Atal hind
जींद टॉप न्यूज़ साहित्य/संस्कृति हरियाणा

नरवाना के गैबी साहिब मंदिर में श्रीमद् भागवत कथा का आयोजन शुरू

नरवाना के गैबी साहिब मंदिर में श्रीमद् भागवत कथा का आयोजन शुरू
शहर में निकाली गई विशाल शोभा यात्रा
हजारों महिलाएं सिर पर कलश उठा कर शोभा यात्रा में हुई शामिल
श्रीमद् भागवत कथा सुनना पुण्य का कार्य : राजेंद्र महाराज
नरवाना, 27 फरवरी (राजीव) :

Srimad Bhagwat Katha begins in Gabi Sahib temple of Narwana
Huge Shobha Yatra taken out in the city
Thousands of women joined the Shobha Yatra by raising the urn on their heads
Listening to Shrimad Bhagwat Katha is a work of virtue: Rajendra Maharaj

शहर के प्रसिद्ध एवं ऐेतिहासिक गैबी साहिब मंदिर के स्थापना दिवस व वार्षिकोत्सव के मौके पर रविवार से मंदिर परिसर में श्रीमद् भागवत कथा का आयोजन शुरू हुआ। गैबी साहिब मंदिर के महंत अजय गिरी जी महाराज के सान्निध्य में श्री मुरली निकुंज धाम वृंदावन से पधारे प्रसिद्ध भागवताचार्य राजेंद्र जी महाराज ने अपने मुखारविंद से श्रीमद् भागवत कथा का गुणगान शुरू किया।

 

कथा शुरू होने से पूर्व शहर में विशाल शोभा यात्रा निकाली गई। बैंडबाजों के साथ निकाली गई यह शोभा यात्रा पतराम नगर में स्थित अग्रवाल धर्मशाला से शुरू हुई जोकि रेलवे रोड, महाराजा अग्रसैन चौंक, अपोलो चौंक, भगतसिंह चौंक, पंजाबी चौंक, मोरपत्ती से होती हुई गैबी साहिब मंदिर में पहुंची। शोभा यात्रा में हजारों महिलाएं सिर पर कलश उठा कर शामिल हुई। शोभा यात्रा में मां भगवती, वीर हनुमान, राधा-कृष्ण व शिव पार्वती की सुंदर झांकियां निकाली गई। शोभा यात्रा में महंत अजय गिरी जी महाराज, कथावाचक भागवताचार्य राजेंद्र जी महाराज व आचार्य धमेंद्र जी महाराज फूलों से सजे रथ पर विराजमान रहे। कथा के प्रथम दिन मुख्य यजमान के रूप में समाजसेवी रामकुमार गोयल व नरेश गोयल ने विधिवत् रूप से पूजा अर्चना करवाई। शोभा यात्रा के गैबी साहिब मंदिर में पहुंचने के बाद राजेंद्र जी महाराज ने बाबा गैबी साहिब मंदिर में पहुंच कर मत्था टेका। कार्यक्रम में पहुंचे हजारों लोगों ने भी गैबी साहिब मंदिर में मत्था टेक कर पूजा अर्चना की। उसके बाद राजेंद्र जी महाराज ने अपने प्रवचनों में कहा कि श्रीमद् भागवत कथा सुनना बड़ा पुण्य का कार्य है। उन्होंने कहा कि प्रभु की भक्ति करने व उनका स्मरण करने से मनुष्य जीवन में दुखों का नाश होता है। उन्होंने कहा कि मनुष्य को निस्वार्थ भाव से प्रभु की भक्ति करनी चाहिए। इस अवसर पर मंदिर परिसर में भंडारा भी लगाया गया जिसमें भारी तादाद में लोगों ने प्रसाद ग्रहण किया। इस मौके पर महेंद्र पाल गर्ग, रामकुमार गोयल, नरेश गोयल, तरसेम शर्मा, रामचंद्र मिर्धा, सुभाष चहल, काकू शर्मा, सुरेश मोर, भलेराम मोर, जयदेव मोर, मा. सेवा सिंह, रामफल मोर, विनोद मंगला, धर्मपाल गर्ग, अर्जुन गोयल, पुनीत गोयल, सतीश गोयल, बंटी शर्मा, अचल मित्तल व पं. रोशनलाल शर्मा वेदपाठी सहित अनेक लोग मौजूद रहे।

डिस्क्लेमर (अस्वीकरण) : इस आलेख में व्यक्त किए गए विचार लेखक के निजी विचार हैं. इस आलेख में दी गई किसी भी सूचना की सटीकता, संपूर्णता, व्यावहारिकता अथवा सच्चाई के प्रति ATAL HIND उत्तरदायी नहीं है. इस आलेख में सभी सूचनाएं ज्यों की त्यों प्रस्तुत की गई हैं. इस आलेख में दी गई कोई भी सूचना अथवा तथ्य अथवा व्यक्त किए गए विचार #ATALHIND के नहीं हैं, तथा atal hind उनके लिए किसी भी प्रकार से उत्तरदायी नहीं है.

अटल हिन्द से जुड़ने के लिए शुक्रिया। जनता के सहयोग से जनता का मीडिया बनाने के अभियान में कृपया हमारी आर्थिक मदद करें।

Related posts

कैथल में आठ महिलाएं और चार पुरुष आपत्तिजनक हालत में मिले

admin

चिकित्सा सुविधा को लेकर हरियाणा की जनता चिंता ना करे ,क्योंकि हरियाणा में गठबंधन सरकार है। 

admin

हरियाणा के स्कूल मास्टर श से शराबी  ,मनोहर सरकार भी बड़ी अजीब है 

admin

Leave a Comment

URL