Atal hind
Uncategorized

तरावड़ी-फंसी एंबुलैंस,ओवरलोडिड ट्राली से गिरी बोरियां, ओवरब्रिज पर दो घंटे जाम

ओवरलोडिड ट्राली से गिरी बोरियां, ओवरब्रिज पर दो घंटे जाम, फंसी एंबुलैंस
जाम की समस्या से निजात दिलाने में तरावड़ी पुलिस प्रशासन फेल
तरावड़ी, 20 नवम्बर (रोहित लामसर)। कस्बा तरावड़ी के रेलवे ओवरब्रिज पर जाम की समस्या आम हो गई है। रोजाना यहां पर जाम लगे रहने के कारण लोगों एवं वाहन चालकों को खासी परेशानी हो रही है। जाम लगने के बाद वाहनों की इतनी लंबी-लंबी कतारें लग जाती हैं, कि यहां से निकलना काफी मुश्किल हो जाता है। बुधवार दोपहर करीब पौने तीन बजे उस समय रेलवे ओवरब्रिज पर जाम की स्थिति पैदा हो गई, जब एक ओवरलोडिड ट्रैक्टर-ट्राली से बोरियां गिर गई और रास्ता अवरुद्ध हो गया। यह बोरियां काफी संख्या में बीच रास्ते में गिर गई जहां से ट्रैक्टर-ट्राली का भी निकलना मुश्किल हो गया। दूसरे वाहन चालकों को आने-जाने का रास्ता न मिल पाने के कारण जाम लग गया। जाम में वाहन बुरी तरह से फंस गए। यही नही तरावड़ी से करनाल जा रही एक निजी अस्पताल की एबुलैंस में जाम की चपेट में आ गई, जिससे मरीज को भी काफी परेशानी झेलनी पड़ी। रेलवे ओवरब्रिज पर जाम लगने के कारण करीब दो घंटे तक सौंकड़ा पुलिया व राष्ट्रीय राजमार्ग तक वाहनो की लंबी-लंबी कतारें लग गई। तरावड़ी में एक मामले की जांच करने आ रहे डी.एस.पी. जगदीप सिंह खुद जाम का शिकार हुए। उन्होंने भी काफी मशक्कत के बाद कार्रवाई की। आपको बता दें कि तरावड़ी में जाम की समस्या आम हो गई है। पुलिस प्रशासन जाम से मुक्ति दिलाने में फेल है।
https://play.google.com/store/apps/details?id=com.atalhind.smcwebsolution
  हमें ख़बरें Email: atalhindnews@gmail.com  WhatsApp: 9416111503/9891096150 पर भेजें (Yogesh Garg News Editor)  

बाक्स
सड़क पर खड़े ट्रक भी बन रहे जाम का कारण :- तरावड़ी के रेलवे ओवरब्रिज के बाद राष्ट्रीय राजमार्ग पर जाते समय सर्विस लेन पर खड़े ट्रक भी जाम का कारण बन रहे हैं। यहां पर राईस मिल होने के कारण कई दिनों से 20 से 30 की संख्या में ट्रक खड़े हुए हैं, जो अपनी बारी के इंतजार में हैं। इन ट्रकों के सड़क पर खड़े होने के कारण भी जाम की समस्या पैदा हो रही है। लोगों ने इस मामले की शिकायत कई बार पुलिस प्रशासन को दी, लेकिन पुलिस प्रशासन कोई कार्रवाई नही कर रहा है। लोगों ने गुहार लगाई है कि जो सड़क पर ट्रक खड़े हैं, उन्हें यहां से हटवाया जाए और जाम से मुक्ति दिलाई जाए।

 

डिस्क्लेमर (अस्वीकरण) : इस आलेख में व्यक्त किए गए विचार लेखक के निजी विचार हैं. इस आलेख में दी गई किसी भी सूचना की सटीकता, संपूर्णता, व्यावहारिकता अथवा सच्चाई के प्रति ATAL HIND उत्तरदायी नहीं है. इस आलेख में सभी सूचनाएं ज्यों की त्यों प्रस्तुत की गई हैं. इस आलेख में दी गई कोई भी सूचना अथवा तथ्य अथवा व्यक्त किए गए विचार #ATALHIND के नहीं हैं, तथा atal hind उनके लिए किसी भी प्रकार से उत्तरदायी नहीं है.

अटल हिन्द से जुड़ने के लिए शुक्रिया। जनता के सहयोग से जनता का मीडिया बनाने के अभियान में कृपया हमारी आर्थिक मदद करें।

Leave a Comment

URL