नशा मुक्ति केंद्र मेंं कालांवाली के युवक की मौत मामले में तीन आरोपी गिरफ्तार

  • नशा मुक्ति केंद्र मेंं कालांवाली के युवक की मौत मामले में तीन आरोपी गिरफ्तार
सिरसा(atal hind ) नशा मुक्ति केंद्र संगरिया में कालांवाली निवासी मनदीप कुमार उर्फ प्रिंस की हत्या मामले में संगरिया थाना पुलिस ने तीन आरोपियों को भादंसं की धारा 304, 344, 34 के तहत गिरफ्तार किया है। गिरफ्तार आरोपियों की पहचान संचालक अरविंद बिश्नोई पुत्र रमेश कुमार निवासी पीरकामडिय़ा, अशोक कुमार पुत्र राजेंद्र कुमार निवासी अबूबशहर हाल संगरिया, सिद्धार्थ उर्फ कानाराम पुत्र मुकेश निवासी जंडवाला बिश्रोईयान के रूप मेंं हुई है। मामले के अनुसार कालांवाली निवासी मनदीप कुमार उर्फ प्रिंस की नशा मुक्ति केंद्र संगरिया में दी गई यातनाओंं से मौत हो गई। पूरे मामले को लेकर मृतक के पिता हेमराज ने संगरिया थाना पुलिस को अवगत करवाया। पुलिस को दिए बयानों में मृतक के पिता हेमराज ने बताया कि उसने 17 दिसंबर को अपने 19 वर्षीय पुत्र मनदीप को आर.सी.बी नशा मुक्ति केंद्र संगरिया में भर्ती करवाया था। बीती 29 दिसंबर को शाम करीब साढ़े चार बजे उसके पास फोन आया और बेटे का हालचाल ठीक बताया गया। शाम 7 बजे बेटे की हालत गंभीर बताई गई और अगले दिन वे नशा मुक्ति केंद्र में पहुंचे तो बताया गया कि लड़के की लाश सरकारी अस्पताल में पड़ी है, ले जाओ। वे जब सरकारी अस्पताल पहुंचे तो उसके पैरों के नीचे से जमीन खिसक गई। मनदीप के शरीर पर कई चोटे, नीचे का हिस्सा व पीछे का हिस्सा जला हुआ था। ऐसा प्रतीत हुआ कि मृतक मनदीप कुमार को यातानाएं दी गई हो। संगरिया थाना पुलिस ने हेमराज की शिकायत पर अरविंद बिश्नोई, अंकुश बिश्नोई, रमेश, कानाराम व 2 अन्य लोगों के खिलाफ हत्या का अभियोग दर्ज कर मामले की जांच शुरू की। संगरिया थाना पुलिस ने अब मामले के तीन आरोपियों को गिरफ्तार किया है, जबकि अन्य आरोपियों की गिरफ्तारी की मांग भी पीडि़त परिवार ने की है। मामले के तीन आरोपियों की गिरफ्तारी होने से पीडि़त परिवार मेंं न्याय की आस जगी है। मृतक के पिता हेमराज ने यह भी कहा कि अपने पुत्र के हत्यारों को किसी भी सूरत में माफ नहीं करेंगे और सख्त से सख्त सजा दिलाने के लिए वे हर कानूनी लड़ाई लड़ेंगे। मृतक के पिता हेमराज व भाई अमनदीप मक्कड़ ने यह भी बताया कि उसके पुत्र की मौत किसी हादसे में नहीं हुई, बल्कि हत्या हुई है। पुलिस ने आरोपियों को धारा  304, 344, 34 के तहत गिरफ्तार किया है, जबकि आरोपियों की गिरफ्तारी धारा 302 व 143 के तहत गिरफ्तार किया जाना चाहिए था। इसे लेकर वह वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों से मिलकर कार्रवाई की मांग करेंगे।इस मामले मेंं संगरिया थाना प्रभारी इंद्र कुमार से बात की गई तो उन्होंने बताया कि मामले में तीन आरोपियों को गिरफ्तार किया गया है। आरोपियों को अदालत मेंं पेश किया जाएगा और रिमांड हासिल किया जाएगा। रिमांड अवधि केदौरान मामले से जुडे अन्य पहलुओं की पूछताछ की जाएगी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *