AtalHind
गुरुग्राम

खाली कुर्सियां भी बन गई सुर्खियां हरियाणा भाजपा प्रदेश अध्यक्ष नायब सैनी पहुंचे थे पटौदी

और खाली कुर्सियां भी बन गई सुर्खियां

हरियाणा भाजपा प्रदेश अध्यक्ष नायब सैनी पहुंचे थे पटौदी

पंडाल में क्यों रही कुर्सियां खाली बन गया बड़ा सवाल

Advertisement

ना तो 26/11 याद आया और ना ही संविधान दिवस

फतह सिंह उजाला
पटौदी 27 नवंबर । … क्या कुर्सियां भी सुर्खियां बन सकती हैं ? जी हां यह बिल्कुल सही है, खाली कुर्सियां भी सुर्खियां बन गई । वह भी तब जब दुनिया की सबसे बड़ी राजनीतिक पार्टी भाजपा के हरियाणा प्रदेश अध्यक्ष का आगमन हो ।

Advertisement

एक दिन पहले संडे को हरियाणा प्रदेश भाजपा अध्यक्ष नायब सिंह सैनी पटौदी के एमएलए एडवोकेट सत्य प्रकाश जरावता के चाय के निमंत्रण पर पटौदी क्षेत्र में पहुंचे थे । मौका भी दोहरा था, संडे को ही पीएम मोदी के द्वारा मन की बात कहने और भाजपा कार्यकर्ताओं के द्वारा सुनने का भी कार्यक्रम था । इसी कड़ी में 26 नवंबर वह तिथि है जिस दिन देश पर सबसे बड़ा आतंकी हमला मुंबई में हुआ था। इतना ही नहीं 26 नवंबर को संविधान दिवस के रूप में भी मनाया जाता है । सबसे खास बात यह है कि केंद्र में भाजपा दो कि सरकार के मुखिया पीएम नरेंद्र मोदी के द्वारा अपना दूसरा कार्यकाल भी संविधान की शपथ लेते हुए और संविधान की पुस्तक के आगे नतमस्तक होकर किया गया।

संडे को हरियाणा प्रदेश भाजपा अध्यक्ष नायब सिंह सैनी दूसरी बार पटौदी क्षेत्र में पहुंचे । मन की बात कार्यक्रम में शामिल होने के उपरांत सैनी जाटोली अनाज मंडी में सभा सहित भाजपा कार्यकर्ताओं को संबोधित करने के लिए पहुंचे। जिस समय भाजपा प्रदेश अध्यक्ष जाटोली अनाज मंडी के आयोजन स्थल पर पहुंचे, उस समय तक अधिकांश कुर्सियां लोगों के आने का इंतजार करती रही । लेकिन कुर्सियों के मन की इच्छा पूरी नहीं हो सकी । हालात यहां तक देखे गए की भाजपा के कद्दावर नेताओं के मंचासीन रहते हुए आयोजन स्थल से कुर्सियां समेटना आरंभ कर दिया गया।

Advertisement

हैरानी इस बात को लेकर है कि आखिर ऐसा क्या हुआ की कुर्सियां खाली ही रह गई ? इसके उलट जब भी भाजपा का पन्ना प्रमुख की बैठक जैसा आयोजन होता है तो आयोजन स्थल भरा हुआ दिखाई देता है । 26 नवंबर संडे को भाजपा नेताओं को न तो संविधान दिवस याद रहा और नहीं मुंबई आतंकी हमले पर कुछ बोलना जरूरी समझा ।

Advertisement

 

मुंबई के आतंकी हमले में आतंकवादियों से लोहा लेकर उनके नापाक इरादों को नाकाम करने वालों में पटौदी क्षेत्र के ही देहात का रहने वाला बेस्ट कमांडो सुनील यादव भी शामिल था। इसी कड़ी में भाजपा नेताओं के ही समर्थक भी भाजपा प्रदेश अध्यक्ष के आगमन पर दूरी बनाए रहे । अब यह भाजपा और भाजपा नेताओं के लिए सवाल के साथ चिंतन और मंथन का विषय भी है कि ऐसा क्या कारण रहा खाली कुर्सियों सुर्खियां बन गई !

Advertisement
Advertisement

Related posts

मानेसर स्क्रैप कंपनी में सुलगती रही सात घंटे तक आग

admin

हरियाणा के गुरुग्राम में कहाँ से आ रहे है इतनी बड़ी मात्रा में हथियार ,क्या है मकसद ,कोण है इन सबके पीछे 

atalhind

25 नवंबर को इतिहास बनाने के लिए करें मतदान – पर्ल चौधरी

editor

Leave a Comment

URL