पुलिस वालों पर बलात्कार का गंभीर आरोप, पति-बच्चों के साथ पीडिता पहुंची आईजी दफ्तर

पुलिस वालों पर बलात्कार का गंभीर आरोप, पति-बच्चों के साथ पीडिता पहुंची आईजी दफ्तर
रायपुर/कोरिया। खडगंवा थाना प्रभारी ओम शंकर साहू और दो आरक्षकों के खिलाफ कथित बलात्कार के आरोप में सोमवार को रायपुर से लेकर कोरिया तक हंगामा हुआ। इधर, रायपुर में सामजिक कार्यकर्त्ता ममता शर्मा गृहमंत्री ताम्रध्वज साहू के सामने पीड़ित पक्ष के इंसाफ की खातिर गुहार लगाते फूट-फूट कर रोई। तो उधर, पीडिता उसके पति और दो मासूम बच्चे भी सम्भाग के आईजी दफ्तर में इंसाफ के लिए गिडगिडाते रहे और आत्महत्या की बात कहते रहे।

दरअसल, महिला का आरोप हैं कि उनके प्रेम विवाह को लेकर उनके सासुराल पक्ष समर्थन नहीं करते थे। एक रोज ससुराल पक्ष के लोगों ने उसके साथ जमकर मारपीट की। इसके बाद महिला और उसके पति ने उनके खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया। उसी मुकदमा के चलते उसके पति को झूठे प्रकरण में फंसा कर थाने में बिठाया गया और फिर रात में थाना प्रभारी खडगंवा और दो आरक्षकों ने उसे अपने हवस का शिकार बनाया। घटना के वक़्त उसका पति पुलिस हिरासत में था और उसको छोड़ने की एवज में पुलिस वालों ने एक लाख रूपये की डिमांड की थी। महिला ने यह भी आरोप लगाया कि दुष्कर्म के वक़्त पुलिस वालों ने पेटी में रखे एक लाख रूपये भी लूटे लिये। इस घटना में थाना प्रभारी ओम शंकर साहू, आरक्षक जस्सी और सुरेश तिग्गा साथ थे।

महिला के अनुसार यह घटना 29 मई की है, इसके बाद अपने साथ घटित इस अप्रिय घटना के संबंध में इसकी शिकयत आईजी से की। महिला ने आईजी के ऊपर भी अफसरों पर कार्रवाई नहीं करने का गंभीर आरोप लगाया है। इस मामले को लेकर महिला की तरफ से सामाजिक कार्यकर्ता ममता शर्मा भी सामने आ गई है। उन्होंने गृह मंत्री ताम्रध्वज साहू से राजीव भवन में मुलाकत की और पीड़ित पक्ष को इंसाफ दिलाने के लिए गुहार लगाई । इस दौरान ममता शर्मा पुलिस की इस तरह की कार्यप्रणाली पर सवाल उठाते रो पड़ी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *