Atal hind
क्राइम टॉप न्यूज़ पंचकुला हरियाणा

कोण कहता है हरियाणा में घोटाले नहीं होते -ये पढ़िए -विधान सभा अध्यक्ष ज्ञान चंद गुप्ता ने खुद पकड़े 

कोण कहता है हरियाणा में घोटाले नहीं होते -ये पढ़िए -विधान सभा अध्यक्ष ज्ञान चंद गुप्ता ने खुद पकड़े

8.08 करोड़ के बिजली घर में लगा दिए पुराने कंडम ट्रांसफार्म

पंचकूला के टपरिया गांव में बिजली निगम का कारनामा

पंचकूला, 28 सितम्बर(अटल हिन्द ब्यूरो )

हरियाणा बिजली निगम में भ्रष्टाचार का बड़ा मामला सामने आया है। पंचकूला जिले के टपरियां गांव में 8.08 करोड़ की लागत से

बनाए जा रहे 66 केवी बिजली स्टेशन में पुराने तथा कंडम उपकरण लगा दिए हैं। मामले का भंडाफोड़ तब हुआ जब विधान सभा

अध्यक्ष ज्ञान चंद गुप्ता इस बिजली घर का जायजा लेने टपरियां गांव पहुंचे। विधान सभा अध्यक्ष ने देखा कि 66 केवी बिजली

स्टेशन में जले हुए ट्रांसफार्मर, पुराने पैनल और वायर आदि पेंट करके लगा दिए गए हैं। अनेक उपकरणों पर धूल की मोटी परत

जमी हुई थी तथा कई जगह से इनका पेंट भी उतरा हुआ था। विधानसभा अध्यक्ष ने मौके पर ही बिजली विभाग के अतिरिक्त मुख्य

सचिव टीसी गुप्ता से दूरभाष पर बातचीत कर मामले की जांच करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि इस मामले में आरोपित

अधिकारियों को विधान सभा की जन स्वास्थ्य, सिंचाई, बिजली तथा लोक निर्माण कार्यों संबंधी विषय समिति के सम्मुख भी तलब

किया जाएगा।

बता दें कि पंचकूला जिला के गांव टपरियां के लोग गत चार साल से यहां 66 केवी बिजली घर का निर्माण करने की मांग कर रहे थे।

इस बिजली घर से आसपास के 12 गांवों में बिजली की आपूर्ति की जानी है। विधान सभा अध्यक्ष ज्ञान चंद गुप्ता के प्रयासों से 8.08

करोड़ रुपये की लागत वाला यह प्रोजेक्ट मंजूर हुआ था। तय हुआ था कि बिजली घर 19 नवंबर 2019 तक बन कर तैयार हो

जाएगा, लेकिन निर्धारित समय सीमा निकलने के बाद भी यह पूरा नहीं हो सका।

इस बीच एक स्थानीय नागरिक ने विधान सभा अध्यक्ष ज्ञान चंद गुप्ता को जानकारी दी कि 66 केवी बिजली घर में पुराने उपकरण

लगाए जा रहे हैं। शिकायत मिलने पर सोमवार को विधान सभा अध्यक्ष अपनी टीम के साथ मौके पर पहुंचे। वहां उन्होंने प्रोजेक्ट में

अनेक अनियमितताएं नजर आईं। कई प्वाइंट जले हुए मिले तथा कई मशीनों में पूरे उपकरण ही नहीं थे। गुप्ता ने मौके पर मौजूद

बिजली निगम के मुख्य अभियन्ता राजेश गोयल तथा अधीक्षक अभियन्ता टी. सरवार से बातचीत की, लेकिन वे संतोषजनक जवाब

नहीं दे पाए। इस पर गुप्ता ने बिजली विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव टीसी गुप्ता से दूरभाष पर बातचीत की। उन्होंने कहा कि

इस मामले की गहनता से जांच की जाए तथा दोषी लोगों के खिलाफ सख्त कार्रवाई जाए। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि यह

मामला विधान सभा की जन स्वास्थ्य, सिंचाई, बिजली तथा लोक निर्माण कार्यों संबंधी विषय समिति के सम्मुख भी लाया जाएगा।

जानकारी मिली कि नए बिजली घर में गुरुग्राम से पुराना पैनल लगाया जा गया है जबकि एस्टिमेट में कीमत नए उपकरणों की

बनाई गई है। इस बिजली घर से लगभग 15 गांवों को निर्बाध रूप से बिजली सप्लाई का लाभ मिलने वाला है। बिजली निगम के

अधिकारियों के इस कारनामे पर सरपंच अंकित समेत अनेक ग्रामीणों ने नाराजगी व्यक्त की है। उन्होंने कहा कि अगर विधान

सभा अध्यक्ष ज्ञान चंद गुप्ता इस मामले में संज्ञान नहीं लेते तो यह बिजली घर कंडम उपकरणों के सहारे ही चला दिया जाता,

जिसका खामियाजा ग्रामीणों को भुगतना पड़ता। ग्रामीणों ने गुप्ता द्वारा की कार्रवाई को सराहनीय बताया है।

डिस्क्लेमर (अस्वीकरण) : इस आलेख में व्यक्त किए गए विचार लेखक के निजी विचार हैं. इस आलेख में दी गई किसी भी सूचना की सटीकता, संपूर्णता, व्यावहारिकता अथवा सच्चाई के प्रति ATAL HIND उत्तरदायी नहीं है. इस आलेख में सभी सूचनाएं ज्यों की त्यों प्रस्तुत की गई हैं. इस आलेख में दी गई कोई भी सूचना अथवा तथ्य अथवा व्यक्त किए गए विचार #ATALHIND के नहीं हैं, तथा atal hind उनके लिए किसी भी प्रकार से उत्तरदायी नहीं है.

अटल हिन्द से जुड़ने के लिए शुक्रिया। जनता के सहयोग से जनता का मीडिया बनाने के अभियान में कृपया हमारी आर्थिक मदद करें।

Related posts

सार्वजनिक स्थानों पर धूम्रपान करना प्रतिबंधित है व इसका उल्लंघन करने पर जुर्माने का प्रावधान-   डॉ. ओमप्रकाश

admin

मस्ताना राइस मिल (Kaithal)में लेबर ठेकेदार और चौकीदारों के बीच हुआ झगड़ा

Sarvekash Aggarwal

मनोहर  ने वीडियो कांफ्रेंस के जरिये अध्यादेशों पर अपनी सहमति दी थी  

admin

Leave a Comment

URL