तो  होगी मां-बाप को जेल ,माँ -बाप का क्या कसूर ,,जब बच्चे देखंगे पो ,,,,,,,,,,,,

माँ -बाप का क्या कसूर ,,जब बच्चे देखंगे पो ,,,,,,,,,,,,

बच्चों ने देखा पोर्न तो मां-बाप को जेल

So the parents will be jailed, what is the fault of the parents, when the children will see Po ,,,,,,,,,,

दुनिया में कोरोना ने आतंक मचा रखा है। लेकिन एक ऐसा देश है, जो ये दावा कर रहा है कि उसके यहां  कोरोना कदम नहीं रख पाया है। एक मरीज जो संक्रमित मिला भी था, उसे तानशाह ने गोली से उड़ा दिया। इसके बाद नॉर्थ कोरिया में कोरोना का एक भी मामला सामने नहीं आया। हालांकि, कई लोगों को इस बात पर यकीन नहीं है। कोरोना के बीच ये देश दूसरी कई वजहों से चर्चा में रहा। उसमें देश के तानाशह की मृत्यु की बात ने पूरी दुनिया का ध्यान खींचा। इस बात में सच्चाई नहीं निकली और तानशाह कुछ दिनों बाद लोगों के सामने आ गया। अब इस देश ने एक नए कानून को ईजाद कर लोगों का ध्यान खींचा है। नॉर्थ कोरिया ने सेक्सुअल एक्टिविटीज पर कंट्रोल  और जापानी पोर्न इंडस्ट्री को अपने देश में फैलने से रोकने के लिए कुछ सख्त नियम बनाए हैं।

नॉर्थ कोरिया ने सेक्सुअल ईमोरैलिटी को देश में पाप घोषित किया है। साथ ही विदेशी पोर्न को अपने देश के युवाओं को बिगाड़ने में योगदान देने वाला बताया। देश की राजधानी प्योंगयेंग से जारी हुए आर्डर में कहा गया कि ये पाया गया है कि इन दिनों युवा सेक्सयुअल अपराधों में अधिक संलिप्त दिखाई दे रहे हैं।

इस वजह से देश की छवि और भविष्य खराब हो रहा है। रेडियो फ्री एशिया में एक सोर्स ने बताया कि दुश्मन जानते हुए युवाओं को भटकाने की कोशिश कर रहा है। इस कारण अब स्कूलों को ये आदेश दिया गया है कि वो बच्चों के फोन को चेक करते रहे। अगर उसमें कोई भी पोर्न सम्बंधित चीज दिखे, तो उसकी सुचना सरकार को दी जाए।

अगर बच्चों के फोन से जापानी पोर्न या साउथ कोरिया और अमेरिका पोर्न मिले तो बच्चों के साथ उसके मां-बाप को जेल भेज दिया जाएगा। ऑर्डर में कहा गया कि ये पोर्न चीन से आने वाले फ़ोन्स और यूएसबी केबल्स से देश में फैलाए जा रहे हैं। इस वजह से युवाओं के स्मार्टफोन्स मॉनिटर किये जा रहे हैं। बता दें कि इस नियम के बाद अब स्टूडेंट्स में खौफ है। नॉर्थ कोरिया में जेल की सजा होने के बाद बेल होना काफी मुश्किल है.

सेंट्रल कमिटी ने बताया कि इन दिनों देश में मोबाइल का इस्तेमाल ज्यादा बढ़ा है। इसके  साथ ही युवाओं में आपराधिक गतिविधियां भी बढ़ी हैं। ऐसे में देश ने इसके खिलाफ सख्त नियम बनाए हैं। इसके साथ ही टीचर्स भी अब स्टूडेंट्स को लेकर काफी सजग हैं। सभी के मोबाइल चेक किये जा रहे हैं ताकि पोर्न मिल ना जाए। क्यूंकि अगर ऐसा होगा तो टीचर्स को भी सजा दी जाएगी। बता दें कि नॉर्थ कोरिया में बच्चों को ना के बराबर सेक्स एजुकेशन दी जाती है। ऐसे में बच्चे बड़े होकर कई तरह की बीमारी और गलत फ़हमियों के भी शिकार हो जाते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »
error: Content is protected !!
%d bloggers like this:
Breaking News