Atal hind
Uncategorized

पूर्व मंत्री निर्मल सिंह ने नई पार्टी बनाने का किया एलान

पूर्व मंत्री निर्मल सिंह ने नई पार्टी बनाने का किया एलान

अंबाला। कांग्रेस से निष्काषित पूर्व मंत्री निर्मल सिंह अब उत्तरी हरियाणा के हितों की लड़ाई अपने झंडे अपने डंडे के नीचे करेंगे। इसके लिए वे जल्द अपनी पार्टी का नाम तय कर देंगे। पहले उनके जेजेपी में जाने की बात कही जा रही थी लेकिन अब इस पर विराम लग गया है। कार्यकर्ताओं की मीटिंग में उन्होंने खुद यह ऐलान किया। खुले मंच से ज्यादातर कार्यकर्ताओं ने भी निर्मल सिंह को किसी पार्टी में जाने के बजाय अपनी पार्टी बनाने का सुझाव दिया था ताकि टिकटों के लिए दिल्ली की दौड़ न लगानी पड़े। उन्होंने कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष कुमारी सैलजा पर भी हमला बोला। अंबाला शहर विधानसभा सीट से आजाद प्रत्याशी के तौर पर चुनाव लड़ चुके पूर्व मंत्री निर्मल सिंह की बुलाई गई इस मीटिंग में अंबाला के साथ यमुनानगर व कुरुक्षेत्र से भी बड़ी संख्या में लोग आए थे। पार्टी बनाने का निर्णय लेने से पहले निर्मल सिंह ने कार्यकर्ताओं से पांच मिनट का ब्रेक लिया और खुद अपने घर के अंदर चले गए। घर से बाहर आने के पांच मिनट बाद ही निर्मल ने अपने झंडे अपने डंडे के नीचे राजनीति करने का ऐलान कर दिया। उन्होंने कहा कि टिकट के लिए अब वे किसी के सामने हाथ नहीं फैलाएंगे। उन्होंने जल्द ही अपनी नई पार्टी का नाम तय करने की भी बात कही।

उत्तरी हरियाणा की सीटों पर होगा फोकस

निर्मल सिंह ने कहा कि 40 सालों से वे उत्तरी हरियाणा के लोगों के हितों की पैरवी कर रहे हैं। अभी इन लोगों को उनका जायज हक नहीं मिल पाया। उन्होंने कहा कि उत्तरी हरियाणा की सभी सीटों पर उनका फोकस रहेगा। इसके लिए हर महीने कार्यकर्ताओं की मीटिंग बुलाई जाएगी। हर साल एक बड़ी रैली का आयोजन किया गया। इसके लिए कार्यकर्ताओं को अपने ट्रैक्टर ट्रॉली तैयार रखने होंगे। निर्मल ने बाहरी उम्मीदवारों का डटकर विरोध करने की भी बात कही।

सैलजा पर फिर साधा निशाना

निर्मल सिंह ने कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष कुमारी सैलजा पर भी निशाना साधा। कहा कि अंबाला आने से पहले सैलजा ने उन्हें उत्तरी हरियाणा के हितों की लड़ाई में साथ देने का वादा किया था। मगर यहां से केंद्रीय मंत्री बनते ही वे वादे भूल गईं। उन्होंने कहा कि मैंने अपनी सारी जिंदगी की कमाई सैलजा की झोली में डाल दी थी लेकिन उन्होंने इस विधानसभा चुनाव में बेटी की टिकट काटकर सियासी तौर पर खत्म करने का प्रयास किया। मगर कार्यकर्ताओं ने मेरा पुरजोर साथ दिया। इसी वजह से मेरी बेटी कैंट व मैं सिटी विस से शानदार प्रदर्शन करने में कामयाब रहा।

बचना होगा हिसार-सिरसा के ठगों से

2014 में कांग्रेस की टिकट पर चुनाव लड़ चुके हिम्मत सिंह ने बिना किसी का नाम लिए कहा कि अब उन्हें हिसार-सिरसा से आए ठगों से बचना होगा। एक बार तो वे ठगी का शिकार हो चुके हैं। एकजुट होकर वे उनके साथ ये लड़ाई लड़ेंगे। चित्रा सरवारा ने भी कार्यकर्ताओं का जोश बढ़ाया।

डिस्क्लेमर (अस्वीकरण) : इस आलेख में व्यक्त किए गए विचार लेखक के निजी विचार हैं. इस आलेख में दी गई किसी भी सूचना की सटीकता, संपूर्णता, व्यावहारिकता अथवा सच्चाई के प्रति ATAL HIND उत्तरदायी नहीं है. इस आलेख में सभी सूचनाएं ज्यों की त्यों प्रस्तुत की गई हैं. इस आलेख में दी गई कोई भी सूचना अथवा तथ्य अथवा व्यक्त किए गए विचार #ATALHIND के नहीं हैं, तथा atal hind उनके लिए किसी भी प्रकार से उत्तरदायी नहीं है.

अटल हिन्द से जुड़ने के लिए शुक्रिया। जनता के सहयोग से जनता का मीडिया बनाने के अभियान में कृपया हमारी आर्थिक मदद करें।

Leave a Comment

URL