टाटका के किसान द्वारा उगाई पीलें व बैंगनी रंग की गोभी बनी लोगों के आर्कषण का केंद्र

बाबैन, 8 अप्रैल (सुरेश अरोड़ा) : आधुनिकता के इस युग में प्रत्येक क्षेत्र में अनेक आयाम स्थापित होते जा रहे हैं और विज्ञान के प्रयोगों के कारण बाजार में अनेक प्रकार की किस्में प्रत्येक क्षेत्र में देखने को मिल रही है। बाबैन क्षेत्र के गांव टाटका के किसान रमन सैनी द्वारा अपने खेतों में उगाई गई पीलें व बैंगनी रंग की गोभी आजकल क्षेत्र के लोगों के आर्कषण का केंद्र बिंदू बनी हुई है।
बाजार में पहले केवल सफेद रंग की गोभी ही देखने को मिलती थी लेकिन कुछ साल पहले से बाजार में हरे रंग की ब्रोकली गोभी आई थी जिसे लोगों ने काफी पंसद किया था। अब बाजारों की मंडियों में बैगनी व पीले की गोभी की नई किस्म भी आ चुकी है जिसकी ओर गृहिणीयों का ज्यादा ध्यान आकर्षित हो रहा है। यह बैगनी व पीले रंग की गोभी जहां देखने में आकर्षक दिखती है वहीं इसके खाने के फायदे भी अधिक हैं जिससे बाजारों में इसकी मांग निंरतर बढ रही है। बाबैन क्षेत्र में भी एक किसान रमन सैनी टाटका ने अपने खेतों में बैगनी व पीले रंग की गोभी की फसल उगाई है जिसको अब वह शहर के बाजरों में बेचकर ज्यादा आमदन कमा रहा है। रमन सैनी ने बताया कि इस नई किस्म की गोभी के उगाने में कोई ज्यादा खर्च नहीं आता है और ना ही इस पर अलग से कीटनाशक प्रयोग किए जाते हैं। उन्होंने कहा कि इसकी बिजाई व रख-रखाव सफेद गोभी की तरह ही होता है लेकिन इससे आमदन सफेद गोभी के मुकाबले तीन गुणा ज्यादा हो रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *