AtalHind
क्राइमगुरुग्राम

पिता की गोली मार हत्या, मृतक का आरोपी बेटा पत्नी सहित 04 गिरफ्तार

पिता की गोली मार हत्या, मृतक का आरोपी बेटा पत्नी सहित 04 गिरफ्तार

फतह सिंह उजाला गुरुग्राम 08 नवम्बर ।

02 नवंबर को थाना सैक्टर-10 ए, गुरुग्राम में एक सूचना राजबीर व उसकी पत्नी सरिता को गोली लगने से घायल होकर अस्पताल में दाखिल होने के संबंध में प्राप्त हुई। सूचना पाकर थाना सैक्टर-10ए, गुरुग्राम की पुलिस टीम अस्पताल पहुंची, जहां पर घायल राजबीर की मृत्यु होना ज्ञात हुआ ।

Advertisement

इसी दौरान मृतक राजबीर के भाई ने पुलिस टीम को एक लिखित शिकायत के माध्यम से बतलाया कि इसके भाई राजबीर (मृतक) के साथ उसकी पत्नी व बेटा ठीक व्यवहार नहीं करते थे तथा झगड़ा रखते थे जिस कारण उसका भाई काफी समय से घर नहीं गया था। 31 अक्टूबर को इसका भाई सैक्टर-10ए, गुरुग्राम में स्थित अपने मकान पर गया था।

जहां पर इसके भाई की पत्नी व बेटे ने दिनांक 01/02. नवंबर की रात को गोली मारकर की हत्या कर दी।

निरीक्षक आनन्द कुमार, प्रभारी अपराध शाखा सैक्टर-31, गुरुग्राम की पुलिस टीम ने कार्यवाही करते हुए उपरोक्त अभियोग में गोली मारने वाले आरोपी सहित वारदात को अंजाम देने में शामिल रहे 03 आरोपियों को मंगलवार को काबू करने में सफलता हासिल की। आरोपियों की पहचान यश यादव (उम्र-25 वर्ष), अक्षय उर्फ चिराग (उम्र-20 वर्ष) व साहबराम (उम्र-48 वर्ष) के रूप में हुई है। पुलिस टीम द्वारा आरोपी यश व अक्षय उर्फ चिराग को नजदीक बसई एनक्लेव सैक्टर-10ए, गुरुग्राम से तथा आरोपी साहबराम को गांव शिकोहपुर से काबू करके अभियोग में नियमानुसार गिरफ्तार किया गया। इससे पहले पुलिस टीम द्वारा उपरोक्त अभियोग में आरोपित सरिता (मृतक की पत्नी) को 03 नवंबर को गिरफ्तार किया गया था।

Advertisement

आरोपियों से पुलिस पूछताछ में ज्ञात हुआ कि उपरोक्त आरोपी यश यादव अभियोग में मृतक राजबीर का बेटा है और इनकी प्रॉपर्टी इसके पिता राजबीर (मृतक) के नाम थी। प्रोपर्टी को लेकर राजबीर (मृतक) उसकी पत्नी व बेटे यश (आरोपी उपरोक्त) के बीच विवाद रहता था। आरोपी यश अपने पिता राजबीर से प्रोपर्टी अपने नाम कराने के लिए कहता था, परन्तु राजबीर प्रोपर्टी यश के नाम नही करवा रहा था,

जिसके चलते आरोपी यश ने अपनी मां सरिता, दोस्त अक्षय तथा साहबसिंह जो राजबीर के परिवार में और रिश्ते में इसका (आरोपी यश) चाचा लगता है, जिसके इसकी मां/मृतक की पत्नी के साथ अवैध सम्बन्ध थे के साथ मिलकर अपने पिता की हत्या करने की योजना बनाई। योजनानुसार इसका (आरोपी यश) साथी अक्षय इसको यू.पी. से 60 हजार रुपयों में एक पिस्टल दिलाकर लाया, जिसका प्रयोग करके यश ने अपने पिता राजबीर की दिनांक 01/02. नवंबर की रात को गोली मारकर हत्या कर दी तथा पुलिस को गुमराह करने के लिए सेल्फ डिफेंस में गोली चलाना दिखाने के लिए इसने (आरोपी यश) अपनी मां सरिता यादव को भी गोली मारकर घायल करने की वारदात को अंजाम दिया। वारदात को अंजाम देने में प्रयोग की गई 01 पिस्टल व 03 खाली कारतूस घटनास्थल से बरामद किए गए ।

Advertisement
Advertisement

Related posts

कैथल के गाँव जुलानी खेड़ा  सरपंच शपथ लेते ही हुआ गिरफ्तार 

atalhind

कैथल पुलिस कर्मचारियों व अधिकारियों  ने अच्छा काम किया शाबाशी मिलनी चाहिए ,लेकिन सच भी तो जनता के सामने आना चाहिए ?

atalhind

देश की आजादी में अहीर वाल क्षेत्र का अहम योगदान: एमपी अरविंद शर्मा

atalhind

Leave a Comment

URL