Atal hind
टॉप न्यूज़ सोनीपत हरियाणा

क्यों डर रही है हरयाणा पोलिस ,पहलवान योगेशवर दत  का साला है क्या इसलिए ,

क्यों डर रही है हरयाणा पोलिस ,पहलवान योगेशवर दत  का साला है क्या इसलिए ,
Why is Haryana Police afraid, is wrestler Yogeshwar Dat’s brother-in-law, why?
पहलवान योगेश्वर दत्त के साले पर हत्या का आरोप, पकड़ने से डर रही पुलिस
सोनीपत(अटल हिन्द ब्यूरो ) बिल्ली के गले में घंटी कौन बांधे… यह कहावत आजकल खाकी के जवानों पर बिलकुल स्टीक बैठ रही है। सदर थाना क्षेत्र के गांव भठगांव में टैक्सी चालक की गोली मारकर हत्या करने की वारदात में आरोपित भाजपा नेता व अंतर्राष्ट्रीय पहलवान योगेश्वर दत्त उर्फ योगी के हत्यारोपित साले को खाकी के जवान पकड़ने में फिसड्डी साबित हो रहे है। हत्या के मामले में दस दिन बीत चुके हैं। जबकि मामले में सदर थाना व सीआईए-1 में तैनात खाकी के जवानों के हाथ खाली हैं। मृतक के परिजन मामले में न्याय को लेकर पुलिस अधीक्षक के सामने गुहार लगा चुके हैं। परिजनों का आरोप है कि राजनीति पहुंच के चलते उनकी सुनवाई नहीं हो रही। बल्कि मामले को बदलने तक का काम किया जा रहा है। उक्त मामले में पुलिस दो आरोपितों को गिरफ्तार कर चुकी है। मामले को लेकर पुलिस के आला अधिकारी मौन धारण किए हुए हैं।

राजनीति पहुंच के सामने खाकी के जवान फीके
टैक्सी चालक की हत्या के मामले में भाजपा नेता योगेश्वर दत के साले हरिश का नाम सामने आया हैं। जिसके बाद राजनीति हलचल तेज हो गई। मामले में खाकी के जवान नेता व पहलवान के साले को पकड़ने में नाकाम साबित हो रहे हैं। परिजनों का आरोप हैं कि पुलिस राजनीति दबाब के चलते नेता के साले को नहीं पकड़ रही। जबकि मामले में दो आरोपितों को पहले काबू कर चुकी हैं।

 

जांच अधिकारी की दबंगई, सीआईए में सरपंच तक को लगाई फटकार
मृतक के चचेरे भाई अजय ने बताया कि मामले को सदर थाना पुलिस से लेकर सीआईए-1 को सौंपा गया। उक्त मामले के जांच अधिकारी से मिलने वह गांव के मौजूदा लोगों व सरपंच के साथ पहुंचा। जहां बातचीत के दौरान जांच अधिकारी बतमीजी से बातचीत करने लगा। विरोध करने पर गांव के सरपंच तक को धमकाने लगा। उनके मामले में निष्पक्ष जांच करने की बजाय उनपर दबाव की स्थिति पैदा करने लगा। जिसके चलते पुलिस अधीक्षक से मिलकर जांच अधिकारी के बारे में अवगत करवा चुके हैं।
यह था मामला
गांव भठगांव माल्यान निवासी अजय सिंह ने 15 मार्च को सदर थाना पुलिस को शिकायत देकर बताया था कि वह गुरुग्राम में टैक्सी चलाता है। उनके गांव के परविंदर सिंह के घर में शादी थी। शादी समारोह में शामिल होने के लिए वह अपने चचेरे भाई सतपाल (31) के साथ गया था। रात में करीब साढ़े नौ बजे जब वह समारोह में पहुंचे तो वहां लोगों की भीड़भाड़ थी। इसी बीच सामने से हरीश, सचिन और एक अन्य आ गए। वह हाथ में डोगा बंदूक लिए हुए थे। उसके भाई को देखकर हरीश व सचिन कहने लगे कि सतपाल आ गया। इस पर उन्होंने एक अन्य से बंदूक ले ली। वह उनके पास आए और बंदूक सतपाल के सीने पर तान दी। वह कहने लगे कि उसे पहले हुए झगड़े का मजा चखाते हैं। यह कहकर उन्होंने सतपाल के सीने में गोली मार दी। गोली चलने से शादी समारोह में भगदड़ मच गई। अजय अपने घायल भाई सतपाल को लेकर रोहतक के गांव खेड़ी साध स्थित निजी अस्पताल में पहुंचा। जहां उपचार के दौरान देर रात सतपाल की मौत हो गई। मामले की सूचना मिलने पर सदर थाना पुलिस अस्पताल पहुंची और अजय कुमार के बयान पर सचिन, हरिश व अन्य के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज कर लिया था। पुलिस ने शव का पोस्टमार्टम रोहतक पीजीआई में करवाकर परिजनों को सुपुर्द कर दिया था।

डिस्क्लेमर (अस्वीकरण) : इस आलेख में व्यक्त किए गए विचार लेखक के निजी विचार हैं. इस आलेख में दी गई किसी भी सूचना की सटीकता, संपूर्णता, व्यावहारिकता अथवा सच्चाई के प्रति ATAL HIND उत्तरदायी नहीं है. इस आलेख में सभी सूचनाएं ज्यों की त्यों प्रस्तुत की गई हैं. इस आलेख में दी गई कोई भी सूचना अथवा तथ्य अथवा व्यक्त किए गए विचार #ATALHIND के नहीं हैं, तथा atal hind उनके लिए किसी भी प्रकार से उत्तरदायी नहीं है.

अटल हिन्द से जुड़ने के लिए शुक्रिया। जनता के सहयोग से जनता का मीडिया बनाने के अभियान में कृपया हमारी आर्थिक मदद करें।

Related posts

राजौंद से दो बार विधायक रहे सतविंदर राणा (jjp leader) शराब तस्करी के मामले में गिरफ्तार,?

Sarvekash Aggarwal

हरियाणा सरकार के  ठेंगे पर कोरोना,  रोडवेज में 52 सवारियां बिठाने का फरमान

admin

हरियाणा में पोस्ट ग्रेजुएट टीचर के 4000 पदों पर भर्ती विवाद में उलझी

Sarvekash Aggarwal

Leave a Comment

URL