Atal hind
झज्जर टॉप न्यूज़ हरियाणा

दो सौ साल पुराने विवाद को महापंचायत में सुलझाया

दो सौ साल पुराने विवाद को महापंचायत में सुलझाया

झज्जर। जिले के गांव डीघल व रोहतक जिले के गांव इस्माईला में पिछले करीब दो सौ साल से छिड़ी वर्चस्व की

लड़ाई रविवार को हुई पांच गांवों की महापंचायत में खत्म हो गई। इन दोनों ही गांवों में किसी पुरानी रंजिश को

लेकर पिछले करीब दो सौ साल से भारी विवाद था। न तो इन गांवों में आपस में रिश्तेदारी ही की जाती थी और

आपसी प्रेम, सदभाव व भाईचारा भी नहीं था। लेकिन रविवार को करीब दो घंटे गांव बरहाना गांव में चली

महापंचायत में इन दोनों ही गांवों के बीच दो सौ साल से चल रहे विवाद को सुलझा दिया गया।

इस महापंचायत में डीघल व ईस्माइला दोनों ही गांवों से काफी संख्या में मौजिज लोग यहां पंचायत में पहुंचे थे।

चूंकि विवाद को सुलझाने में गांव बरहाना मुख्य भूमिका निभा रहा था इसी के चलते न सिर्फ बरहाना गांव के

ग्रामीण बल्कि समीप के गांव गांगटान के ग्रामीणों ने भी काफी संख्या में भाग लिया। बराहना गांव के शीतला

माता मंदिर में आयोजित की गई इस पंचायत में दोनों ही तरफ से अपनी-अपनी बातें रखी गई। लेकिन बाद में

पंचायत में रखी गई मुख्य वक्ताओं द्वारा अपने-अपने तर्क से सहमत होते हुए डीघल व ईस्माइला गांव में

सुलहनामा करा दिया गया। दोनों गांवों के मौजिज लोगों के आपस में हाथ व गले मिलवा कर मेल-मिलाप

कराया और आपसी विवाद को खत्म कराया गया। अहलावत खाप 27 के प्रधान जय सिंह ने बताया कि गिज्जी

और इस्माईला गांव के साथ डीघल व गांगटान गांव में करीब दो सौ वर्षो से विवाद था। इन गांवों में आपस में

रिश्तेदारियां भी नहीं होती थी। रविवार को बरहाना गांव ने मध्यस्थता करते हुए चारोेें गांवों की पंचायत हुई।

जिसमें फिर से चारों गांवों का भाईचारा कायम हो गया है।

डिस्क्लेमर (अस्वीकरण) : इस आलेख में व्यक्त किए गए विचार लेखक के निजी विचार हैं. इस आलेख में दी गई किसी भी सूचना की सटीकता, संपूर्णता, व्यावहारिकता अथवा सच्चाई के प्रति ATAL HIND उत्तरदायी नहीं है. इस आलेख में सभी सूचनाएं ज्यों की त्यों प्रस्तुत की गई हैं. इस आलेख में दी गई कोई भी सूचना अथवा तथ्य अथवा व्यक्त किए गए विचार #ATALHIND के नहीं हैं, तथा atal hind उनके लिए किसी भी प्रकार से उत्तरदायी नहीं है.

अटल हिन्द से जुड़ने के लिए शुक्रिया। जनता के सहयोग से जनता का मीडिया बनाने के अभियान में कृपया हमारी आर्थिक मदद करें।

Related posts

पेहवा पुलिस थाने में जमकर चले लात घूंसे 

admin

क्या है अधिकमास, कब आता है, जानिए इसका पौराणिक आधार

admin

बलात्कारी कथावाचक असाराम बापू पर पुस्तक गनिंग फॉर द गॉडमैन प्रकाशित होगी।

admin

Leave a Comment

URL