Atal hind
कैथल क्राइम टॉप न्यूज़ हरियाणा

कैथल सीआईए-टू पुलिस  ने ड्रग स्मगलिंग रैकेट का भंडाफोड़ करके एक महिला सहित 3 आरोपी गिरफतार किये

कैथल सीआईए-टू पुलिस  ने ड्रग स्मगलिंग रैकेट का भंडाफोड़ करके एक महिला सहित 3 आरोपी गिरफतार किये
करीब 18 लाख रुपए मूल्य की 2 किलो 25 ग्राम स्मैक बरामद, तस्करी में प्रयुक्त स्वीफ्ट डिजायर गाड़ी जब्त,
मुख्य नशा स्पलायर की गिरफ्तारी के लिए गिरोह सरगना 4 दिन के पुलिस रिमांड पर
KAITHAL NEWS, 25 मार्च (अटल हिन्द/राजकुमार अग्रवाल  ) युवा वर्ग को नशा दलदल की गर्त से बचाने के लिए पुलिस अधीक्षक लोकेंद्र सिंह के कुशल मार्गदर्शन तहत मादक पदार्थ तस्करों की धरपकड़ के लिए चलाई जा रही मुहीम दौरान सीआईए-टू (POLICE)पुलिस( CIA-2)द्वारा उल्लेखनीय सफलता हासिल करते हुए इंटरस्टेट ड्रग स्मगलिंग रैकेट का भंडाफोड़ करके एक महिला सहित 3 आरोपी गिरफतार कर लिए गये। जिनके कब्जे से करीब 18 लाख रुपए मूल्य की 2 किलो 25 ग्राम स्मैक बरामद बरामद करके तस्करी में प्रयुक्त की जा रही स्वीफ्ट डिजायर गाड़ी जब्त कर ली गई। तीनों आरोपी 25 मार्च को अदालत में पेश कर दिए गये, जहां से महिला सहित 2 आरोपियों को न्यायालय के आदेशानुसार न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया, जबकि गिरोह के सरगना का मध्य प्रदेश के निमच निवासी मुख्य नशा स्पलायर की गिरफतारी के लिए अदालत से दिनांक 29 मार्च तक 4 दिन का पुलिस रिमांड हासिल किया गया है।

