कैथल से लीला राम, पुंडरी से एडवोकेट वेदपाल, गुहला से रवि तारांवाली व कलायत से कमलेश ढांडा होंगी भाजपा प्रत्याशी

कैथल से लीला राम, पुंडरी से एडवोकेट वेदपाल,
गुहला से रवि तारांवाली व कलायत से कमलेश ढांडा होंगी भाजपा प्रत्याशी
टिकटों की घोषणा होते ही कहीं खुशी कहीं गम वाला माहौल
टिकट से वंचित रहे नेताओं ने बुलाई अपने अपने कार्यकर्ताओं की बैठक
कैथल, 30 सितंबर (कृष्ण प्रजापति): पिछले कई दिनों से भाजपा प्रत्याशियों की टिकट घोषित करने की अटकलों को लेकर जहां आम जनता में उत्सुकता बढ़ी हुई थी और भाजपा टिकटों के वितरण में देरी कर रही थी, उसके बाद भाजपा टिकटार्थियों में भी खलबली मची हुई थी और टिकट पाने की दौड़ में नेताओं द्वारा चंडीगढ़ और दिल्ली दरबार में हाजरियों का दौर जारी था। आज शाम 4:30 बजे के करीब भारतीय जनता पार्टी ने 78 सीटों पर अपने उम्मीदवारों की घोषणा की जिसके बाद जिले की चारों विधानसभाओं में पहली सूची में नाम घोषित होने के बाद भाजपा कार्यकर्ताओं में जहां खुशी का माहौल था वहीं टिकट कटने वाले भाजपा नेताओं ने अपने-अपने कार्यकर्ताओं की बैठक भी बुलाई है। भारतीय जनता पार्टी की कैथल जिले में चार विधानसभाओं से टिकट मिलने से कार्यकर्ताओं में खुशी का माहौल देखा गया और टिकट पाने वाले नेताओं को रंग-गुलाल लगाकर खुशी का इजहार किया गया। कैथल विधानसभा सीट से पूर्व विधायक लीलाराम गुर्जर को टिकट दी गई तो कलायत विधानसभा से पूर्व कैबिनेट मंत्री रहे चौ० नरसिंह ढांडा की पत्नी और भाजपा प्रदेश कार्यकारिणी सदस्य कमलेश ढांडा को प्रत्याशी बनाया गया, वहीं रिजर्व सीट गुहला से जिला पार्षद रवि तारावाली (बाजीगर) को भाजपा ने अपना प्रत्याशी बनाया। पूंडरी विधानसभा से भाजपा प्रदेश महामंत्री एडवोकेट वेदपाल को भाजपा ने अपना प्रत्याशी बनाया है।
बॉक्स– कैथल से उम्मीदवार लीला राम गुर्जर
कैथल जिले के छोटे से गांव उझाना के रहने वाले लीलाराम इनेलो पार्टी से 2000 में भाजपा-इनेलो के सांझा उम्मीदवार के तौर पर चुनाव जीतकर विधानसभा में गए थे। चुनाव में इनेलो व भाजपा के संयुक्त उम्मीदवार लीलाराम ने चुनाव लड़ा और आजाद उम्मीदवार धर्मपाल को 17957 वोटों के अंतर से मात देते हुए विधानसभा में दस्तक दी थी।  28 अगस्त 2014 को कैथल के पूर्व विधायक एवं इनेलो के प्रदेश उपाध्यक्ष लीला राम गुर्जर हजारों समर्थकों के साथ इनेलो छोड़कर भाजपा में शामिल हो गए थे। केंद्रीय मंत्री कृष्णपाल गुर्जर और पूर्व अध्यक्ष प्रो. गणेशीलाल ने पार्टी मुख्यालय में उन्हें पार्टी में शामिल कराया था।
लीला राम गुर्जर का जन्म कैथल विधानसभा के उझाना गांव में 20 अप्रैल 1961 को हुआ था। इन्होंने राजनीतिक साईंस में मास्टर डिग्री की हुई है।
बॉक्स– गुहला विधानसभा से प्रत्याशी रवि तारांवाली
2019 के विधानसभा चुनावों के लिए भाजपा प्रत्याशी बने रवि तारांवाली के सम्बंध में गुहला हल्के के राजनीतिक विश्लेषक अवतार कम्बोज द्वारा वर्ष 2015  में लिखी गई पोस्ट के अनुसार कैथल जिला परिषद के वार्ड नम्बर 17 से जिला पार्षद रवि तारांवली, आज किसी पहचान के मोहताज नहीं है, जिला परिषद चुनाव में पूर्व संसदीय सचिव दिल्लू राम के पुत्र ज्ञान सिंह को हराकर रवि ने हल्का गुहला के बड़े बड़े राजनीतिक पंडितों को दांतों तले उंगली दबाने को मजबूर कर दिया । इस जीत से रवि ने जता दिया कि जिला परिषद सदस्य बनना उनकी मंजिल नहीं है, अभी तो सफर की शुरूआत  हुई है। अगर हम रवि के पारिवारिक माहौल की बात करें तो राजनीति उन्हें  विरासत में मिली है, रवि की माता जी सीवन ब्लाक समिति की चेयरपर्सन रह चुकी हैं। रवि के पिता सनता राम का भी राजनीतिक क्षेत्र में अपना एक मुकाम है, जिसका भरपूर लाभ रवि को अपना राजनीतिक करियर आगे बढाने में मिलेगा।
वहीं राजनीतिक पंडितों का मानना है कि रवि में हल्का गुहला की कमान संभालने का हुनर तो है, मगर किसी बड़े पेड़ के नीचे छोटा पौधा कभी भी फल फूल नहीं सकता। रवि को आगे बढ़ने के लिए अपनी स्वतंत्रत छवि बनानी होगी।
बॉक्स– पुंडरी से भाजपा उम्मीदवार एडवोकेट वेदपाल
पुंडरी से विधानसभा चुनाव 2019 के भाजपा प्रत्याशी एडवोकेट वेदपाल वर्तमान में भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश महामंत्री हैं और करनाल जिले के गांव रसूलपुर खुर्द के रहने वाले हैं। उन्होंने बी.कॉम, एम.ए. पब्लिक एडमिनिस्ट्रेशन और एलएलबी की पढ़ाई की हुई है। विद्यार्थी जीवन से ही उन्होंने अपने राजनीतिक कैरियर की शुरुआत की थी और 1988 में एबीवीपी (अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद) को ज्वाइन करके छात्रों की आवाज उठाने का काम किया। उसके बाद उन्होंने वकालत शुरू की, जिसमें जिला बार एसोसिएशन के संयुक्त सचिव पद पर रहे, उसके बाद सचिव पद पर भी रहे। वर्ष 1995 में उन्होंने भारतीय जनता पार्टी को ज्वाइन किया और जिला महामंत्री पद पर रहे। उसके बाद वे पार्टी में प्रदेश सचिव, प्रदेश महासचिव युवा मोर्चा भी रहे। पार्टी में कार्य करने के दौरान उन्हें भाजपा किसान मोर्चा के राष्ट्रीय कार्यकारिणी सदस्य का पद भी मिला। इसके साथ-साथ वे सरदार वल्लभ भाई पटेल संगठन के जिला संयोजक भी रहे। वर्तमान में भाजपा के प्रदेश महामंत्री पद पर कार्यरत एडवोकेट वेदपाल पुंडरी से भाजपा प्रत्याशी बने हैं और उनके टिकट मिलने पर भाजपा कार्यकर्ताओं में खुशी का माहौल है।
बॉक्स– कलायत सीट से भाजपा उम्मीदवार कमलेश ढांडा
भारतीय जनता पार्टी में प्रदेश कार्यकारिणी सदस्य और पूर्व मंत्री चौधरी नरसिंह ढांडा की पत्नी कमलेश ढांडा विधानसभा चुनाव 2019 में कलायत से भाजपा उम्मीदवार होंगी। जहां पिछले काफी सालों से कमलेश ढांडा व उनके पुत्र तुषार ढांडा भारतीय जनता पार्टी में कार्य कर रहे हैं। उनके पति नरसिंह ढांडा तत्कालीन पाई विधानसभा से दो बार विधानसभा में गए और कैबिनेट मंत्री रहे हैं। वर्ष 1982 के चुनाव में लोकदल की टिकट पर चुनाव लड़े नरसिंह ढांडा ने कांग्रेस उम्मीदवार तेजेन्द्र पाल मान को 4628 वोटों से हराया था। उसके बाद 1987 में फिर लोकदल की टिकट पर नरसिंह ढांडा ने चुनाव लड़ा और कांग्रेस के हरफूल सिंह को 29483 वोटों से हराकर विधानसभा में पहुंचे थे। इस पाई विधानसभा क्षेत्र में 1987 के चुनाव में लोकदल से नरसिंह ढांडा सबसे अधिक वोटों के अंतराल से विजेता घोषित हुए थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: