प्रियंका गांधी ने मोदी सरकार को कायर कहा, तो राहुल गांधी ने चाड्ढी वाला कह कर आरएसएस का मजाक  उड़ाया। 

प्रियंका गांधी ने मोदी सरकार को कायर कहा, तो राहुल गांधी ने चाड्ढी वाला कह कर आरएसएस का मजाक  उड़ाया।

दिल्ली (अटल हिन्द ब्यूरो )28 दिसम्बर को कांग्रेस के 135वें स्थापना दिवस पर गांधी परिवर के सदस्य केन्द्र की नरेन्द्र मोदी सरकार पर गुस्से में नजर आए। कांग्रेस के स्थापना दिवस को इस बार कांग्रेस ने देश भर में संविधान बचाओ दिवस के तौर पर मनाने का निर्णय लिया था। इसके अंतर्गत कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव श्रीमती प्रियंका गांधी वाड्रा ने उत्तर प्रदेश के लखनऊ में मोर्चा संभाला तो भाई राहुल गांधी ने असम के गुवाहाटी में एक रैली को संबोधित किया। लखनऊ में कांगे्रस के कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए प्रियंका गांधी ने कहा कि अब सरकार कायरता दिखा रही है। पहले देशभर में एनआरसी की चर्चा करवाई और अब कह रही हैं कि एनआरसी को लेकर कोई चर्चा ही नहीं हुई। यह सरकार की कायरता है। अपने ही कथन से पीछे हट रही है।

 

प्रियंका ने कहा कि कायर लोग ही हिंसा को बढ़ावा देते हैं। प्रियंका ने अन्य मुद्दों पर भी केन्द्र की मोदी सरकार पर जमकर हमला बोला। उन्होंने कहा कि संशोधित नागरिकता कानून और एनपीआर की घोषणा से देश का मुसलमान स्वयं को असुरक्षित महसूस कर रहा है। सरकार लगातार संविधान विरोधी फैसले कर रही है। वहीं असम में रैली को संबोधित करते हुए राहुल गांधी ने कहा कि चड्ढीवाली आरएसएस के लोग असम को नहीं चलाएंगे। उन्होंने कहा कि वे नागपुर से असम को चलने नहीं देंगे।

 

राहुल गांधी ने आरोप लगाया कि एनआरसी के बहाने मुसलमानों को प्रताडि़त किया जा रहा है। केन्द्र सरकार ने सीएए को संविधान के विरुद्ध लागू किया है। उन्होंने कहा कि यह देश आरएसएस की विचार धारा से नहीं बल्कि संविधान से चलेगा। आज केन्द्र सरकार आर्थिक मोर्चे पर पूरी तरह विफल हो गई है। बेरोजगारी और मंदी की ओर से ध्यान हटाने के लिए एनपीआर, सीएए जैसे फैसले लिए जा रहा है। उन्होंने देश में हो रही हिंसा पर भी चिंता जताई।

गुस्से में है गांधी परिवार:
28 दिसम्बर के प्रियंका गांधी और राहुल गांधी के बयानों से प्रतीत होता है कि गांधी परिवार केन्द्र सरकार को लेकर गुस्से में है। जिस तरह से व्यक्तिगत टिप्पणियां की जा रही है उससे प्रतीत होता है कि गांधी परिवार अब केन्द्र सरकार के प्रति कड़ी नाराजगी जताता रहेगा। उल्लेखनीय है कि केन्द्र सरकार ने एसपीजी कानून में परिवर्तन कर गांधी परिवार से एसपीजी सुरक्षा वापस ले ली है गांधी परिवार के सदस्यों को अब केन्द्रीय सुरक्षा बलों की सुविधा मिल रही है।

 

केन्द्र सरकार का कहना है कि एसपीजी का गठन सिर्फ प्रधानमंत्री की सुरक्षा के लिए गया था, लेकिन इस कानून में बदलाव कर गांधी परिवार ने आजीवन अपने लिए एसपीजी की सुरक्षा ले ली। सरकार ने नियमों के तहत निर्णय लिया है। गांधी परिवार से एसपीजी की सुरक्षा वापस लेने के विरोध में कांग्रेस ने देशव्यापी आंदोलन भी किया था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *