घोटाला कैसे करना है हरियाणा सरकार की अफसरशाही से सीख लीजिये ,मोटरसाइकिल से बनाई  सड़क और करवाई  खुदाई !

कमाल का यह घोटाला –

घोटाला कैसे करना है हरियाणा सरकार की अफसरशाही से सीख लीजिये

मोटरसाइकिल से बनाई गई सड़क और करवाई गई खुदाई !

रोड रोलर, जेसीबी, मोटरसाइकिल का रजिस्ट्रेशन नंबर एक.

मामला पहुंचा डिप्टी सीएम दुष्यंत चैटाला के सामने.

डिप्टी सीएम दुष्यंत चैटाला ने दिए जांच के आदेश

फतह सिंह उजाला

पटौदी । पटौदी क्षेत्र में एक ऐसा चैंकाने वाला घोटाला सामने आया है, जिसने देश के बहुत चर्चित चारा घोटाले की याद ताजा

करवा दी है । इसी कड़ी में करोना कॉल को याद करें तो मध्य प्रदेश से यूपी में मजदूरों के आवागमन के लिए भी वाहन भेजे गए थे।

इनकी जांच होने के बाद जो तथ्य सामने आए वह हैरान कर आने वाले थे। अब घोटाला तो घोटाला है । वह चाहे चारा घोटाले जैसा

हो या फिर कोरोना काल में मजदूरों के लिए भेजे गए वाहनों के मामले का हो ।

 

सीधी बात करते हैं पटौदी क्षेत्र की, यहां भी ऐसा ही एक सनसनीखेज घोटाला सामने आया है । इस घोटाले की शिकायत दोषियों

के खिलाफ कठोर कार्यवाही किया जाने के लिए हरियाणा के डिप्टी सीएम दुष्यंत चैटाला को दी गई । डिप्टी सीएम ने मामले को

बेहद गंभीरता से लेकर अविलंब जांच के आदेश कर रिपोर्ट तलब की है । पटौदी के खंड विकास एवं पंचायत विभाग के अधीन

गांवों में विकास के कार्य करवाए गए । इन विकास कार्यों में कहीं जमीन की खुदाई शामिल है, कहीं सड़क बनाने का काम है, तो

कहीं मिट्टी डालने के बाद उसको लेवल किए जाने का काम है । यह सब काम रोड रोलर और जेसीबी के बिना संभव ही नहीं और

इस पूरे खेल में जानकर हैरानी होगी कि रोड रोलर हो या फिर जैसी भी हो या फिर अन्य कोई वाहन इनके सभी के रजिस्ट्रेशन

नंबर एक ही हैं । इस बात का खुलासा पंचायत समिति सदस्य नरेश कुमार के द्वारा आरटीआई के माध्यम से मांगी गई जानकारी

में हुआ है ।


बहुत ही हैरानी की बात है कि रोड रोलर और जेसीबी व अन्य महान का मालिक अलग और रजिस्ट्रेशन नंबर बिल्कुल एक जैसे हैं ।

क्या यह संभव है की किसी मोटरसाइकिल से जमीन की खुदाई हो जाए, सड़क पर बनाने का काम भी मोटरसाइकिल से ही हो

और तो और जमीन को समतल कराने का काम भी मोटरसाइकिल ही कर दे ? आरटीआई के माध्यम से खंड विकास एवं पंचायत

कार्यालय के द्वारा दी गई जानकारी में जो दस्तावेज उपलब्ध करवाए गए हैं, उनमें जेसीबी ,रोड रोलर जैसे वाहनों का मालिक महेंद्र

पूत्र लायक राम के साथ-साथ सुरेश पुत्र सुमेर सिंह को बताया गया है । यहां दोनों वाहनों के मालिक अलग-अलग हैं , लेकिन नंबर

एचआर 76सी 4748 उपरोक्त वाहनों का एक ही बताया गया है । एच आर 76सी 4748 वाहन की रजिस्ट्रेशन की पटौदी अथॉरिटी

से जानकारी ली गई, सवाल यह उठता है वाहन संख्या एच आर 76सी 4748 वास्तव में होंडा मोटरसाइकिल है। न कि रोड रोलर है

जेसीबी है या अन्य कोई वाहन है ।

लेकिन कमाल की बात यह है कि एक मोटरसाइकिल से सड़क बनवाई गई, मिट्टी की खुदाई करवाई गई, और जमीन का लेवल भी

करवाया गया । इतना ही नहीं विधिवत रूप से बिल बना कर सारे काम का भुगतान भी किया गया है । इसी कड़ी में बोडड़़ा कला

गांव में राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय में इंटरलॉक टाइल लगाने के दौरान पानी के कैंटर मंगाए गए और और जमीन को

समतल कराने के लिए रोड रोलर भी चलाया गया । इस काम का भी भुगतान किया गया , भुगतान की रसीद पर न तो किसी के

हस्ताक्षर हैं, नहीं कोई मोबाइल नंबर भी लिखा गया है । पंचायत समिति सदस्य नरेश कुमार के मुताबिक इसी प्रकार के घोटाले

मिलीभगत करके आसपास की और भी ग्राम पंचायतों में किए गए हैं।

 

पटौदी एसडीएम ने किया तलब

हाल ही में डिप्टी सीएम दुष्यंत चैटाला बोहड़ा कला अपने राजनीतिक सचिव महेश चैहान के यहां पहुंचे थे। यहां जन शिकायतों की

सुनवाई की थी । इस पूरे घोटाले की दस्तावेजों के साथ शिकायत डिप्टी सीएम चैटाला को सौंपी गई । उन्होंने मामले की गंभीरता

को देखते हुए अविलंब जांच के आदेश दिए । इस मामले में पटौदी के एसडीएम कार्यालय के द्वारा पत्र क्रमांक 2073 एनसी 14

सितंबर के द्वार द्वारा पटौदी के खंड विकास एवं पंचायत अधिकारी तथा पंचायत समिति अध्यक्ष को दस्तावेजों सहित जांच में

शामिल होने के लिए तलब किया गया है। अब देखना यह है की जांच मे तलब दिए गए लोग/अधिकारी अपने बचाव में क्या और

कैसा पैंतरा अपनाते हैं ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »
error: Content is protected !! Contact ATAL HIND for more Info.
%d bloggers like this: