Atal hind
कैथल खेल हरियाणा

खेल के साथ-साथ बेटियां कर रही हैं हर क्षेत्र में नाम रोशन :  रणधीर सिंह गोलन

खेल के साथ-साथ बेटियां कर रही हैं हर क्षेत्र में नाम रोशन :  रणधीर सिंह गोलन

पूंडरी, 12 सितंबर (अटल हिन्द/पवन प्रजापति    )

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा दिए गए बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ का नारा लड़कियों के इस कबड्डïी मैच को देखकर लगता है कि यह

नारा बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ और बेटी खेलाओ होना चाहिए। यानि बेटियों को पढ़ाने और बचाने के साथ-साथ उनको खेल कूद

में भी आगे लेकर आना चाहिए। ये शब्द हरियाणा के पर्यटन निगम के चेयरमैन रणधीर सिंह गोलन ने आउटडोर इंडोर स्टेडियम में

चल रहे क्रीड़ा भारती खेल पखवाड़ा के समापन अवसर पर कहे। उन्होंने प्रथम आने वाली गांव खटकड़ जिला जींद की टीम को

3100 रुपये, द्वितीय  स्थान पर रही रोहेड़ा की टीम को 2100 रुपये, तृतीय स्थान पर गांव सींक जिला पानीपत तथा चौथे स्थान पर

पूंडरी की टीम को 1100-1100 रुपये नकद पुरस्कार देकर सम्मानित किया।

सर्वप्रथम उन्होंने भारत माता, स्वामी विवेकानंद, मेजर ध्यान चंद के तैल चित्रों पर पुष्प अर्पित कर प्रतियोगिता का शुभारंभ किया।

पर्यटन निगम के चेयरमैन रणधीर सिंह गोलन ने कहा कि मेजर ध्यान चंद की याद में क्रीड़ा भारती द्वारा आयोजित करवाए गए

लड़कियों का  कब्बडी खेल की प्रतियोगिता को देखने का अवसर मिला। ये हमारा सौभाग्य है हमारी बेटियां खेल के साथ-साथ हर

क्षेत्र में आगे आ रही हैं। ये भी हमारा सौभाग्य रहा है कि जिस स्टेडियम में ये क्रीड़ा भारती खेल पखवाड़ा प्रतियोगिता करवाई जा

रही है, वह स्टेडियम मुख्यमंत्री मनोहर लाल के आशीर्वाद से बनवाया है। ये देख कर खुशी होती है कि पूंडरी का नाम भी इतिहास

के पन्नों में शामिल हुआ है। संगठन की सोच यह रही है हमारा देश और हमारी बेटियां शिक्षा और खेल के साथ आगे कैसे बढ़ें।

उन्होंने कब्बडी  का मैच देखा और खिलाडिय़ों की तारीफ करते हुए कहा कि जो भी कोच आपको ट्रेनिंग दे रहे हैं वे बहुत की

काबिले तारीफ है। उनकी मेहनत साफ नजर आ रही है। अब समय बदल गया है कुछ वर्षो पहले तक बहुत से ऐसे खेल थे जिसमे

नारी को शारीरिक रूप से दुर्बल समझ कर खेलने से रोका जाता था आज उन्ही खेलों में वो अपना परचम लहरा रही हैं, फिर तो

चाहे बात हो कब्बडी , मुक्केबाजी, भारोत्तोलन, बैडमिंटन या फिर टेनिस की। आज लड़कियां किसी भी क्षेत्र में कम नहीं रही हैं।

लड़कियां कंधे से कंधा मिलाकर देश का नाम रोशन कर रही है। ये तो सर्वविदित है की समाज निर्माण में जितना योगदान पुरुषों

का होता है उतना ही योगदान स्त्री का भी परन्तु जिस प्रकार का सम्मान पुरुषो को समाज में मिलता है उतना स्त्री को शायद

संकीर्ण सोच के कारण नहीं मिल पाता था। परंतु वर्तमान परिवेश में लोगों की सोच में परिवर्तन आया है, और अब बेटा और बेटी

को एक समान समझकर आगे बढने के बराबर अवसर दिए जा रहे हैं। इस अवसर पर उत्तर क्षेत्र संयोजक क्रिड़ी भारती दलपत,

हरियाणा एवं हिमाचल क्रिड़ा भारती उमेश, आरएसएस जिला प्रचारक कमल, जिला कार्यवाहक संजय चौधरी, स्टोर कब्बडी

 

के प्रेजिडेंट एडवोकेट मनोज ढुल, संयोजक क्रीड़ा भारती दीपक कौशिक, चेयरमैन स्टार कब्बडी लीग अशोक गोयल, बीडीपीओ

सुरेंद्र शर्मा, अनिल आर्य, पार्षद बलजीत सिंह, सरपंच देवेंद्र, मनदीप, राजेश गौरा, कोच कर्मबीर गोलन, निजी सचिव संजीव

गामड़ी, श्याम बंसल, सुभाष  गौड, राजबीर ढुल, सुरेंद्र शर्मा, एनआईएस करण सिंह, धर्मराज, रविंद्र, नीवन लाठर, सुशील, जितेंद्र,

प्रदीप, नरेंद्र, सुखबीर आदि मौजूद रहे।

डिस्क्लेमर (अस्वीकरण) : इस आलेख में व्यक्त किए गए विचार लेखक के निजी विचार हैं. इस आलेख में दी गई किसी भी सूचना की सटीकता, संपूर्णता, व्यावहारिकता अथवा सच्चाई के प्रति ATAL HIND उत्तरदायी नहीं है. इस आलेख में सभी सूचनाएं ज्यों की त्यों प्रस्तुत की गई हैं. इस आलेख में दी गई कोई भी सूचना अथवा तथ्य अथवा व्यक्त किए गए विचार #ATALHIND के नहीं हैं, तथा atal hind उनके लिए किसी भी प्रकार से उत्तरदायी नहीं है.

अटल हिन्द से जुड़ने के लिए शुक्रिया। जनता के सहयोग से जनता का मीडिया बनाने के अभियान में कृपया हमारी आर्थिक मदद करें।

Related posts

हाई कोर्ट ने दिया भिवानी के अंचल दंपति को झटका, नहीं मिली कोई राहत,

admin

हरियाणा में बईमान कौन,ऐसी भ्रष्ट ईमानदारी की नहीं मिलेगी कहीं और मिसाल

admin

कैथल एसपी  ने किया बड़ा खुलासा , कैथल जिले ने दहशत फलाने वाले सरगना बिन्नी सहित गिरोह के 13 सदस्य किए जा चुके है गिरफतार

admin

Leave a Comment

URL