Atal hind
टॉप न्यूज़ महेंद्रगढ़ हरियाणा

नारनौल बार कार्यकारिणी का विवाद , गबन के आरोप बेबुनियाद, मानहानि का दावा करेंगे

नारनौल बार कार्यकारिणी का विवाद , गबन के आरोप बेबुनियाद, मानहानि का दावा करेंगे

नारनौल,(अटल हिन्द /रामचंद्र सैनी):

नारनौल बार एसोसिएशन की कार्यारिणी का कार्यकाल बढ़ाने का विवाद गहरा गया है। एसोसिएशन के प्रधान पद के प्रत्याशी यशवंत यादव द्वारा मौजूदा कार्यकारिणी का कार्यकाल बढ़ाने के पीछे  21 लाख रुपये का गबन लगाकर बार काउंसिल चंडीगढ़ को एक शिकायत भेजी गई थी। जिसमें मंत्री कोटे से लॉक डाउन पीरियड में आये 21 लाख रुपये को गलत तरीके से खर्च करने का आरोप लगाया गया था। शिकायत में गलत तरीके से प्रस्ताव पास करके वर्तमान कार्यकारिणी का कार्यकाल बढ़ाने वाले प्रस्ताव रद्द करने तथा वर्तमान चुनाव अधिकारी की जगह नया चुनाव अधिकारी नियुक्त करने की मांग बार काउंसिल चंडीगढ़ से की गई थी। यह शिकायत मीडिया की सुर्खिया बनने के बाद आज बृहस्पतिवार को प्रधान अशोक यादव व चुनाव अधिकारी ओमप्रकाश यादव मीडिया के सामने खुलकर आये।

चुनाव अधिकारी एडवोकेट ओमप्रकाश यादव मांदी वाले ने कहा कि उन्होंने किसी भी तरह से अपने पद का दुरूपयोग नहीं किया है। चुनाव अधिकारी ने कहा है कि बार एसोसिएशन की बैठक में सर्वसम्मति से पास किए प्रस्ताव के बाद ही वर्तमान कार्यकारिणी का कार्यकाल बढ़ाकर प्रस्ताव चंडीगढ़ भेजा गया है। उन्होंने यह भी कहा गत 14 सितंबर को हुई बैठक में आरोप लगाने वाला प्रत्याशी तथा अन्य सभी प्रत्याशी भी उपस्थित थे। सभी ने बैठक उपस्थिति रजिस्टर में हस्ताक्षर भी किए थे। उन्होंने कहा कि उस समय ना तो किसी सदस्य और ना ही किसी प्रत्याशी ने  कार्यकारिणी का कार्यकाल बढ़ाने का विरोध नहीं किया था, अब जो बातें की जा रही है वो अनर्गल है। चुनाव अधिकारी ने यह भी कहा कि वे चुनाव करवाने तक सीमित है। मंत्री की ग्रांट से और बार एसोसिएशन की किसी भी खरीद प्रक्रिया से उनका कोई वास्ता नहीं है। फिर गबन का सवाल कहा से आ गया।

बार एसोसिएशन के प्रधान अशोक यादव ने कहा कि उनकी कार्यकारिणी का कार्यकाल नियमानुसार बार की बैठक में सर्वसम्मति से बढ़ाया गया है। उन्होंने कहा कि वे अपने एक साल के कार्यकाल का हिसाब मार्च में दे चुके हैं और रही बात मंत्री कोटे से आई 21 लाख रुपये की राशि का हिसाब किताब तो वो कोई भी सदस्य किसी भी समय ले सकता है। उन्होंने कहा कि उन पर गबन का आरोप लगाने वालों को उनकी प्रतिष्ठा पच नहीं रही है। इसलिए उन पर इस तरह के आरोप लगाकर उन्हें बदनाम किया जा रहा है। अशोक यादव ने कहा कि उन पर गबन का आरोप लगाने वालों के खिलाफ वे कानूनी कार्रवाई करेंगे और मानहानि का दावा करेंगे। साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि यदि कोई उन पर एक भी पैसे के गबन का आरोप सिद्ध कर दें तो वे अपनी वकालत ही छोड़ देंगे। वही वरिष्ठ अधिवक्ता जसबीर ढिल्लो ने कहा कि प्रधान और चुनाव अधिकारी पर लगाए जा रहे सभी आरोप निराधार है। कार्यकाल बढ़ाने का निर्णय पूरी बार ने सर्वसम्मति से लिया है तथा बार के सभी वकील मजबूती के साथ प्रधान और चुनाव अधिकारी के साथ खड़े हैं।

इस मौके पर बार एसोसिएशन के पूर्व प्रधान हरिराम सैनी, वीरेंद्र यादव, जसबीर ढिल्लो, नरेंद्र सिंह यादव, केशन संघी, कृष्ण महता, सुभाष यादव, विजय यादव आदि एडवोकेट भी उपस्थित थे।

डिस्क्लेमर (अस्वीकरण) : इस आलेख में व्यक्त किए गए विचार लेखक के निजी विचार हैं. इस आलेख में दी गई किसी भी सूचना की सटीकता, संपूर्णता, व्यावहारिकता अथवा सच्चाई के प्रति ATAL HIND उत्तरदायी नहीं है. इस आलेख में सभी सूचनाएं ज्यों की त्यों प्रस्तुत की गई हैं. इस आलेख में दी गई कोई भी सूचना अथवा तथ्य अथवा व्यक्त किए गए विचार #ATALHIND के नहीं हैं, तथा atal hind उनके लिए किसी भी प्रकार से उत्तरदायी नहीं है.

अटल हिन्द से जुड़ने के लिए शुक्रिया। जनता के सहयोग से जनता का मीडिया बनाने के अभियान में कृपया हमारी आर्थिक मदद करें।

Related posts

सिगरेट पीते हुए ही वह आकर जैसे पोज देने की अदा में अपनी कार के बोनट पर खड़ी हो गई-एस के यादव

Sarvekash Aggarwal

BIG BREKING-HARYANA भाजपा नेता ने होटल की छत से मारी छलांग ?

Sarvekash Aggarwal

हरियाणा  में फंसे सात लाख मजदूरों (laborers)को बुलावे का इंतजार

Sarvekash Aggarwal

Leave a Comment

URL