Atal hind
टॉप न्यूज़ रोहतक हरियाणा

बलराज कुंडू का न्याय युद्ध और महम चौबीसी के  एतिहासिक चबुतरे से हरियाणा सरकार को खतरा 

बलराज कुंडू का न्याय युद्ध और महम चौबीसी के  एतिहासिक चबुतरे से हरियाणा सरकार को खतरा
महम चौबीसी के एतिहासिक चबुतरे से बलराज कुंडू ने किया किसान-मजदूर न्याय युद्ध का आगाज ।
महम / रोहतक, 2 अक्तूबर(अटल हिन्द ब्यूरो )अनेक ऐतिहासिक आंदोलनों का गवाह बने महम चौबीसी के ऐतिहासिक चबूतरे से आज निर्दलीय विधायक बलराज कुंडू ने किसान संगठनों को साथ लेकर तीन काले कानूनों के खिलाफ किसान-मजदूर न्याय युद्ध का बिगुल बजा दिया है। कुंडू ने आज महम चौबीसी के चबुतरे पर भूख हड़ताल के साथ इस आंदोलन का आगाज किया। हजारों लोगों की मौजूदगी में कुंडू ने सरकार पर जमकर हमला किया। उनके इस आंदोलन को प्रख्यात राजनीतिक विशेषज्ञ एवं स्वराज इंडिया पार्टी के संयोजक योगेंद्र यादव के अलावा, दिल्ली से आम आदमी पार्टी के राज्यसभा सांसद सुशील गुप्ता के साथ-साथ उत्तर प्रदेश के समाजवादी पार्टी के विधायकों तथा कई पूर्व विधायकों एवं तकरीबन प्रमुख किसान संगठनों का भी आशीर्वाद मिला।

दिनभर चले भूख हड़ताल और धरने के बाद शाम को किसान संगठनों एवं महम चौबीसी तथा तपों एवं खापों के प्रधानों ने आपसी मंत्रणा कर कुंडू को अनिश्चितकालीन अनशन छोड़कर बरौदा समेत पूरे हरियाणा में किसानों के लिए आंदोलन चलाने का हुकुम सुनाते हुए यह तय किया कि महम चौबीसी के चबुतरे पर रोजाना 11 लोग अनशन रखेंगे और अगले चौबीस घंटे बाद दूसरे 11 लोग भूख हड़ताल पर बैठेंगे। यह भी तय किया गया कि इन 11 लोगों में 6 व्यक्ति महम के तथा 5 व्यक्ति अन्य जिलों के शामिल रहेंगे। पंचायती आदेश को मानते हुए बलराज कुंडू ने मालाएं पहनाकर आज शाम से युवा किसान नेता संदीप भारती के साथ अमित लठवाल, रमेश पंघाल, प्रदीप धनखड़ एवं नवदीप सहित कुल 11 लोगों को क्रमिक अनशन पर बैठाया।
इससे पूर्व तय कार्यक्रम के अनुसार सुबह हवन यज्ञ किया गया तथा बलराज कुंडू किसानों के हकों की लड़ाई लडऩे को भूख हड़ताल पर बैठे। इस दौरान अपने संबोधन में उन्होंने तीन नए कृषि कानूनों को काले कानूनों की संज्ञा दी और केंद्र के अलावा राज्य सरकार तथा विपक्ष को भी निशाने पर रखा। उन्होंने कहा कि जो किसान का नहीं हो सकता वह किसी का भी नहीं हो सकता। कूंडू ने कहा कि सरकार के साथ आम आदमी और किसान मजदूर की इस लड़ाई को पूरी मजबूती के साथ लड़ता रहूंगा। उन्होंने कहा कि सरकार एक तरफ तो कहती है कि वह किसानों का भला कर रही है और दूसरी तरफ नये बनाए कानूनों में किसान की फसल की एमएसपी पर खरीद की गारंटी लेने को ही तैयार नहीं है। सरकार सरेआम किसानों के साथ धोखा कर रही है जिसे बर्दाश्त नहीं किया जा सकता। कुंडू ने एमएसपी खरीद कानून के अलावा पूरे प्रदेश के लिए एक मंडी एक कानून की वकालत करते हुए सरकार को चेतावनी दी कि यदि सरकार को सही मायने में ही किसानों की चिंता है तो तुरंत वह इन बातों को लागू करें।
बलराज कुंडू की बातों का योगेंद्र यादव और राज्यसभा सांसद सुशील गुप्ता समेत आये हुए तमाम विधायकों एवं पूर्व विधायकों के साथ किसान संगठनों ने भी एक स्वर में समर्थन किया और कहा कि सरकार किसानों को जानबूझ कर आंदोलन के लिए मजबूर कर रही है। सरकार यदि किसानों की ताकत ही देखना चाहती है तो ये ही सही। पूरे देश का किसान आज आंदोलन के लिए मजबूर है और सरकार अपनी मनमर्जी को जबरदस्ती किसानों पर थोप रही है जिसे किसी भी सूरत में बर्दाश्त नहीं किया जा सकता।

