Atal hind
क्राइम टॉप न्यूज़ सोनीपत हरियाणा

गोहाना जेल में बंद 2 युवतियों ने पुलिस कर्मियों पर लगाए बलात्कार करने के गंभीर आरोप 

गोहाना जेल में बंद 2 युवतियों ने पुलिस कर्मियों पर लगाए बलात्कार करने के गंभीर आरोप

गोहाना (अटल हिन्द ब्यूरो )

गोहाना थानाक्षेत्र की बुटाना चौकी पर तैनात दो पुलिसकर्मियों को 30 जून को चाकूओं से गोदकर हत्या कर दी

गई थी। इस मामले में पुलिस ने शातिर अपराधियों को जींद से मुठभेड़ में पकड़ा था। इस दौरान एक बदमाश

मारा गया था। पुलिस की जांच में सामने आया था कि शातिर बदमाश क्षेत्र की दो युवतियों के साथ रात में एक

बजे जंगल में थे। गस्त करते हुए पहुंचे पुलिसकर्मियों ने इनसे पूछताछ की थी। उसके चलते चार बदमाशों और

दोनों युवतियों ने मिलकर उनकी चाकुओं से गोदकर हत्या कर दी थी। पुलिस ने 02 जुलाई को दोनों आरोपित

युवतियों को गिरफ्तार कर लिया था। उसके बाद न्यायिक हिरासत में भेजे जाने के दौरान इनको न्यायालय में

पेश किया गया था। उस दौरान किसी भी युवती ने न्यायालय के समक्ष  दुष्कर्म की जानकारी नहीं दी थी। इनके

परिजनों-अधिवक्ताओं ने भी इस तरह के आरोप नहीं लगाए थे।अब पुलिसकर्मियों की हत्या में जेल में बंद

युवतियों ने पुलिस पर सामूहिक दुष्कर्म  का आरोप लगाया है। पहले युवतियों ने न्यायालय में याचिका दायर की

थी, लेकिन साक्ष्यों के अभाव में उसको खारिज कर दिया गया। उसके बाद महिला आयोग में शिकायत की गई

थी। जिसके आधार पर पुलिस ने रिपोर्ट दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। पुलिस अधिकारी इसको दबाव बनाने की

साजिश मान रहे हैं। उनको न्यायालय में पेश पर दो दिन के रिमांड पर लिया गया था। जहां से 05 जुलाई को

इनको जेल भेज दिया गया था। दोनों युवतियों हत्या करने के आरोप में जेल में हैं। एक युवती की मां ने महिला

आयोग को भेजे पत्र में आरोप लगाया था कि 15 जुलाई को वह करनाल जेल में युवती से मिली थी। उस समय

युवती की हालत खराब होने के चलते वह बोल नहीं पा रही थी। इसके बाद वह 18 जुलाई को उससे मिली। तब

युवती ने बताया कि 12 पुलिसकर्मियों ने उनसे थाने में सामूहिक दुष्कर्म किया था। उसके बाद से उसकी हालत

खराब है। महिला थाना पुलिस ने इसकी रिपोर्ट 30 जुलाई को दर्ज कर जांच शुरू कर दी थी। अब 11 सितंबर

को एफआइआर की कॉपी वायरल हो गई। जिसमें तीन पुलिसकर्मियों को नामजद करने के साथ ही 12

पुलिसकर्मियों पर रिपोर्ट दर्ज की गई है।वही दूसरी तरफ   दोनों युवतियों के पुलिस हिरासत में रहने के दौरान

हर समय महिला पुलिसकर्मी तैनात रही थी। 02 जुलाई की रात को एक युवती की मां भी थाने में साथ थी।

युवतियों के प्रति पुलिसकर्मियों में आक्रोश था। ऐसे में इनकी ओर पुलिसकर्मियोंं के जाने पर रोक लगी हुई थी।

सुरक्षा व्यवस्था बेहद कड़ी रखी गई थी।  पुलिस अधिकारियों का मानना है कि यह विभाग को दबाव लेने की

साजिश है। जशनदीप सिंह रंधावा, पुलिस अधीक्षक, सोनीपत ने बताया की  हमने नियमानुसार रिपोर्ट दर्ज करा

 

दी है। इससे पहले ही न्यायालय ने दोनों लड़कियों की याचिका खारिज कर दी थी। मेडिकल परीक्षण में किसी

प्रकार की आंतरिक व बाह्य चोट-खरोंच के निशान नहीं मिले हैं। अभी तक दुष्कर्म के कोई साक्ष्य नहीं मिले हैं।

मामले की प्राथमिकता के आधार पर जांच कराई जा रही है।

डिस्क्लेमर (अस्वीकरण) : इस आलेख में व्यक्त किए गए विचार लेखक के निजी विचार हैं. इस आलेख में दी गई किसी भी सूचना की सटीकता, संपूर्णता, व्यावहारिकता अथवा सच्चाई के प्रति ATAL HIND उत्तरदायी नहीं है. इस आलेख में सभी सूचनाएं ज्यों की त्यों प्रस्तुत की गई हैं. इस आलेख में दी गई कोई भी सूचना अथवा तथ्य अथवा व्यक्त किए गए विचार #ATALHIND के नहीं हैं, तथा atal hind उनके लिए किसी भी प्रकार से उत्तरदायी नहीं है.

अटल हिन्द से जुड़ने के लिए शुक्रिया। जनता के सहयोग से जनता का मीडिया बनाने के अभियान में कृपया हमारी आर्थिक मदद करें।

Related posts

इस जिद के आगे है जानलेवा खड्डा

admin

14, 8 और 7 साल की मासूमों के साथ दरिंदगी

admin

HARYANA जाट आरक्षण आंदोलन में दर्ज मुकदमें वापस ले सरकार, नहीं तो करेंगे आंदोलन

admin

Leave a Comment

URL