AtalHind
चण्डीगढ़ (Chandigarh)टॉप न्यूज़

गरीबी से तंग अपने साथियों संग हरियाणा के जींद की गरीब बेटी ने संसद भवन की सुरक्षा में लगाईं सेंध

गरीबी से तंग अपने साथियों संग हरियाणा के जींद की गरीब बेटी ने संसद भवन की सुरक्षा में लगाईं सेंध

Parliament Security Breach: ‘इतिहास में दर्ज हो गई जींद की बेटी’, नीलम के समर्थन में खाप और किसान संगठन
Parliament Security Breach Accused Neelam: जींद की रहने वाली आरोपी

नीलम के पक्ष में खाप पंचायतें और किसान संगठन खड़े हो गए हैं।

parliament-security-breach-accused-neelam-mother-says-Daughter-fed-up-with-unemployment-1 jimd

अटल हिन्द टीम /चंडीगढ़

Parliament Security Breach Accused Neelam: संसद की सुरक्षा में बुधवार को बड़ी चूक सामने आई। संसद हमले 2001 की बरसी के दिन कुछ युवाओं ने संसद के अंदर और बाहर स्मोक स्प्रे कर सुरक्षा से खिलवाड़ किया। इसे अंजाम देने वाले कुल 6 आरोपी बताए जा रहे हैं। जिसमें से एक आरोपी सागर शर्मा लखनऊ का रहने वाला है, दूसरा आरोपी मनोरंजन डी कर्नाटक, तीसरा महाराष्ट्र के लातूर का अमोल शिंद और चौथी आरोपी हरियाणा के जींद की नीलम बताई जा रही है। नीलम के पक्ष में खाप पंचायतें और किसान संगठन खड़े हो गए हैं।

लोकसभा

नीलम ने संसद के बाहर प्रदर्शन किया। जब उसे पुलिस ले जाने लगी तो उसने महिला अत्याचार और बेरोजगारी जैसे मुद्दे की बात की। इसके बाद जींद में खापें और किसान संगठन नीलम के घर पहुंच गए। उन्होंने नीलम का समर्थन करते हुए कहा कि उसने कोई गलत काम नहीं किया। जींद की बेटी का नाम इतिहास में दर्ज हो गया है।

हम नीलम और उसके पूरे परिवार के साथ हैं। किसान संगठन के लोगों ने आगे कहा कि नीलम ने जो किया, सही किया। वहीं खापों का कहना है कि जल्द से जल्द नीलम को रिहा किया जाए। खापों ने नीलम को रिहा न करने की स्थिति में जींद में पंचायत बुलाकर मंथन करने की बात कही है।

खापों का कहना है कि नीलम पढ़ी-लिखी और सभ्य लड़की है। उसने किसान कानूनों के खिलाफ भी प्रदर्शन किया था। वह अक्सर किसानों के धरने में जाती थी। इसके अलावा जंतर-मंतर पर खिलाड़ियों के धरने में भी वह शामिल हुई थी। नीलम की मां का कहना है कि वह बेरोजगारी से परेशान है।

हमने उसे हिसार में पढ़ाई के लिए भेजा था। सूत्रों के मुताबिक, सभी आरोपी भगत सिंह और अंबेडकर फैन क्लब से जुड़े हैं। वे एक-दूसरे को करीब 2 साल से जानते हैं। सभी ने गुरुग्राम के एक फ्लैट में मिलकर इसकी योजना बनाई थी।

-बेरोजगारी से तंग थी बेटी’, संसद के बाहर स्प्रे करने वाली आरोपी की मां का बयान

Parliament-Security-Breach_-Jind-Khap-farmer-organizations-in-support-of-Neelam

इस मामले में हिरासत में लिए आरोपी में एक महिला जींद की भी है। हरियाणा के जींद के गांव घासो की रहने वाली युवती के परिजनों का कहना है कि बेरोजगारी के चलते उनकी बेटी परेशान रहती थी।

इससे अच्छा कि मर जाऊं
वह कहती थी- मैंने इतनी पढ़ाई की है, लेकिन दो रोटियों का साधन नहीं जुटा पा रही हूं। इससे अच्छा कि मर जाऊं। परिजनों का यह भी कहना है कि आरोपी युवती नीलम काफी पढ़ी लिखी है। उसने बीए, एमए, बीएड, एमफिल, एचटेट, नेट पास की हुई है। इसके बावजूद उसे नौकरी नहीं मिल रही थी। वह अक्सर बेरोजगारी से दुखी रहती थी।

आरोपी नीलम की मां सरस्वती का कहना है कि वह कई महीने पहले पढ़ाई के लिए हिसार गई हुई थी। आज ही उससे बात हुई थी। उसने मेरा हालचाल पूछा क्योंकि मैं बीमार थी और मुझे ग्लूकोज चढ़ा था। बेटी ने कहा कि अपना इलाज अच्छे से करवा लेना। बेटी ने आज की घटना के बारे में कुछ नहीं बताया और न ही यह बताया कि वह दिल्ली में है।

वहीं नीलम के भाई रामनिवास का कहना है कि नौकरी न मिलने से वह दुखी रहती थी। बेरोजगारी के मुद्दों को उठाने के लिए वह ‘किसान आंदोलन’ में भी गई, लेकिन हमने आंदोलन छुड़ाने के बाद उसे पढ़ाई के लिए हिसार भेज दिया।
अब वह कई महीने से ही हिसार में रह रही थी। संसद भवन के अंदर दो और बाहर दो आरोपियों ने स्प्रे किया। इस मामले में कुल 6 आरोपी बताए जा रहे हैं। चार आरोपी पुलिस की गिरफ्त में आ चुके हैं, जबकि दो फरार हैं। इस सुरक्षा चूक के बाद सर्वदलीय बैठक में परिसर की सुरक्षा बढ़ाने पर बात हुई है। बताया जा रहा है कि विजिटर गैलरी पास को अगले आदेश तक बैन कर दिया गया है।

Parliament Security Breach: इंटेलिजेंस ब्यूरो कर रहा सुरक्षा में सेंध लगाने वालों से पूछताछ, आरोपियों के घर भेजी गई टीम

Parliament Security Breach : संसद में हुई सुरक्षा चूक को लेकर इंटेलिजेंस ब्यूरो के वरिष्ठ अधिकारी नए संसद भवन परिसर पहुंचे हैं। ब्यूरो की एक टीम ने शून्य काल के दौरान विजिटर्स गैलरी से लोकसभा चैंबर में कूदने वाले सागर शर्मा और मनोरंजन से पूछताछ की है। एक अधिकारी ने बताया कि इन दोनों के बैकग्राउंड के बारे में पता किया जा रहा है।

अधिकारी ने बताया कि सागर शर्मा मैसूर का रहने वाला है और बेंगलुरु की एक यूनिवर्सिटी से इंजीनियरिंग की पढ़ाई कर रहा है। वहीं, मनोरंजन भी मैसूर का ही निवासी है। अधिकारी ने आगे कहा कि मामले में इंटेलिजेंस ब्यूरो की एक टीम स्थानीय पुलिस के साथ दोनों लोगों के घर पहुंची है और जांच पड़ताल कर रही है।

22 साल पहले संसद में 30 मिनट तक चली थीं ताबड़तोड़ गोलियां, बरसी के दिन फिर हुई सुरक्षा में बड़ी चूक
22 साल पहले आज ही के दिन संसद पर आतंकी हमला हुआ था। बुधवार को उसी हमले की बरसी के मौके पर संसद में एक और घटना हो गई। यहां लोकसभा में दो लोग सदन के चैंबर में कूद पड़े। शुरुआती जानकारी के मुताबिक दोनों के पास गैस कैनिस्टर भी थे। दो लोग अचानक सदन में कूदे और उसके बाद हवा में पीला धुंआ छा गया।

13 दिसंबर 2001 को भी संसद में सिक्योरिटी ब्रीच हुई थी। तब हथियारबंद आतंकवादियों ने संसद भवन में तबाही मचा दी थी। इस हमले में नौ सुरक्षा कर्मियों की जान गई थी। ये हमला पाकिस्तान से जुड़े आतंकी संगठन ने करवाया था। अभी उस हमले का जख्म भर नहीं पाया है और आज हुई सुरक्षा में चूक ने उस घाव को फिर से ताजा कर दिया है।

फर्क बस इतना है कि तब ऐसा करने वाले पड़ोसी मुल्क से आए आतंकी थे और आज की घटना को अंजाम देने वाले अपने ही देश के लोग थे। इस घटना ने संसद भवन की सुरक्षा व्यवस्था पर सवाल तो उठाए ही हैं साथ ही यह भी सोचने पर मजबूर किया है कि अगर लोकतंत्र का मंदिर यानी संसद ही सुरक्षित नहीं है तो आम आदमी कितना होगा।

Advertisement

Related posts

यूपी में राम मंदिर के उद्घाटन के बाद पांच राज्यों हाराष्ट्र, तेलंगाना, बिहार, मध्य प्रदेश, गुजरात और दिल्ली में सांप्रदायिक घटनाएं

editor

Kisan Andolan-निहत्थे किसानों पर पुलिस ने बरसाई थी गोलियां  700 से ज्यादा किसानों की हुई थी मौत

editor

बदमाशों का हरियाणा में कहीं पे निगाहे कहीं पे निशाना तो नहीं ,जनप्रतिनिधियों को धमकी की आड़ में 

atalhind

Leave a Comment

URL