बारिश संग बरसे ओले, किसानों की फसल तबाह, अब बर्बादी के कगार पर किसान।

बारिश संग बरसे ओले, किसानों की फसल तबाह, अब बर्बादी के कगार पर किसान।
सिवानी मण्डी ( सुरेन्द्र गिल ) गेहूं व सरसो की अच्छी फसल होने पर खिले किसानों के चेहरे बुधवार दोपहर हुई बारिश और ओलावृष्टि के बाद मुरझा गए। किसानों की मेहनत पर बरसी कुदरत की तबाही ने उनके अरमानों पर पानी फेर दिया। अमित श्योराण सिधनवा, कृष्ण गोदारा नलोई, दयानन्द पूनिया, सुकरम जागलान, मनीष जागलान, जगवीर ढाण्डा, नितिन सिधनवा सभी किसानो से बात की तो बताया की हमारे मुताबिक कुदरत के कहर से गेहूं व सरसो की 90 फीसदी फसल को नुकसान हुआ है।


आसमान से ओले देख किसानों की आंखों से गिरे आंसू
भिवानी जिले के कई गांवो में बारिश के साथ ओलावृष्टि हुई। इससे किसानों को काफी नुकसान हुआ है। किसानों ने कहा की अब प्रशासन को फसल की गिरदावरी करवाकर उचित मुआवजा दिया जाना चाहिये ताकि हम किसान अपने परिवार का पाल सके। एक ओर ओलावृष्टि हो रही थी तो और दूसरी तरफ किसान ओलो को देख अरमानों को टूटते देख रो रहा था। बुधवार को करीबन चार बजे बारिश के साथ ओलावृष्टि हुई।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *