Atal hind
टॉप न्यूज़ फतेहाबाद हरियाणा

जाखल नगर पालिका प्रधान सीमा गोयल  के ससुर ने लगाई फांसी , 

जाखल नगर पालिका प्रधान सीमा गोयल  के ससुर ने लगाई फांसी ,

जाखल (अटल हिन्द ब्यूरो ) जाखल चेयरमैन प्रतिनिधि आत्महत्या या हत्या !
जाखल नगरपालिका चेयरमैन सीमा गोयल के खिलाफ अविश्वास मतदान से कुछ घंटे पहले चेयरमैन प्रतिनीधि एव चेयरमैन सीमा गोयल के ससुर द्वारा जाखल नगरपालिका चेयरमैन के कार्यालय में फांसी लगाकर आत्महत्या करने के मामले की पुलिस को गहनता से जांच करनी चाहिए यही नही पुलिस को जहां आत्महत्या नोट की गहनता से जांच करनी चाहिए वहीं इस बात की भी जांच करनी चाहिए कि आत्महत्या नोट लिखवाने में कौन कौन शामिल है कही यह आत्महत्या साजिशन हत्या तो नही ? पुलिस को इस बात का भी पता लगाना चाहिए जब नौहरचंद गोयल आज नगरपालिका में आए तो उनके साथ साथ कौन कौन थे क्या जब नौहरचंद ने गले में फंदा लगाया तो उस समय में भी कमरे में कोई मौजूद तो नही था ?।नोहर चंद ने सुसाइड नोट में मानसिक प्रताड़ना की पूरी दास्तां लिखते हुए 11 नपा पार्षदों सहित पार्षदों के कुछ परिजनों को स्वयं की मौत का जिम्मेदार बताया है। यहीं नहीं, बल्कि सुसाइड नोट में उन्होंने कुछ पार्षदों पर उन्हें ब्लैकमेल कर लाखों रुपये रकम वसूली करने एवं बार बार पैसों की मांग करने के गंभीर आरोप लगाए हैं।

 

इस मामले में पुलिस ने मृतक के पुत्र मुकेश कुमार उर्फ जग्गू की शिकायत पर आत्महत्या के लिए मजबूर करने के आरोप में केस दर्ज किया है। पुलिस ने मृतक के शव को पोस्टमार्टम के लिए टोहाना अस्पताल भेज दिया है। परिवार के लोगों ने पुलिस के समक्ष कार्रवाई की मांग करते हुए जिम्मेदारों पर कार्रवाई करने एवं सभी की गिरफ्तारी नहीं होने तक शव का अंतिम संस्कार करने से इंकार किया है।

 

 

 

https://www.facebook.com/atalhinddainik/videos/392910928511578/?modal=admin_todo_tour

 

 

 

क्या लिखा है सुसाइड नोट में
मृतक नोहर चंद के पास से मिले सुसाइड नोट में कहा गया है कि मेरे आत्महत्या करने का कारण जाखल नगरपालिका के सारे एमसी है। इन्होंने मेरा सारा कुछ लूट लिया है और रोटी के लिए मोहताज कर दिया है। मेरी पुत्रवधू सीमाराम नगरपालिका प्रधान बनी थी और कुछ एमसी ने मेरे से ब्लैकमेल करके बहुत पैसे लिए थे जिनमें हरविन्द्र सिंह (लाला) वार्ड नं. 1 ने 20 लाख, गोविंद राम एमसी वार्ड 6 ने 17 लाख रुपये, वार्ड नं. 7 स्वासती रानी ने 17 लाख रुपये, वार्ड नं. 8 विक्रम ने 20 लाख, वार्ड नं. 9 विक्रम सैनी ने 23 लाख, वार्ड नं. 11 अमित कुमार ने 20 लाख वोट पाने की एवज में ब्लैकमेल करके हड़प लिए थे और बार-बार बाद में भी बहुत रुपये ब्लैकमेल करके लेते रहे। 43 लाख रुपये विकास कामरा वार्ड नं. 10 हड़प गया है। सुसाइड नोट में कई पार्षदों के पैसे मांगने का आरोप लगाया गया है। मृतक ने लिखा कि अब जब वह पैसे देने में असमर्थ हो गया तो ये लोग सीमा रानी पर झूठा दोष लगाकर आज वोटिंग करवा रहे है। इसमें मास्टर माइंड प्रधानगी के दावेदार मोनिका गोयल एमपी वार्ड नं. 3, उसका पति अनिल कुमार काला, वार्ड 4 एमसी किरती गोयल आदि ने सीमा रानी के खिलाफ एफिडेविट देकर उस पर बहुत घटिया दोष लगाए थे। सीमा रानी ने आज जक कोई घोटाला नहीं किया है और सब दोष झूठे है।

Jakhal (Atal Hind Bureau), his father-in-law Noharchand Goyal, who was representing him before Friday’s no-confidence motion against Jakhal Municipality head Seema Goel, hanged himself in the office of Napa Pradhan, causing sensation in the municipality and the entire Jakhal city Nohar Chand, while writing the entire note of mental torture in the suicide note, has blamed some of the kin of the councilors, including 11 NAP councilors, for their own deaths. Not only this, but in the suicide note, he has made serious allegations against some councilors by blackmailing them to recover lakhs of rupees and demanding money repeatedly.

डीएसपी सुरेंद्र सिंह ने मामले की जांच कर आरोपितों पर सख्त कार्रवाई कर सभी को शीघ्र ही गिरफ्तार करने का आश्वासन दिया है। सूचना पाकर भारी पुलिस मौके पर पहुंच गई। डीएसपी बीरम सिंह ने भी मौके पर जाकर जांच की। प्राप्त जानकारी के अनुसार शहर के 13 में से 9 नपा पार्षदों द्वारा नपा अध्यक्ष सीमा गोयल को पद से हटाने हेतु अविश्वास प्रस्ताव पारित किया गया था, जिसका निर्णय शुक्रवार(यानि आज ) को होना था। इसके लिए सुबह 11 बजे का समय निर्धारण किया गया था।और  अविश्वास प्रस्ताव के लिए तमाम तैयारियां पूर्ण थी। लेकिन इससे पूर्व ही नपा अध्यक्ष के ससुर नोहरचंद गोयल ने नपा कार्यालय में पंखें से फंदा लगाकर आत्महत्या कर ली। इस घटना के बाद अविश्वास प्रस्ताव पर होने वाली बैठक को रद कर दिया गया।

डिस्क्लेमर (अस्वीकरण) : इस आलेख में व्यक्त किए गए विचार लेखक के निजी विचार हैं. इस आलेख में दी गई किसी भी सूचना की सटीकता, संपूर्णता, व्यावहारिकता अथवा सच्चाई के प्रति ATAL HIND उत्तरदायी नहीं है. इस आलेख में सभी सूचनाएं ज्यों की त्यों प्रस्तुत की गई हैं. इस आलेख में दी गई कोई भी सूचना अथवा तथ्य अथवा व्यक्त किए गए विचार #ATALHIND के नहीं हैं, तथा atal hind उनके लिए किसी भी प्रकार से उत्तरदायी नहीं है.

अटल हिन्द से जुड़ने के लिए शुक्रिया। जनता के सहयोग से जनता का मीडिया बनाने के अभियान में कृपया हमारी आर्थिक मदद करें।

Related posts

बेहद ही शर्मनाक 

admin

महिलाओ के खिलाफ अपराधों की रोकथाम”

admin

चौटाला का बड़ा खुलासा इनेलो की सरकार बनने पर दुष्यंत ही बनते सीएम

admin

Leave a Comment

URL