गांव ईशरहेड़ी में ग्रामीणों ने नाकेबंदी करके लगाया आने जाने पर प्रतिबंध

बाबैन, 2 अप्रैल (सुरेश अरोड़ा): जमात में गए हुए मुस्लिमों की खबर आस पास के ग्रामीणों को मिली तब से  सभी ग्रामीणों बच्चों सहित अपने अपने घरों में दुबके हुए है। इस मामले को देखते हुए आज से गांव ईशरहेड़ी को ग्राम पंचायत के द्वारा पूर्ण रूप से सील कर दिया गया।  गांव ईशरहेड़ी के सरपंच साहब सिंह ने जानकारी देते हुए बताया  कि ग्राम पंचायत व ग्रामीणों ने अपने स्तर पर मिलकर गांव में पुरी तरह से नाकेबंदी करके पूरी तरह से सील कर दिया गया है गांव में आने-जाने वालों पर प्रतिबंध लगा दिया है। गांव के मौजिज व्यक्तियों ने स्वयं कमान संभालते हुए गांव में आने-जाने वाले सभी रास्तों को सील कर दिया है और इन रास्तों से अब न तो गांव के लोगों का बाहर जाने दिया जा रहा है और न ही बाहरी व्यक्तियों को गांव में घुसने दिया जा रहा है। उन्होंने कहा कि ग्राम पंचायत के द्वारा पूरे गांव को कोरोना की बिमारी से बचाने के लिए गांव को सैनिटाईज करवाया गया है। पंचायत ने गांव की सफाई में जुटे कर्मचारियों को भी मास्क, गलब्ज व सैनिटाईज लीक्वड उपलब्ध करवाया ताकि सफाई करते समय उन्हें किसी प्रकार की परेशानी न आए। सरपंच साहब सिंह ने कहा कि गांव के सभी व्यक्तियों पर निगरानी रखी जा रही है अगर कोई भी व्यक्ति कुछ दिनों से गांव में नहीं है और आज कल में किसी को भी दिखाई दे तो तुरंत पंचायत को सुचित करें। उन्होंने कहा कि पंचायत प्रतिनिधि समय-समय पर लोगों के घरों में जाकर उन्हें घर से बाहर न निकलने के लिए प्रेरित कर रहे हैं ताकि किसी तरह महामारी को फैलने से रोका जा सकें। उन्होंने गांव के सभी लोगों से आह्वान किया कि वे सरकार व प्रशासन के दिशा-निर्देशों का पूरी तरह से पालन करे और अपने घरों में ही रह कर पंचायत का सहयोग करें। इस मौके पर सरपंच साहब सिंह,पंच धर्मेद्र सिंह, धर्मबीर सिंह, अग्रेज सिंह, दर्शन सिंह, लखविन्द्र सिंह, निर्मल ङ्क्षसह, जसवंत सिंह, बलबीर सिंह, सलिन्द्र सिंह, सन्नी व अन्य ग्रामीण मौजूद रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *