Atal hind
टॉप न्यूज़ पानीपत हरियाणा

ताई चंद्रो बनी दुष्यंत चौटाला के लिए नई समस्या

ताई चंद्रो बनी दुष्यंत चौटाला के लिए नई समस्या
panipat news। 2019 के विधानसभा चुनाव में ताई चंद्रो का नाम लेकर दुष्यंत चौटाला ने बुजुर्ग वोटरों का बड़ा आशीर्वाद और समर्थन हासिल किया था।
सरकार बनने पर दुष्यंत चौटाला ने ताई चंद्र को 5100 रुपए सम्मान पेंशन के रूप में देने का वायदा किया था।
दुष्यंत चौटाला की खुद की सरकार तो नहीं बनी लेकिन भाजपा के साथ गठबंधन सरकार के साझीदार जरूर बन गए।
दुष्यंत चौटाला चाह कर भी 5100 रुपए पेंशन का वादा पूरा नहीं कर पा रहे हैं लेकिन ताई चंद्रों से किया गया वादा उनके लिए गले की फांस बनता हुआ नजर आ रहा है।


विपक्षी दलों के अलावा मीडिया भी ताई चंद्रों का नाम लेकर दुष्यंत चौटाला से सवाल पूछना आरंभ कर चुका है।
आज पानीपत में कष्ट निवारण समिति की बैठक में दुष्यंत चौटाला से एक पत्रकार ने ताई चंद्रों का नाम लेकर 5100 पैंशन पर सवाल किया। इस सवाल का दुष्यंत चौटाला के पास कोई जवाब नहीं था इसलिए वे उसे अनदेखा करके निकल गए।
आगामी विधानसभा चुनाव तक ताई चंद्रो से किया गया वादा दुष्यंत चौटाला का पीछा नहीं छोड़ेगा और विपक्षी दल ताई चंद्रो के नाम को हर जगह उठाने का काम करेंगे।
दुष्यंत चौटाला को ताई चंद्रो से किए वायदे को पूरा करने या उसकी काट करने का कोई तरीका सोचना पड़ेगा।
अगर ताई चंद्र को वे संतुष्ट करने में सफल रहे तो आगामी विधानसभा चुनाव में दुष्यंत चौटाला फिर से बुजुर्गों का आशीर्वाद और समर्थन हासिल कर सकते हैं और अगर उनकी नाराजगी रही तो वह दुष्यंत चौटाला की पार्टी के खिलाफ वोट देने का काम करेंगे।
अब देखना यह है कि ताई चंद्रो रूपी इस नई समस्या का सामना वे किस तरह से करते हैं और उसका क्या समाधान निकालते हैं???
ताई चंद्र से किए गए वादे ने ही दुष्यंत चौटाला को 11 महीने की पार्टी में सत्ता का साझीदार बनाने में अहम भूमिका निभाई और अब यही ताई चंद्र उनकी राजनीति के अगले सफर और पायदान की दशा और दिशा तय करने का काम करेगी।

डिस्क्लेमर (अस्वीकरण) : इस आलेख में व्यक्त किए गए विचार लेखक के निजी विचार हैं. इस आलेख में दी गई किसी भी सूचना की सटीकता, संपूर्णता, व्यावहारिकता अथवा सच्चाई के प्रति ATAL HIND उत्तरदायी नहीं है. इस आलेख में सभी सूचनाएं ज्यों की त्यों प्रस्तुत की गई हैं. इस आलेख में दी गई कोई भी सूचना अथवा तथ्य अथवा व्यक्त किए गए विचार #ATALHIND के नहीं हैं, तथा atal hind उनके लिए किसी भी प्रकार से उत्तरदायी नहीं है.

अटल हिन्द से जुड़ने के लिए शुक्रिया। जनता के सहयोग से जनता का मीडिया बनाने के अभियान में कृपया हमारी आर्थिक मदद करें।

Related posts

हरियाणा के चार जिलोें में लग सकता कर्फ्यू,अनिल विज ने दिए साफ संकेत

Sarvekash Aggarwal

गंभीर बीमारियों से बच सकते है  काले गेहूं के इस्तेमाल से*

admin

कैथल  पोलिस ने तोड़ी अपराधियों की आर्थिक कमर ,चोरी और जुआ -सट्टा  बाजी  से 1921370 रूपये बरामद किये

admin

Leave a Comment

URL