सीआईए-टू परिसर में आयोजित प्रैसवार्ता के दौरान डीएसपी कलायत सुनील कुमार ने बताया कि पंजाब के बॉर्डर से सटे कई गांव, कस्बों तथा आसपास के क्षेत्र में काफी युवक नशे की लत के शिकार है। जिसके दृष्टिगत युवा वर्ग को नशे की दलदल से बचाने के लिए पिछले काफी समय से पुलिस अधीक्षक लोकेंद्र सिंह के आदेशानुसार पुलिस द्वारा मादक पदार्थ तस्करों की धरपकड़ के लिए निरंतर मुहीम चलाई जा रही है। इसी अभियान की कड़ी अंतर्गत सीआईए-टू प्रभारी इंस्पेक्टर सोमबीर की अगुवाई में एएसआई दलशेर सिंह, एसआई रणजीत सिंह, नत्थु राम, जयकरण सिंह, एचसी कमलजीत सिंह, लखविन्द्र सिंह, सिपाही सुनील कुमार तथा लेडी कांस्टेबल प्रियकां की टीम सरकारी गाडी पर रजबाह पुल नजदीक सीएचसी जीन्द रोड किठाना पहुंचे। जहां पर उन्हें पुलिस सहयोगी सुत्रों से गुप्त जानकारी मिली कि राजस्थान व मध्य प्रदेश से स्मैक खरीदकर हरियाणा-पंजाब में तस्करी करने वाले गिरोह में एक महिला सहित 3 सदस्य स्मैक तस्करी करके अच्छे पैसे कमाकर नौजवान लडकों का भविष्य बर्बाद कर रहा है। जो कुछ देर बाद अपनी गाडी में नशीला पदार्थ स्मैक लेकर किठाना होते हुए चीका जाने वाले है। पुलिस द्वारा सजगता व मुस्तैदी का परिचय देकर सरकारी गाडी बती बंद करके गाडी का छिपाव करते हुए जीन्द की तरफ से किठाना की तरफ आने वाले सन्दिग्ध गाडीयों की निगरानी शुरु की गई । कुछ समय बाद जीन्द से किठाना की तरफ आ रही संदिगध स्वीफ्ट डिजायर गाडी चालक को पुलिस द्वारा गाडी रोकने का इशारा किया तोचालक पुलिस पार्टी को देखकर गाडी को जीन्द की तरफ वापिस मोडनें लगा। पुलिस ने गाडी को घेराबंदी करके रुकवाने का प्रयास किया तोचालक गाडी को भगाने की कोशिश करने लगा, जिसके दौरान पुलिस द्वारा गाडी की खिडक़ी खुलवाने की कौशिश की गई, परंतु ड्राईवर ने गाड़ी के शीशे व खिड़कियों को लोक करके गाड़ी भगाने लगा। सहायक उपनिरिक्षक दलशेर सिंह द्वारा बहादूरी व सूझबूझ का परिचय देकर मजबूरी वंश साथी कर्मचारियो की साहयता से गाड़ी के ड्राईवर साईड के दोनो शीशों को तोडकर गाड़ी को खुलवाया। इसके दौरान पुलिस द्वारा कंडक्टर सीट पर बैठे लडक़े विरेन्द्र उर्फ लाडी पुत्र कुलवन्त सिंह निवासी रागंडा मौहल्ला सफीदों, गाड़ी की पिछली सीट पर बैठी महिला गुरप्रीत कौर उर्फ गोपी पत्नी तेग सिंह निवासी सलेमपुर तथा गाडी चालक गोपाल सिंह उर्फ गोपी उर्फ गोपाला पुत्र मुखत्यार सिंह निवासी खरकां को काबु कर लिया। गाडी में नशीला पदार्थ के शक तहत पुलिस द्वारा सुचना देकर कार्यकारी मैजिस्ट्रेट श्री रोशन लाल ईटीओ कैथल को तथ्य बतलाकर मौका पर पहुंचने बारे प्रार्थना की गई। जो शाम करीब 08-02 बजे अपने स्टाफ सहीत सरकारी गाडी में मौका पर हाजिर आए । नियमानुसार कार्रवाई तहत ली गई तलाशी के दौरान गाड़ी  में ड्राईवर सीट के निचे एक प्लास्टिक पारदर्शी पोलिथीन में नशीला पदार्थ स्मैक मिली जिसका वजन 2 किलो 85 ग्राम हुआ। थाना राजौंद में मामला दर्ज करके तीनों आरोपियों को मौके पर पहुंचे सीआईए-टू पुलिस के एएसआई प्रदीप कुमार द्वारा एनडीपीएस एक्ट तहत गिरफतार कर लिया गया। बरामद किए गये नशे का अनुमानित मूल्य करीब 18 लाख रुपए आंका जा रहा है। आरोपी गोपाल ने कबूला कि वह निमच एमपी क्षेत्र से स्मैक खरीद कर गुहला-चीका व आसपास क्षेत्र तथा पंजाब क्षेत्र में स्पलाई करता था, तथा तस्करी के समय अपनी महिला साथी को पुलिस की आंखों में धूल झोंकने के लिए अपने साथ रखता था, कि रास्ते में पुलिस को लगे की वह कहीं पर परिवार सहित जा रहा है, ताकी पुलिस गंभीरता पूूर्वक जांच ना करे। तीनों आरोपी 25 मार्च को अदालत में पेश कर दिए गये, जहां से आरोपी विरेंद्र व गुरप्रीत कौर को न्यायालय के आदेशानुसार न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया, जबकि आरोपी गोपाल का मुख्य नशा स्पलायर की गिरफ्तारी सहित व्यापक पूछताछ हेतू अदालत से 4 दिन का पुलिस रिमांड हासिल किया गया है।

डिस्क्लेमर (अस्वीकरण) : इस आलेख में व्यक्त किए गए विचार लेखक के निजी विचार हैं. इस आलेख में दी गई किसी भी सूचना की सटीकता, संपूर्णता, व्यावहारिकता अथवा सच्चाई के प्रति ATAL HIND उत्तरदायी नहीं है. इस आलेख में सभी सूचनाएं ज्यों की त्यों प्रस्तुत की गई हैं. इस आलेख में दी गई कोई भी सूचना अथवा तथ्य अथवा व्यक्त किए गए विचार #ATALHIND के नहीं हैं, तथा atal hind उनके लिए किसी भी प्रकार से उत्तरदायी नहीं है.

अटल हिन्द से जुड़ने के लिए शुक्रिया। जनता के सहयोग से जनता का मीडिया बनाने के अभियान में कृपया हमारी आर्थिक मदद करें।

Related posts

कैथल में डॉक्टरों  ने 40 मिनट के ऑपरेशन में वृद्ध के पेट से निकाली 2215 पथरी, गिनती करने में लग गए 70 मिनट

admin

चरखी दादरी- सीएम फ्लाइंग की कोर्ट परिसर में छापेमारी।

admin

हरियाणा में बीजेपी के लिए हालात नाजुक,इसलिए प्रधानगी सौंपने में हो रही है देरी ?

Sarvekash Aggarwal

Leave a Comment

URL