ये प्रमुख हस्तियां पहुंची
ये प्रमुख हस्तियां पहुंची किसान-मजदूर न्याय युद्ध को समर्थन देने महम चौबीसी के चबुतरे पर
इस मौके पर स्वराज इंडिया के संयोजक योगेंद्र यादव, आम आदमी पार्टी के राज्यसभा सांसद सुशील गुप्ता, अखिल भारतीय किसान उत्थान मंच के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष मजाहिर राणा, राष्ट्रीय महासचिव बलबीर सिंह मान, राष्ट्रीय अध्यक्ष चौधरी मुस्तकीम हसन, राष्ट्रीय लोकदल के राष्ट्रीय महासचिव नवाब अशरफ अली खान, कैराना उत्तर प्रदेश के समाजवादी पार्टी के विधायक नाहीद हसन, शामली से चैयरमैन पप्पू भाई, दिल्ली सरकार के पूर्व मंत्री संदीप वाल्मीकि, दलित समाज उत्थान संघर्ष समिति हरियाणा के प्रदेश महासचिव रवि कुंडली, पलवल से महिला कांगे्रस प्रवक्ता सुविता चौधरी कुंडू,पिंटू चौधरी, युवा नेता देवेंद्र अलिका, युवा किसान नेता अभिमन्यु कुहाड़, हरियाणवी सिंगर अजय हुड्डा एवं राममेहर मैहला, कैथल से भारतीय किसान युनियन के प्रमुख हौशियार सिंह गिल, किसान नेता डॉ शमशेर सिंह बामनौली, राष्ट्रीय किसान मजदूर संगठन के प्रदेश अध्यक्ष राजेंद्र आर्य दादूपुर,युवा किसान नेता संदीप भारती, अमित लठवाल, रमेश पंघाल, प्रदीप धनखड़,नवदीप, सरदार परमजी, युद्धवीर अहलावत, दीपक लाम्बा, कैथल के तितरम से बलदेव सरपंच, दिलबाग कुंडू, बी. एस. मान, दादरी से किसान नेता रवि आजाद,
मिर्जापुर खेड़ी पंचायत, हिसार से पाबड़ा से पंचग्रामी सभा के सुनील पावड़ा तथा नव युवा जागृति मंच के पदाधिकारी, भारतीय किसान युनियन के प्रदेश महासचिव सत्यवान नरवाल, पलवल से कुंडू खाप के पदाधिकारी, कालवा बारह के प्रधान दिलबाग कुंडू, कैलरम से पवन सरपंच, तितरम से बलदेव सरपंच,स्वामी इंद्र जी, किसान नेता जगबीर घसोला, नरेंद्र तालू, दयानन्द शाहपुर,मंदीप मलिक उमराह, किसान संघ समिति से रणबीर फौजी, कालावाली से न्यू आढती ऐसोसियेशन के प्रधान प्रदीप जैन, सिरसा मंडी के वाइस प्रेसिडेंट सुरेंद्र सिंह, हांसी से मंडी ऐसोसिएशन के प्रदेश प्रवक्ता राम अवतार तायल, जयवीर नैन, मोहत चहल, धर्मपाल कालावाली, सुखबीर कुंडू कैथल, कंवल सिंह हरियाणा रोडवेज चैयरमैन, उत्तर प्रदेश से ग्राम प्रधान सतबीर सिंह, बरौदा हलके से बीएसपी प्रधान राजेश पांचाल, गायक ईश्वर सिंह, सौरभ गरनावठी, स्वेता ढुल, सुमित बलौदा, बंसीलाल राष्ट्रवादी, तपा प्रधान मोखरा से चौ रामकिशन एवं विकास सिसर समेत महम हल्के की तमाम सरदारी की मौजूदगी में हजारों लोग मौजूद रहे। इसी दौरान मशहूर गायक अजय हुड्डा ने “कद्र करो किसान की” गाना गाकर अपनी गायकी और अदाकारी के जरिये इन काले कानूनों पर किसान का दर्द बयान किया।

डिस्क्लेमर (अस्वीकरण) : इस आलेख में व्यक्त किए गए विचार लेखक के निजी विचार हैं. इस आलेख में दी गई किसी भी सूचना की सटीकता, संपूर्णता, व्यावहारिकता अथवा सच्चाई के प्रति ATAL HIND उत्तरदायी नहीं है. इस आलेख में सभी सूचनाएं ज्यों की त्यों प्रस्तुत की गई हैं. इस आलेख में दी गई कोई भी सूचना अथवा तथ्य अथवा व्यक्त किए गए विचार #ATALHIND के नहीं हैं, तथा atal hind उनके लिए किसी भी प्रकार से उत्तरदायी नहीं है.

अटल हिन्द से जुड़ने के लिए शुक्रिया। जनता के सहयोग से जनता का मीडिया बनाने के अभियान में कृपया हमारी आर्थिक मदद करें।

Related posts

मेवात  जिले के पिपरौली गांव  में मां ने चार बेटियों काे जानवरों  की तरह काट कर मार डाला

admin

हरियाणा में 70 से ऊपर एफआईआर दर्ज कार्यवाही एक पर भी नहीं 

admin

किसानों के सामाजिक भाईचारे ने मोदी और मनोहर सरकार को  दिया मुंहतोड़ जवाब

admin

Leave a Comment

URL