Atal hind
चरखी दादरी टॉप न्यूज़ हरियाणा

घायल किसानों को सामाजिक संस्था मनीषा सांगवान फाउंडेशन द्वारा किया गया सम्मानित : सांगवान

पीपली लाठी चार्ज में घायल किसानों को सामाजिक संस्था मनीषा सांगवान फाउंडेशन द्वारा किया गया सम्मानित : कांग्रेस नेत्री मनीषा सांगवान

चरखी दादरी (Atal Hind)

कुरूक्षेत्र के पिपली में लाठीचार्ज के दौरान घायल हुए किसानों को दादरी की सामाजिक संस्था मनीषा सांगवान फाउंडेशन ने किया सम्मानित। मनीषा सांगवान फाउंडेशन चेयरपर्सन मनीषा सांगवान व अन्य सदस्यों ने लाठीचार्ज के दौरान घायल किसानों को उनके गांव में पहुंचकर आर्थिक सहायता प्रदान की।

गुडाना गांव के राजपाल को किसान गौरव अवार्ड से सम्मानित किया। इसके अलावा किसान गोपाल शर्मा, सतीश कुमार, नरेंद्र सिंह व रामपाल चहल को फाउंडेशन की तरफ से 11-11 हजार रूपए की आर्थिक सहायता व पगड़ी भेंट की।

घायल किसानों से जब मनीषा सांगवान फाउंडेशन चेयरपर्सन मनीषा सांगवान ने बात की तो उन्होंने बताया कि वे सभी पिपली में आयोजित रैली के दौरान तीन अध्यादेशों के विरोध में एकत्रित हुए थे। जहां सरकार के इशारे पर पुलिस ने उन पर लाठीचार्ज कर दिया। मनीषा सांगवान फाउंडेशन चेयरपर्सन मनीषा सांगवान ने कहा कि सांझी सरकार ने बेकसूर किसानों पर लाठी बरसाकर ब्रिटिश काल की याद को ताजा कर दिया। अंग्रेजी हूकूमत में इस तरह की बर्बरता देखने को अक्सर मिलती थी। लेकिन मौजूदा सरकार ने दमनकारी नीति अपनाते हुए लाठी के जोर से किसानों की आवाज को दबाने का घृणित काम किया है। मनीषा सांगवान ने मौजूदा सरकार में सत्तासीन डिप्टी सी.एम. लाठीचार्ज करवाते है और उनका छोटा भाई कहता है कि लाठीचार्ज की जांच की जाएं, जबकि बड़ा भाई लाठीचार्ज करवा रहा है। इस घटनाक्रम के बाद डिप्टी सीएम को नैतिकता के आधार पर अपने पद से त्यागपत्र दे देना चाहिए।

उन्होंने कहा कि लोकतंत्र में सभी को अपनी बात रखने का हक है। लेकिन सरकार द्वारा तानाशाह रवैया अपनाना किसी भी सूरत में जायज नहीं कहा जा सकता।

मनीषा सांगवान ने सभी किसानों से आह्वान किया कि पूरे देश की जनता किसानों के साथ है और हर संघर्ष में कंधे से कंधा मिलाकर सरकार की कुनीतियों का विरोध किया जाएगा। मनीषा सांगवान दादरी जिले की बात रखते हुए कहा कि प्रदेश के छोटे से छोटे हलके में भी आज सरकारी कालेज है। लेकिन दादरी को जिले का दर्जा मिलने के बाद भी कोई सरकारी कालेज जिला मुख्यालय पर नहीं हैं, जिसके चलते इस क्षेत्र के युवाओं को अन्य जिलों में जाकर शिक्षा ग्रहण करनी पड़ रही हैं। इसका सबसे ज्यादा आर्थिक नुकसान उनके अभिभावकों को भुगतना पड़ रहा है। इस अवसर पर हवासिंह बिगोवा, कर्ण सिंह मास्टर, जोगेंद्र, अमित दलाल, गोविंद फौगाट, समुंदर सिंह जाखड़, सुमन यादव सहित अन्य उपस्थित थे।

डिस्क्लेमर (अस्वीकरण) : इस आलेख में व्यक्त किए गए विचार लेखक के निजी विचार हैं. इस आलेख में दी गई किसी भी सूचना की सटीकता, संपूर्णता, व्यावहारिकता अथवा सच्चाई के प्रति ATAL HIND उत्तरदायी नहीं है. इस आलेख में सभी सूचनाएं ज्यों की त्यों प्रस्तुत की गई हैं. इस आलेख में दी गई कोई भी सूचना अथवा तथ्य अथवा व्यक्त किए गए विचार #ATALHIND के नहीं हैं, तथा atal hind उनके लिए किसी भी प्रकार से उत्तरदायी नहीं है.

अटल हिन्द से जुड़ने के लिए शुक्रिया। जनता के सहयोग से जनता का मीडिया बनाने के अभियान में कृपया हमारी आर्थिक मदद करें।

Related posts

मनदीप पुनिया की गिरफ़्तारी से आहत हूँ

admin

इंसान है कोई डांगर नहीं पीटीआई अध्यापक,हरियाणा में मंत्री जनता से बड़ा होता है क्या 

admin

हरियाणा सरकार की खिंचाई ,हाईकोर्ट (High court)ने लगाई फटकार

Sarvekash Aggarwal

Leave a Comment

URL