पटियाला में निहंगों ने मचाया आतंक, पुलिस अधिकारी की काटी क्लाई, दो को किया जख्मी

पटियाला में निहंगों ने मचाया आतंक, पुलिस अधिकारी की काटी क्लाई, दो को किया जख्मी

पटियाला, अखिलेश बंसल:

रविवार सुबह पंजाब के मुख्यमंत्री को होमसिटी में पटियाला-सनौर रोड पर बनी बड़ी सब्जी मंडी के बाहर मेन गेट पर निहंगों ने पुलिस पर हमला कर दिया। वहां ड्यूटी पर तैनात एएसआई हरजीत सिंह की बाजू से क्लाई काट अलग कर दी, जबकि थानेदार और एक अन्य मुलाजिम को गंभीर रूप से जख्मी कर दिया। घटनास्थल के पास के गांव स्थित गुरुद्वारा में छिप गए। उसके बाद एडीजीपी के नेतृत्व में कमांडो पुलिस के साथ पहुंचे आईजीपी पटियाला द्वारा दी गई चेतावनी के बावजूद हमलावर निहंगों ने कमांडो पुलिस पर गोलीबारी शुरु कर दी। इस घटनाक्रम में निहंग भी घायल हो गया। घटना सुबह करीब 6 बजे की है। करीब दो घंटे के आप्रेशन के बाद पुलिस ने गुरुद्वारा के रिहायशी क्वार्टरों में से एक महिला सहित 11 निहंगों को हिरासत में लिया उनके खिलाफ विभिन्न धाराओं के तहत मामला दर्ज कर लिया। पुलिस ने निहंगों के पास से 39 लाख रुपए की नकदी भी बरामद की है। उधर घायल हुए थानेदार को पीजीआई चंडीगढ़ रेफर कर दिया गया है जबकि घायल हुए थाना इंचार्ज बिक्कर सिंह और दूसरे मुलाजिम को राजिन्दरा हस्पताल दाखिल करवाया गया है। मुख्यमंत्री पंजाब कैप्टन अमरिंदर सिंह और पुलिस के महानिदेशक दिनकर गुप्ता, डिप्टी कमिश्नर पटियाला कुमार अमित ने घटना की सख्त निंदा की है।

Nihangas created terror in Patiala, police officer was killed, two injured

यह बताया मामला:

प्राप्त जानकारी मुताबिक करीब रविवार की प्रात: पटियाला जिला के सनौर रोड पर स्थित बड़ी सब्जी मंडी में 5 निहंग सिंह पहुंचे थे। सब्जी मंडी के स्टाफ ने इन लोगों की गाड़ी को रोककर कफ्र्यू पास के बारे में पूछा था, ताकि मंडी में बेवजह भीड़ नहीं हो और सोशल डिस्टेंसी कायम रह सके। कफ्र्यू पास नहीं होने पर इन लोगों ने सब्जी मंडी के स्टाफ के साथ झगड़ा करते हुए पुलिस की नाकाबंदी पर लगा बैरिकेड तोड़ गाड़ी भगाने की कोशिश की। इसके बाद बाद मुलाजिमों ने इनकी गाड़ी को घेर लिया। जैसे ही उन्हें रोक उनसे मंडी में दाखिल होने की अनुमति के दस्तावेज की मांग की तो निहंगों ने म्यान से तलवारें निकाल पुलिस पर हमला बोल दिया। हमले में निहंगों ने एक एएसआई का बाजू से कलाई काटकर अलग कर दी, जबकि थाना इंचार्ज बिक्कर सिंह और एक अन्य मुलाजिम राज सिंह को घायल कर दिया। तलवारें लहराते घटनास्थल से बाईक पर सवार हो गांव बलवेनड़ा स्थित गुरुद्वारा खिचड़ी साहिब में घुस गए। 

गुरुद्वारा पहुंची कमांडो पुलिस पर की गोलीबारी:

मामला यहीं ही खत्म नहीं हुआ। घटना की सूचना मिलने के बाद एडीजीपी राकेश चंद्र का नेतृत्व में पटियाला जोन के आईजी जतिंदर सिंह औलख कमांडो पुलिस फोर्स एवं एसपी (सिटी) वरुण शर्मा, एसपी (डी) हरमीत सिंह हुन्दल, एसपी (सुरक्षा) की टीमों ने के साथ मौके पर पहुंची, पुलिस ने गांव बलवेनड़ा स्थित गुरुद्वारा खिचड़ी साहिब को घेरे में लिया। वहां छिपे हमलावर निहंगों को आत्म समपर्ण करने के लिए चेतावनी दी, लेकिन अंदर छिपे निहगों ने गालियां व धमकियां देते हुए गोलीबारी शुरु कर दी। जिसके बाद पुलिस गुरुद्वारा में घुसी और सर्च ऑपरेशन शुरु किया।

 

दो पुलिस थानों में मामले दर्ज:

पुलिस आप्रेशन में निंहगों के साथ मुठभेड़ भी हुई, जिसके बाद हमलावरों को काबू में लेना शुरु कर दिया। काबू किए गए हमलावरों में डेरा प्रमुख बलविन्दर सिंह (50) पुत्र भाग सिंह निवासी करहाली, निरभय सिंह (गोली के साथ जख्मी), ढाँचा सिंह काला (50) पुत्र अजैब सिंह, जगमीत सिंह (22) पुत्र बलविन्दर निवासी अमरगढ़, गुरदीप सिंह (24) पुत्र रौशन लाल निवासी जैन मोहल्ला समाना, जंगीर सिंह (75) पुत्र प्रीतम सिंह निवासी प्रतापगढ़, मनिन्दर सिंह (29) पुत्र जगतार सिंह निवासी महमूदपुर, यशवंत सिंह (55) पुत्र भिन्दर सिंह निवासी चमारू, दर्शन सिंह पुत्र दलीप सिंह निवासी धीरू क्या माजरी, सुखप्रीत कौर (25) पत्नी जगमीत सिंह निवासी डेरा खिचड़ी साहिब शामिल हैं। जिनके खिलाफ थाना पसियाना में एफ.आई.आर. नंबर 45/124.2020, के अनुसार आईपीसी की धाराओं 188, 307, 353, 186, 269, 270, 148, 149 और डिजास्टर मैनेजमेंट एक्ट 2005 की धारा 51 (ए) 54, एक्सप्लोसिव एक्ट की धारा 3, 4, यू.ए.पी.ए. एक्ट 1967 की धारा 13, 16, 18, 20 और आर्मज एक्ट की धारा 25, 54, 59 के अंतर्गत मामला दर्ज कर लिया गया है। जबकि सब्जी मंडी में पुलिस पार्टी पर हमला करने सम्बन्धित सदर थाना पटियाला में एफ.आई.आर. नंबर 70/12 अप्रैल 2020 को आई.पी.सी. की धाराओं 307, 323, 324, 326, 353, 186, 332, 335, 148, 188 और डिजास्टर मैनेजमेंट एक्ट 2005 की धारा 51 के अंतर्गत मामला दर्ज किया गया है

गुरुद्वारा साहिब की मर्यादा को रखा गया सुरक्षित:

घटनाक्रम के दौरान पुलिस द्वारा गुरू घर की मर्यादा और श्री गुरु ग्रंथ साहब का सतिकार कायम रखा गया है। जिसके मद्देनजर घटनास्थल के नजदीकी अकाल अकैडमी की इमारत पर चढक़र पहले स्पीकर से अनाऊंसमैंट करके हमलावरों को गुरुद्वारा से बाहर निकलने के लिए पुलिस को सहयोग देने की अपील भी की गई थी। जिससे किसी किस्म का ख़ून खराबा ना हो और कानून व अमन की स्थिती भी बहाल रह सके। पुलिस द्वारा शिरोमणी गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी के प्रबंधकों को बुला कर श्री गुरु ग्रंथ साहब के चल रहे अखंड पाठ की मर्यादा बहाल रखने की जिम्मेदारी गाँव की पंचायत को सौंप दी गई है।

गुरुद्वारा के अंदर से हथियारों का खजीरा बरामद:

प्रेस को जानकारी देते आई.जी. जतिंदर सिंह औलख व जिला पुलिस मुखी एसएसपी पटियाला मनदीप सिंह सिद्धू ने बताया कि हमलावर निहंगों को पकडऩे के लिए पुलिस की तरफ से बलबेनड़ा क्षेत्र के उस गुरुद्वारा खिचड़ी साहब को घेरे में लेकर वहां छिपे 11 निंहंगों को हिरासत में लिया गया है। गुरुद्वारा के अंदर से हथियारों का खजीरा बरामद किया गया है। जिसमें 39 लाख रुपए की नकदी सहित बरामद किए हथियारों में 1 एयर गन, 1 पिस्तौल देसी 32 बोर, तीन जीवित रौंद, 1 पिस्तौल 12 बोर, 4 जीवित रौंद, एक 9 एमएम का पिस्तौल 3 जीवित रौंद, के अलावा 10 तलवारें और 4 खंडे, दो लोहे की राडें, 4 धारी मंडासा, 1 तीर कमान, 4 भाले, 4 मुखिया भाले, 1 लोहो का सुंबा, 2 पेट्रोल बम, 10 डब्बी माचिस, तेजाबी केमिकल की 38 बोतलें, 8 गैस सिलेंडर, 1 इसजू मार्का गाड़ी समेत भांग की साढ़े 6 बोरियाँ भी शामिल हैं। पुलिस अधिकारियों ने बताया कि इन व्यक्तियों ने पुलिस को धमकी दी थी कि यदि उन्हें पकड़ा तो गुरुद्वारा साहब के लंगर में मौजूद गैस सिलंडरों को आग लगा पेट्रोल बम तैयार कर धमाके करेंगे। पास के खेतों में खड़ी गेहूँ की फसल को आग लगा देंगे। परंतु हवा की दिशा गुरूद्वारे की ओर होने के कारण वे अपनी कार्यवाही अमल में नहीं ला सके।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *