कोरोना से अमेरिका में 22 लाख, ब्रिटेन में 5 लाख की हो सकती है मौत : रिपोर्ट

कोरोना से अमेरिका में 22 लाख, ब्रिटेन में 5 लाख की हो सकती है मौत : रिपोर्ट

corona, britain corona, america corona, report on corona
लंदन के इंपीरियल कॉलेज केे शोधकर्ताओं ने निकाला है ये निष्कर्ष
नई दिल्ली। कोरोना (corona) वायरस की दहशत ने पूरी दुनिया को हिलाकर रख दिया है। इस दहशत के बीच और एक चिंतित कर देने वाली खबर सामने आई है। एक शोध रिपोर्ट के मुताबिक कोरोना से अमेरिका ( america corona) में 22 लाख व ब्रिटेन ( britain corona) में 5 लाख लोगों की मौत हो सकती है।

यह रिपोर्ट (report on corona) भी ब्रिटेन (britain corona) से ही सामने आई है। लंदन के इंपीरियल कॉलेज (imperial college london) की रिपोर्ट में यह अनुमान लगाया है कि कोरोना वायरस पर अगर जल्द काबू नहीं पाया गया और यह ऐसे ही तीव्र गति से फैलता रहा तो ब्रिटेन में करीब 5 लाख लोगों की मौत हो सकती है।
इस रिपोर्ट (report on corona) ने अमेरिका (america corona) को और चिंता में डाल दिया है। रिपोर्ट कहती है कि इस वायरस के संक्रमण से अमेरिका से 22 लाख लोगों की मौत हो सकती है। रिपोर्ट में चेतावनी दी गई है कि यदि इन दोनों देशों में हालातों पर काबू नहीं पाया गया तबाही आ जाएगी।

ब्रिटेन में लॉकडाउन के पीछे रिपोर्ट ही
इस बीच बता दें कि ब्रिटेन में लॉकडाउन यानी पूरी तरह बंद कर दिया गया है। ऐसा माना जा रहा है कि इस रिपोर्ट के सामने आने के बाद ही ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन ने कठोर कदम उठाए हैं और पूरे देश में लॉकडाउन का ऐलान कर दिया है।

81 फीसदी आबादी होगी प्रभावित
रिपोर्ट में अनुमान जताया गया है कि अगर कुछ कदम नहीं उठाए गए तो अगले तीन माह में मरने वालों की संख्या चरम पर होगी और इससे करीब 81 फीसदी आबादी प्रभावित होगी।

इसलिए अहम है इंपीरियल कॉलेज
इंपीरियल कॉलेज (imperial college london) ब्रिटिश सरकार को पिछली महामारियों को लेकर भी सलाह दे चुका है, जिनमें सार्स, एवियन फ्लू और स्वाइन फ्लू शामिल हैं।

ये प्रोफेसर है रिपोर्ट के नेतृत्वकर्ता
इंपीरियल कॉलेज की रिपोर्ट का नेतृत्व प्रोफेसर नील फर्गुसन ने किया है। उनके साथ विश्व स्वास्थ्य संगठन और 50 वैज्ञानिकों की एक टीम है।

इटली के हालात बने रिपोर्ट केे आधार
प्रोफेसर फर्गुसन के मुताबिक, यह रिपोर्ट इटली में कोरोना वायरस से जुड़े ताजा आंकड़ों की तुलना के आधार पर इस निष्कर्ष पर पहुंची है। बता दें कि इटली में चीन से भी भयावह स्थिति है और कोरोना से मौत के मामले अब चीन से ज्यादा इटली में हो गए हैं। इटली में करीब 4000 लोगों की मौत हो चुकी है।

ये भी कहा प्रोफेसर फर्गुसन ने
प्रोफेसर फर्गुसन ने कहा कि हमारे और टीम के अनुमान के मुताबिक, लॉकडाउन के अलावा सच में कोई विकल्प नहीं है। लेकिन चीन के नक्शेकदम पर चलकर इससे निपटा जा सकता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *