Atal hind
कैथल टॉप न्यूज़ साहित्य/संस्कृति

पीपली आली रैली म्ह मनै फेर कंडेला कांड देख्या : केशाराम प्यौदा

पीपली आली रैली म्ह मनै फेर कंडेला कांड देख्या : केशाराम प्यौदा
कविता के माध्यम से केशाराम ने किसानों के मन की पीड़ा का किया है जिक्र
कैथल, 11 सितम्बर (अटल हिन्द /संदीप बागड़ी): 3 अध्यादेशों के खिलाफ आवाज बुलंद करने के लिए जैसे ही आज सुबह पिपली में किसान रैली का आगाज हुआ तो किसानों को रैली में न पहुंचने के लिए पुलिस द्वारा जगह-जगह बैरिकेट्स लगाए हुए थे, जहां पर किसानों पर जमकर लाठीचार्ज हुआ और पुलिस लाठीचार्ज में कई किसान बुरी तरह घायल हुए, उन किसानों की दुर्दशा पर धरतीपुत्र केशाराम प्यौदा ने एक कविता लिखी है, जो आज की स्थिति पर सटीक बैठती है। सोशल मीडिया पर डालने के बाद लोगो को यह कविता काफी पसंद आई है और कविता के माध्यम से केशाराम ने किसानों के मन की पीड़ा का जिक्र किया है। कविता के बोल इस प्रकार हैं :

भाई की गैल भाई गया, एक साथ चलता आज गाम ग्वांड देख्या

पीपली आली रैली म्ह मनै आज फेर कंडेला कांड देख्या,

बचपन म्ह ताऊ चाचा नै जिसकी कहानी मेरे तै सुनाई थी,

बिजली के बिल माफी का लालच दे कै चौटाला ने हरियाणा की गद्दी पाई थी,

मजबूरी म्ह किसान कौम फेर न्यु सडकां पे आई थी,

निहत्थे किसानां पै लोगो सरकारी आर्डर तै गोली चलाई थी,

कंडेला गाम के बस स्टाप की खडी मूर्ति बतावै

गऊ के जाये नै भी भूमिका निभाई थी,

आज एक तो लुकरया करोना म्ह दुसरा पागल होया सांड देख्या,

पीपली आली रैली म्ह मनै आज फेर कंडेला कांड देख्या,

सच्ची म्ह ये राजी ऐ कोनी धरतीपुत्र तेरे दो दाने होने पै,

किसानी नै गुलाम करवाणा चाहवै, अम्बानी, अडानी ,

टाटा, बिड़ला और रामदेव काणे कै, किसान रैली म्ह तो बहाना बणावै फेर बरोदा उपचुनाव और धनखड की ताजपोशी म्ह थी के थारी रिश्तेदारी वायरस करोने तै,

सीधा होकै साथ छोड़ डिप्टी इनका, फायदा के मुंह लकौने तै

सरकार गैल आपणै (अन्य किसान संगठन)भी दगाबाज

जो सरकार तै मिलके जो करता काणी बांड देख्या,

पीपली आली रैली म्ह मनै आज फेर कंडेला कांड देखा।

डिस्क्लेमर (अस्वीकरण) : इस आलेख में व्यक्त किए गए विचार लेखक के निजी विचार हैं. इस आलेख में दी गई किसी भी सूचना की सटीकता, संपूर्णता, व्यावहारिकता अथवा सच्चाई के प्रति ATAL HIND उत्तरदायी नहीं है. इस आलेख में सभी सूचनाएं ज्यों की त्यों प्रस्तुत की गई हैं. इस आलेख में दी गई कोई भी सूचना अथवा तथ्य अथवा व्यक्त किए गए विचार #ATALHIND के नहीं हैं, तथा atal hind उनके लिए किसी भी प्रकार से उत्तरदायी नहीं है.

अटल हिन्द से जुड़ने के लिए शुक्रिया। जनता के सहयोग से जनता का मीडिया बनाने के अभियान में कृपया हमारी आर्थिक मदद करें।

Related posts

बीजेपी के लिए जेजेपी “फालतू” पार्टी ?

admin

राजा मान सिंह की हत्या मामले में दोषी ठहराए गए 11 पुलिसकर्मियों को आज सज़ा सुनाई जाएगी.

Sarvekash Aggarwal

कैथल  की हरसोला बस्ती के युवक ने  शादीशुदा प्रेमिका ने दिल तोड़ा तो प्रेमी ने उठाया ये खौफनाक कदम

admin

Leave a Comment

URL