Atal hind
टॉप न्यूज़ राष्ट्रीय

ट्रेन चलाने की तैयारी, दिल्ली-यूपी-हरियाणा और पंजाब पर रेलवे ट्रैक पर टेस्टिंग का काम शुरू

बड़े रूटों पर ट्रेन चलाने की तैयारी, दिल्ली-यूपी-हरियाणा और पंजाब पर रेलवे ट्रैक पर टेस्टिंग का काम शुरू

Preparing to run trains on major routes, Delhi-UP-Haryana and Punjab started testing on railway tracks

चंडीगढ़ (अटल हिन्द ब्यूरो )

 

हरियाणा। लॉकडाउन 3.0 के अंत में या उसके बाद सामान्य लोगों के लिए देश के कई हिस्सों में रेल सेवा शुरू की जा सकती है। खासतौर पर,दिल्ली, यूपी,हरियाणा और पंजाब में बड़े रूटों पर ट्रेन चलाने की तैयारी हो रही है।

ईमानदार  Haryana सरकार के अपने संतरी -मंत्रियों के खर्चे कैसे निकलेंगे ? जनता की तो बाद में सोचेंगे 

 

दिल्ली से लगते इन राज्यों के रेल मार्गों पर दो मई से ‘अल्ट्रासोनिक फ्लो डिटेक्शन’ टेस्टिंग का काम शुरू हो गया है। यह टेस्टिंग दो मई से लेकर 8 मई तक चलेगी। इन सभी ट्रैक पर इंजन के साथ लगी तीन बोगियों वाली ट्रेन दौड़ाई जाएगी। टेस्टिंग होने के बाद यहां सामान्य रेल सेवा चालू हो सकती है। रेल महकमे में परिचालन के जुड़े एक अधिकारी के अनुसार,नई दिल्ली एवं पुरानी दिल्ली से निकलने वाले सभी ट्रैक पर गाड़ियां चलाने की तैयारी हो रही है। दो मई को गाजियाबाद से पुरानी दिल्ली और नई दिल्ली वाले ट्रैक पर तीन बोगियों वाली गाड़ी दौड़ाई गई है।

HARYANA ने आपात सेवाएं देने वाले 750 रोडवेज चालकों ,का भुगतान रोका गया,रसीद संभालने के निर्देश

इस दौरान इंजीनियरिंग शाखा के अधिकारी और कर्मचारी मौजूद रहे। चार मई को दिल्ली एवं नई दिल्ली रेलवे स्टेशन से पानीपत तक,पांच मई को पलवल रूट पर,सात मई को दोबारा से पानीपत रूट और आठ मई को जाखल भठिंडा रूट पर ट्रैक का फाइनल ट्रायल किया जाएगा। इन सभी रूटों पर भी अल्ट्रासोनिक टेस्टिंग शुरू की गई है। अधिकारी बताते हैं कि दिल्ली-यूपी-हरियाणा-पंजाब रूट पर सामान्य लोगों के लिए ट्रेन चलाने से पहले लॉकडाउन 3.0 में श्रमिक स्पेशल ट्रेन चलाई जा सकती हैं।

 

 

इनमें दिल्ली से मुंबई,कोलकाता, जम्मू, पटना, लखनऊ, चेन्नई, जालंधर, लुधियाना और गुवाहाटी आदि रूट शामिल किए गए हैं। संबंधित राज्यों के मुख्यमंत्रियों की सलाह पर रेल मंत्रालय इन रूटों में कटौती या इजाफा कर सकता है।

 

 

शुक्रवार को लिंगमपल्ली से हटिया,अलुवा से भुवनेश्वर, नासिक से लखनऊ,नासिक से भोपाल, जयपुर से पटना और कोटा से हटिया के बीच श्रमिक स्पेशल ट्रेन चलाए जाने को मंजूरी मिली थी। इन ट्रेनों में अलग-अलग राज्यों में फंसे मजदूरों, तीर्थ यात्रियों, पर्यटकों छात्रों और अन्य लोगों को अपने राज्य तक पहुंचाया जाएगा।

Related posts

सावधान हो जाएं, आर्थिक निर्णय सोच समझ कर लें,अर्थव्यवस्था के बारे में अभी तक झूठ बोला जा रहा है। 

admin

गरीब का बच्चा ही तो मरा है ,किसी मुख्यमंत्री ,मंत्री ,सांसद , विधायक का तो नहीं था ना ,

Sarvekash Aggarwal

पीजीटी संस्कृत की भर्ती रद्द युवाओं और संस्कृत भाषा के साथ एक बड़ा धोखा

admin

Leave a Comment