नागरिकता संशोधन कानून तर्कसंगत और मानवीय : रीतिक वधवा 

नागरिकता संशोधन कानून तर्कसंगत और मानवीय : रीतिक वधवा

 

 

भिवानी(atal hind)भाजपा नेता रीतिक वधवा  ने कहा कि नागरिकता संशोधन कानून (सीएए)के बारे में लोगों तक सही जानकारी पंंहुचाने के लिए भाजपा द्वारा 5 जनवरी से प्रदेश भर में जागरूकता महा अभियान चलाया जा रहा है इसी कड़ी में भिवानी में भी जागरूकता अभियान चलाया गया! नागरिकों से उनके घर में मिलकर उनको पम्पलेट देकर और बातचीत कर जागरूक किया।  इस अवसर पर भाजपा नेता रीतिक वधवा ने कहा  कि संशोधित नागरिकता कानून पीड़ित लोगों को नागरिकता देने का कानून है, किसी की नागरिकता छीनने का नहीं। इस कानून के तहत पाकिस्तान, अफगानिस्तान, बांग्लादेश के अल्पसख्ंयक हिंदू, बौद्ध, जैन ईसाई आदि धर्म के लोग वहां पीडि़त हुए और किसी तरह परेशान होकर भारत पहुंच गए। मानवता के आधार पर इन पीड़ित लोगों को नागरिकता देकर मोदी सरकार ने भलाई का कार्य किया है। उनका कहना था कि यह बात विपक्षी दल नहीं बता पा रहे, केवल विरोध के नाम विरोध करना, लोगों को बहकाकर देश की संपत्ति को नुकसान पंहुचाना ठीक नहीं है। सही मायनों में देश की संपत्ति जलाना देश विरोधी कार्य है।  उन्होंने कहा कि मोदी सरकार ने देश हित में फैसले लिए हैं। नागरिकता संशोधन कानून मानवता के नाते लिया गया है, जो हमारे हिन्दू, बौद्ध, जैन और ईसाई भाई पाकिस्तान, अफगानिस्तान और बांग्लादेश में पीडि़त हुए उनको नागरिकता देकर उनको न्याय देने का काम मोदी सरकार ने किया है।उन्होंने कहा कि कांग्रेस के बड़े नेता अपने राज में इस बात की वकालत करते थे कि इन पीड़ितों को नागरिकता मिलनी चाहिए लेकिन सस्ती वोट बैंक की राजनीति के चलते हिम्मत नहीं जुटा पाए। अब मोदी सरकार ने  साहसिक निर्णय लिया है तो विरोध कर रहे हैं, यह कांग्रेस दोगला चरित्र और चेहरा है। हम  घर-घर जाकर इनकी असलियत बताएंगे।   उन्होंने कहा  ने कहा कि मोदी सरकार देश हित में कोई भी बड़ा निर्णय लेती है तो कुछ लोग परेशान होते हैं, लेकिन तर्क संगत नहीं है। उन्होने कहा कि एनआरसी और एनपीआर को लेकर ये लोग परेशान है जबकि पहले ये पक्षकार रहे हैं। सीएए तर्क संंगत है, हमारी महती जिम्मेदारी को निभाने का कानून है। देश के किसी नागरिक और बासिंदे से हक छीनने का कानून नहीं है।इस अवसर पर ,रमेश चौधरी, मनीष , रामौतार बंसल, राजेश कुमार, पंकज शर्मा , सतीश कुमार, विजय कुमार, दीपक कुमार, विनोद कुमार , नवीन वशिष्ठ , प्रवीण कुमार , नीरज , कमल , सुनील, अमित कुमार, राजेश यादव, अनिल , डा. योगेश, राजेंद्र  कुमार, अरविंद कुमार, मा. टेकचंद शर्मा, महाबीर शर्मा, जगदीश शर्मा, राजीव शर्मा, राजेश , विजय कुमार, भी उपस्थित रहे

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *