Atal hind
क्राइम जींद हरियाणा

जींद के अमरहेड़ी गांव में डॉक्यूमेंट राइटर संजीव गोयल की हत्या

जींद के अमरहेड़ी गांव में डॉक्यूमेंट राइटर संजीव गोयल की हत्या

जींद, 13 सितंबर(अटल हिन्द ब्यूरो )

शहर से सटे अमरहेड़ी गांव में रविवार देर शाम प्लाट की नींव भरते समय हुए विवाद में डॉक्यूमेंट राइटर संजीव

गोयल (52) की हत्या कर दी गई, जबकि उसका भतीजा पीयूष लाठी-डंडों से हुई पिटाई में गंभीर रूप से घायल

हो गया। उसे गंभीर हालात को देखते हुए पीजीआई रोहतक रैफर कर दिया।

घटना की सूचना मिलते ही सदर थाना पुलिस मौके पर पहुंची और शव को कब्जे में ले लिया। पुलिस ने इस

मामले में 7 लोगों को नामजद कर 7-8 अन्य के खिलाफ हत्या का केस दर्ज कर लिया है। शव का पोस्टमार्टम

सिविल अस्पताल में सोमवार सुबह होगा।

अर्बन इस्टेट निवासी संजीव गोयल पुरानी कचहरी स्थित डॉक्यूमेंट राइटर का काम करता था। वर्ष 2014 में

उसने गांव अमरहेड़ी निवासी सावित्री से 270 गज का प्लाट खरीदा था। प्लाट खरीदने के बाद सावित्री के

परिवारवालों ने उस जमीन पर अपना हक जताया। इसके बाद जमीन के दावे को लेकर अदालत में मामला

चलता रहा। बाद में संजीव गोयल के पक्ष में अदालती फैसला आया। रविवार को संजीव गोयल प्लाट की नींव

भरने के लिए मजदूरों को लेकर गया था। सुबह नींव भरने का काम शुरू किया तो इसी दौरान महिला के

परिवार से प्रेम और सतीश करीब 10-12 लोगों के साथ वहां पर पहुंचे। इस दौरान संजीव गोयल के साथ

कहासुनी होने के बाद सभी देख लेने की धमकी देकर चले गए थे। दोपहर बाद प्रेम, सतीश और उनकी मां

संतोष लगभग 10-12 लोगों को साथ लेकर वहां पर पहुंच गए और आते ही संजीव गोयल व उसके भतीजे पीयूष

पर लाठी व डंडों से हमला कर दिया। इसमें वह दोनों बूरी तरह से घायल हो गए। घायलों को शहर के सिविल

अस्पताल में लाया गया। जहां पर चिकित्सकों ने संजीव गोयल को मृत घोषित कर दिया। सदर थाना प्रभारी

दिनेश कुमार ने बताया कि मृतक के भतीजे अंकित के बयान पर सदर थाना पुलिस ने सतीश, प्रेमराज, रविंद्र,

हजारी, हजारी का लड़का और उनकी मां संतोष को नामजद कर 7-8 अन्य के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज

कर जांच शुरू कर दी।

डिस्क्लेमर (अस्वीकरण) : इस आलेख में व्यक्त किए गए विचार लेखक के निजी विचार हैं. इस आलेख में दी गई किसी भी सूचना की सटीकता, संपूर्णता, व्यावहारिकता अथवा सच्चाई के प्रति ATAL HIND उत्तरदायी नहीं है. इस आलेख में सभी सूचनाएं ज्यों की त्यों प्रस्तुत की गई हैं. इस आलेख में दी गई कोई भी सूचना अथवा तथ्य अथवा व्यक्त किए गए विचार #ATALHIND के नहीं हैं, तथा atal hind उनके लिए किसी भी प्रकार से उत्तरदायी नहीं है.

अटल हिन्द से जुड़ने के लिए शुक्रिया। जनता के सहयोग से जनता का मीडिया बनाने के अभियान में कृपया हमारी आर्थिक मदद करें।

Related posts

गंभीर बीमारियों से बच सकते है  काले गेहूं के इस्तेमाल से*

admin

IAS रानी नागर का इस्तीफा देने के बाद हुआ ये हाल ,जवान ने की सहायता  

Sarvekash Aggarwal

2 मंत्रियों के विरोध के बावजूद हरियाणा सरकार ने लिया शराब ठेके खोलने का फैंसला 

Leave a Comment

URL