक-एक विवाह का खर्च वहन करने वाले दानियों में अरविंद चावला, संजय ग्रोवर, सतीश सोनी, भूपेंद्र मेहंदी रत्ता, भारत खुराना मौजूद रहे।

राज्यमंत्री ने कहा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पानीपत की धरती से बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ अभियान शुरू किया, जिसके बाद लोगों की सोच में बदलाव आया है और लिंगानुपात में अपेक्षाकृत सुधार हुआ है। उन्होंने कहा कि बेटियां 2 घरों में उजाला लाती हैं और तीसरी पीढ़ी में संस्कार निर्माण का दायित्व निभाती हैं। उन्होंने वर-वधु से आह्वïान किया कि गृहस्थ जीवन मे गाड़ी के 2 पहिए की भांति चले ओर एक दूसरे का पूरा मान-सम्मान करें। मुख्यमंत्री मनोहर लाल प्रदेश में बेटियों के लिए अनेकों योजनाएं लागू कर रहे हैं, जिससे प्रदेश की बेटियों का मान बढ़ा है। बजट सत्र में हर वर्ष एक लाख जरूरतमंद परिवारों को गरीबी के दायरे से बाहर लाने का संकल्प लिया है। यह संकल्प समाज के एक बड़े वर्ग के उत्थान में मील का पत्थर साबित होगा। ऐसा प्रयास प्रदेश के इतिहास में कभी नहीं हुआ।

उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री विवाह शगुन योजना को लेकर भी विभाग को निर्देश दे दिए हैं कि इस योजना के लाभार्थियों को शादी से पहले तक 51 हजार रूपए की राशि देना सुनिश्चित करें। समाज सेवा के दायरे में जरूरतमंद परिवारों के उत्थान के लिए सरकार के साथ-साथ सामाजिक, धार्मिक संगठनों के प्रयास प्रशंसनीय है। जरूरतमंद परिवार की बेटियों के गृहस्थ जीवन की शुरूआत में सहयोग पुण्य का कार्य है। उन्होंने कहा कि सामूहिक विवाह अभियान समाज के भगीरथ बंधुओ द्वारा समाज हित में एक सार्थक सोच व अहम कदम है। सामूहिक विवाह मात्र एक विवाह का आयोजन भर नहीं हैं अपितु इसके प्रभाव व समाज हित में लाभ बड़े दूरगामी हैं।
विधायक लीला राम ने नव दंपतियों को आशीर्वाद देते हुए जहां उनके सुखद गृहस्थ जीवन की कामना की, वहीं सेवा संघ संस्था के सेवा प्रकल्पों में सहयोग के रूप में 21 हजार रुपये देने की घोषणा की। उन्होंने कहा कि बेटियां भी घर का चिराग रोशन रखने में अहम भूमिका निभाती है। उन्होंने यह भी कहा कि जब बेटी विदा होती है तो उनके अभिभावकों के आंखों के कोर गीले होते हैं। यह इस बात का प्रतीक है कि माता-पिता के लिए बेटों और बेटियों में कोई अंतर नही होता है। दिव्यांग जन आयुक्त राजकुमार मक्कड़ ने कहा कि किसी जरूरतमंद की सेवा करना प्रभू की सच्ची अराधना है और यह संस्था पिछले 41 सालों से इस कार्य को निरंतर कर रही है। समाज की सच्ची शक्ति दूसरों की भलाई करना है। पीएनबी के डीजीएम के एल कुकरेजा ने भी संस्था को 21 हजार रुपये की राशि देने की घोषणा करते हुए कहा कि पिछले 4 दशक से सेवा संघ संस्था का एक ही उद्देश्य रहा है कि ऐसे व्यक्तियों की मदद की जाए, जो बदले में उन्हें कुछ नही दे सकते।
इस मौके पर राज्यमंत्री ने सभी दानियों व विशिष्टï अतिथियों को स्मृति चिन्ह सम्मानित किया। संस्था द्वारा राज्यमंत्री कमलेश ढांडा, विधायक लीला राम, दिव्यांग जन आयुक्त राजकुमार मक्कड़ को भी स्मृति चिन्ह भेंट कर सम्मानित किया।  इस अवसर पर डॉ. एम.एस शाह, शिव शंकर पाहवा, सुभाष मित्तल,जनरैल सिंह, प्रकाश नारंग, चंद्र मलिक, अशोक भारती, आईडी अरोड़ा, महेंद्र खन्ना, अरविंद चावला, सुभाष कथुरिया, मदन खुराना, नरेश कालड़ा, डीडी सिंगला, डॉ. संजीव थरेजा, अरविंद कालड़ा, भूपेंद्र मेहंदीरत्ता इत्यादि मौजूद रहे।

डिस्क्लेमर (अस्वीकरण) : इस आलेख में व्यक्त किए गए विचार लेखक के निजी विचार हैं. इस आलेख में दी गई किसी भी सूचना की सटीकता, संपूर्णता, व्यावहारिकता अथवा सच्चाई के प्रति ATAL HIND उत्तरदायी नहीं है. इस आलेख में सभी सूचनाएं ज्यों की त्यों प्रस्तुत की गई हैं. इस आलेख में दी गई कोई भी सूचना अथवा तथ्य अथवा व्यक्त किए गए विचार #ATALHIND के नहीं हैं, तथा atal hind उनके लिए किसी भी प्रकार से उत्तरदायी नहीं है.

अटल हिन्द से जुड़ने के लिए शुक्रिया। जनता के सहयोग से जनता का मीडिया बनाने के अभियान में कृपया हमारी आर्थिक मदद करें।

Related posts

अनिल विज ने दिखाई कलम की ताकत  , कहा अगर इस सिस्टम को शुरू भी करना है तो इसे टॉप से करो।

Sarvekash Aggarwal

हरियाणा में गृहमंत्री और हरियाणा मुख्य सचिव शराब घोटाले की जाँच को लेकर आमने -सामने 

admin

चीन पर तीसरी डिजिटल स्ट्राइक, PUBG सहित 118 ऐप को किया बैन

admin

Leave a Comment

URL