Atal hind
Uncategorized

दुष्यंत की लंच पार्टी में मनोहर-हुड्डा सहित कई दिग्गज पहुंचे, चाचा अभय नहीं आए

दुष्यंत की लंच पार्टी में मनोहर-हुड्डा सहित कई दिग्गज पहुंचे, चाचा अभय नहीं आए

06 नवम्बर । हरियाणा विधानसभा में मंगलवार को चाचा अभय सिंह चौटाला और भतीजे दुष्यंत चौटाला के बीच राजनीतिक तल्खियां साफ देखने को मिली। चाचा अभय सिंह जहां भतीजे द्वारा दिए गए लंच में शामिल नहीं हुए, वहीं उन्होंने 11 हजार रुपये मासिक बेरोजगारी भत्ता देने के भतीजे दुष्यंत के चुनावी वादे पर उन्हें घेरने की कोशिश की। राज्यपाल के अभिभाषण पर चर्चा के दौरान इनेलो विधायक अभय सिंह चौटाला की सत्ता पक्ष के विधायकों खासकर महीपाल ढांडा व निर्दलीय विधायक नयनपाल रावत से बहस हुई।

अभय चौटाला ने कई मुद्दों पर भाजपा पर तो तंज कसा ही, साथ ही जजपा को भी लपेटे में लेने की कोशिश की। अभय सिंह ने भतीजे की तरफ इशारा करते हुए कहा कि सरकार में सहयोगी जजपा ने रोजगार मिलने तक युवाओं को 11 हजार रुपये बेरोजगारी भत्ता देने का वादा किया था। अब भाजपा-जजपा गठबंधन की सरकार को यह भी स्पष्ट कर देना चाहिए कि यह राशि युवाओं को कब से मिलने वाली है।

अभय चौटाला विधानसभा परिसर में दुष्यंत चौटाला द्वारा दिए गए लंच में शामिल नहीं हुए, जबकि निर्दलीय विधायक रणजीत सिंह चौटाला लंच में पूर्व सीएम भूपेंद्र सिंह हुड्डा की बगल में बैठे दिखाई दिए। दुष्यंत चौटाला के साथ उनके भाई दिग्विजय चौटाला ने विधायकों की अगवानी की। मां नैना चौटाला भी लंच में शामिल हुई। मुख्यमंत्री मनोहर लाल की अगवानी उप मुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला व नैना चौटाला ने की। स्पीकर ज्ञानचंद गुप्ता और पूर्व स्पीकर कंवरपाल गुर्जर भी लंच में शामिल हुए।

भाजपा-जजपा गठबंधन की सरकार में सबसे सीनियर विधायक अनिल विज और दुष्यंत चौटाला की सदन में एक साथ सीट चर्चा का विषय बनी रही। सरकार से पहले दोनों एक दूसरे पर खुले हमलावर रह चुके हैैं। इससे जुड़े सवाल पर अनिल विज कहते हैैं कि जब सरकार में साझीदार हो जाएं तो इतनी लिबर्टी तो होनी ही चाहिए।

विधायकों की अगुवानी कर रहे दिग्विजय सिंह चौटाला ने भाजपा के सीनियर विधायक एवं पूर्व स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज के पांव छूकर उनका आशीर्वाद दिया। पिछली सरकार में टकराव के बाद क्या अब दुष्यंत भी आपसे मिले? इसके जवाब में अनिल विज ने कहा कि अब तो हर रोज मुलाकात होती ही रहेगी।

डिस्क्लेमर (अस्वीकरण) : इस आलेख में व्यक्त किए गए विचार लेखक के निजी विचार हैं. इस आलेख में दी गई किसी भी सूचना की सटीकता, संपूर्णता, व्यावहारिकता अथवा सच्चाई के प्रति ATAL HIND उत्तरदायी नहीं है. इस आलेख में सभी सूचनाएं ज्यों की त्यों प्रस्तुत की गई हैं. इस आलेख में दी गई कोई भी सूचना अथवा तथ्य अथवा व्यक्त किए गए विचार #ATALHIND के नहीं हैं, तथा atal hind उनके लिए किसी भी प्रकार से उत्तरदायी नहीं है.

अटल हिन्द से जुड़ने के लिए शुक्रिया। जनता के सहयोग से जनता का मीडिया बनाने के अभियान में कृपया हमारी आर्थिक मदद करें।

Leave a Comment

URL