गुमथला की खनन एजेंसी के कार्य को किया सस्पेंड, 15 दिनो में खनन एजेंसी को देना होगा जवाब

गुमथला की खनन एजेंसी के कार्य को किया सस्पेंड, 15 दिनो में खनन एजेंसी को देना होगा जवाब
ठोस जवाब मिलने तक कार्य नहीं कर पाएंगी खनन एजेंसी, स्टॉक को बेचने पर भी पांबदी
रादौर, 21 दिसंबर (रविन्द्र सैनी): नियमो के विपरीत हो रहे खनन कार्यो पर अब प्रशासन सख्त होता दिखाई दे रहा है। बीतो दिनो की गई जांच के दौरान खनन नियमो को तोडऩे की एवज में खनन विभाग की ओर से गुमथला क्षेत्र की एक खनन एजेंसी के कार्य को सस्पेंड करने के आदेश जारी कर दिएं गएं है। अब संबंधित एजेंसी को आगामी 15 दिनो में इसका जवाब देना होगा। जब तक खनन एजेंसी इस पर कोई ठोस जवाब विभाग के सामने नहीं रख पाती तब तक खनन कार्य को सस्पेंड रखा जाएंगा। इतना ही नहीं खनन एजेंसी अपने स्टॉक को भी आगामी आदेशो तक नहीं बेच पाएंगी। ऐसे में अब गुमथला व जठलाना क्षेत्र में कार्य कर रही अन्य खनन एजेंसियो के भी कान खड़े हो गएं है। खनन विभाग की ओर से की गई इस कार्रवाई से साफ जाहिर हो चुका है कि अब प्रदेश में दूसरी बार बनी भाजपा सरकार नियमो के विपरीत हो रहे खनन कार्यो पर कार्रवाई में ढील देने वाली नहीं है। गौरतलब है कि गत दिनो खनन विभाग की चंडीगढ़ से आई एक टीम ने गुमथला व जठलाना क्षेत्र के खनन घाटो का दौरा किया था। इस दौरान टीम ने न केवल खनन कार्यो का जायजा लिया था बल्कि इस बात पर भी फोकस किया था कि नियमो के विपरीत कौन कौन सी खनन एजेंसी कार्य कर रही है। इसी दौरान गुमथला नोर्थ बी-16 खनन एजेंसी जो कि जोगिन्द्र सिंह के नाम पर है वहां पर एक पोकलाईन को नियमो के विपरीत कार्य करते हुए कब्जे में लिया गया था। साथ ही इसी ब्लॉक पर नियमो के विपरीत खनन होने की पुष्टि भी टीम को हुई थी। जिसकी रिर्पोट टीम ने विभाग को सौंप दी थी। कार्य सस्पेंड करने की इस कार्रवाई को इसी जांच से जोडक़र देखा जा रहा है।
बॉक्स
अन्य खनन एजेंसियो के कार्य की भी उचित स्तर पर हो जांच-वरयाम सिंह
हरियाणा एंटी करप्शन सोसायटी के अध्यक्ष अधिवक्ता वरयामसिंह ने कहा कि नियमो के विपरीत खनन करने का कार्य लंबे समय से जारी है। उनकी संस्था भी ग्रामीणो के साथ मिलकर इसके खिलाफ आवाज उठा रही है। लेकिन अब तक कोई उचित कार्रवाई न होने पर खनन एजेंसियो के हौंसले बुलंद थे। जिस कारण नियमो के विपरीत खनन का खेल धड्ल्ले से जारी रहा। उचित कार्रवाई न होने का खामियाजा सीधे सीधे क्षेत्र के किसानो को उठाना पड़ा। यमुनानदी में पानी आने के बाद जहां किसानो को अधिक भूमि कटाव का सामना करना पड़ा वहीं अब यमुनानदी में अधिक खुदाई के कारण किसानो को यहां से गुजरने में परेशानी हो रही है। इतना ही नहीं भविष्य में इसके भयंकर परिणाम सामने आने की आशंका को लेकर भी ग्रामीण भयभीत है। उन्होंने मांग की कि भविष्य में भी इस प्रकार की कार्रवाई जारी रहनी चाहिएं और सभी खनन एजेंसियों की समय समय पर उचित व सख्त जांच होनी चाहिएं। ताकि यमुनानदी में नियमो के विपरीत खनन कार्य न हो सके।
बॉक्स
नियमो के विपरीत कार्य करने पर जोगिन्द्र सिंह की खनन एजेंसी के खिलाफ कार्रवाई हुई है। जिसको लेकर नोटिस जारी कर दिया गया है। खनन एजेंसी के कार्य को ठोस जवाब देने तक सस्पेंड कर दिया गया है। जब तब खनन एजेंसी इस पर कोई ठोस जवाब पेश नहीं करती तब तक कार्य को सस्पेंड रखा जाएंगा। उन्होंने कहा कि भविष्य में भी अगर कोई इस प्रकार नियमो के विपरीत खनन कार्य करता पाया जाएंगा तो उसके खिलाफ सख्त रूख एख्तियार किया जाएंगा।
भूपेन्द्र सिंह खनन अधिकारी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *