नागौर में दबंगों द्वारा बेल्टों से बुरी तरह पिटाई और गुप्तांग में पेट्रोल डालने का वीडयो वारयल हुआ।  

नागौर की बर्बरतापूर्ण घटना पर राहुल गांधी के ट्वीट के बाद राजस्थान की कांग्रेस सरकार में हड़कंप।
नागौर में दबंगों द्वारा बेल्टों से बुरी तरह पिटाई और गुप्तांग में पेट्रोल डालने का वीडयो वारयल हुआ।

नागौर (अटल हिन्द ब्यूरो )राजस्थान के नागौर जिले के पांचौड़ी थाना क्षेत्र में कुछ दबंगों द्वारा दो दलित युवकों को बेल्टों से बुरी तरह पिटने और गुप्तांग में पेट्रोल डालने की घटना पर कांग्रेस के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी के ट्वीट के बाद राजस्थन की कांग्रेस सरकार में हड़कंप मच गया। 20 फरवरी को मुख्यमंत्री अशोक गहलोत को विधानसभा में बजट भाषण के तुरंत बाद ट्विटर पर ही अपनी सफाई देनी पड़ी। सीएम गहलोत ने राहुल गांधी को भरोसा दिलाया कि इस भयानक और बर्बरतापूर्ण कृत्य के किसी भी दोषी को बक्शा नहीं जाएगा अब तक सात आरोपियों को गिरफ्तर कर लिया गया है। दोषियों को कानून के अनुसार सजा मिलेगी। हम सुनिश्चित करेंगे कि पीडि़तों को न्याय मिले। इससे पहले सुबह गहलोत ने प्रदेश प्रभारी महासचिव अविनाश पांडे से फोन पर बात कर सरकार की अब तक की कार्यवाही से अवगत कराया। इधर सीएम गहलोत ने ट्विटर पर राहुल गांधी को सफाई दी तो राज्य के पुलिस महानिदेशक ने अजमेर रेंज के आईजी संजीव नार्जरी को मौके पर जाने के आदेश दिए।

असल में सोशल मीडिया पर दबंगों की बर्बरता का वीडियो देखने के बाद ही राहुल गांधी ने ट्ीवट किया था। राहुल ने कहा कि नागौर में दलित पुरुषों के साथ क्रूरतापूर्ण वीडियो भयानक है, मैं राज्य सरकार से न्याय दिलाने के लिए तत्काल कार्यवाही का आग्रह करता हंू। चूंकि यह ट्वीट राहुल गांधी की ओर से किया गया था, इसलिए पूरी सरकार में हड़कंप मच गया। मालूम हो कि गृहविभाग भी मुख्यमंत्री के पास ही है, इसलिए नागौर की घटना की जिम्मेदारी भी मुख्यमंत्री पर ही आती है। एक ओर घटना को लेकर सरकार में हड़कंप मचा हुआ है तो दूसरी ओर पांचौड़ी थानाधिकारी को निलंबित करने, पीडि़तों को मुआवजा देने दोषियों को सजा दिलवाने आदि की मांगों को लेकर क्षेत्र में धरना शुरू हो गया है। दलित समुदाय से जुड़े लोगों का कहना है कि पुलिस के संरक्षण के कारण ही दबंग वर्ग ऐसी बर्बरता दलितों पर करता है। पुलिस ने अब तक भीम सिंह, आईदान सिंह, जस्सु सिंह, सवाई सिंह, लक्ष्मण सिंह व हनुमान सहित सात आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है।
भाजपा को मिलेगा मौका:
नागौर की बर्बरतापूर्ण घटना को अब भाजपा राष्ट्रीय स्तर पर उठाएंगी। नागौर के सांसद और आरएलपी के संयोजक हनुमान बेनीवाल ने पहले ही इस मुद्दे पर गहलोत सरकार की आलोचना की है। आरएलपी केन्द्र में भाजपा समर्थन दे रही है। आमतौर पर देखा गया है कि भाजपा शासित राज्यों में होने वाली ऐसी घटनाओं पर राहुल गांधी सीधे प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को कठघरे में खड़ा करते हैं। इसलिए अब ये माना जा रहा है कि भाजपा भी इस मुद्दे पर कांग्रेस पर राजनीतिक हमला करेगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *