Atal hind
क्राइम टॉप न्यूज़ रोहतक हरियाणा

भंडाफोड़ः हरियाणा सरकार की नकली वेबसाइट बनाकर निकालीं भर्तियां

भंडाफोड़ः हरियाणा सरकार की नकली वेबसाइट बनाकर निकालीं भर्तियां
झज्जर(atal hind)। कोरोना काल में प्रदेश में युवाओं को नौकरी लगवाने के नाम पर ठगी के मामले आए दिन नए सामने आ रहे हैं। अब शातिरों ने एक और नया तरीका अपनाया है। हरियाणा सरकार की वेबसाइट से मिलते-जुलते नाम वाली वेबसाइट बनाकर उस पर डीसी रेट पर नौकरी का झांसा देकर ठगी का प्रयास किया जा रहा है।झज्जर के एडवोकेट रविंद्र कौशिक ने रोहतक रेंज के एडीजीपी संदीप खिरवार को शिकायत देकर मामले के बारे में अवगत करवाया है। कुछ शातिरों ने हरियाणा सरकार की वेबसाइट डब्ल्यूडब्ल्यूडब्ल्यू.हरियाणा.गवर्नमेंट.इन  की तरह के नाम की एक मिलती-जुलती वेबसाइट बनाई है।आरोप है कि इस वेबसाइट में हरियाणा सरकार, भारत सरकार के विभिन्न मंत्रालयों और योजनाओं के प्रतीक चिह्न भी अनाधिकृत रूप से इस्तेमाल किए गए हैं।फर्जी वेबसाइट के जरिये शातिरों ने  नर्स, कम्प्यूटर असिस्टेंट, कैशियर, टेली-कालर, डाटा एंट्री ऑपरेटर, टेक्निशयन, चपरासी, फील्ड मैन, वार्ड ब्वाय के पदों के लिए ऑनलाइन आवेदन मांगे जिसके ऑनलाइन फार्म में बेरोजगारों से उनका व्यक्तिगत विवरण यानी आधार कार्ड, पैन नंबर, ईमेल, फोन नंबर आदि जानकारी माँगा गया।फार्म फीस 320 रुपए जोकि गूगल पे, फोन पे समेत ऑनलाइन ऑप्शन पर भेजने की शर्त रखी गई, जो वापसी भी नहीं होगी।शातिरों ने लोगों को जल्दी से अपने जाल में फसाने के लिए 22 सितंबर अंतिम तारिख दी, जिससे लोगों के पास इन फार्मों के बारे में इंक्वायरी के बारे में भी समय न हो।आवेदक जल्दबाजी में फार्म भरें और शातिरों के इस  चुंगल में फंस जाए।
वेबसाइट पर सीधे तौर पर संचालनकर्ता में से किसी का नाम या पता भी नहीं दिया गया है। अब यह जांच के बाद ही सामने आएगा कि यह वेबसाइट कब से है और इस पर प्रसारित विज्ञापनों की सच्चाई क्या है।

डिस्क्लेमर (अस्वीकरण) : इस आलेख में व्यक्त किए गए विचार लेखक के निजी विचार हैं. इस आलेख में दी गई किसी भी सूचना की सटीकता, संपूर्णता, व्यावहारिकता अथवा सच्चाई के प्रति ATAL HIND उत्तरदायी नहीं है. इस आलेख में सभी सूचनाएं ज्यों की त्यों प्रस्तुत की गई हैं. इस आलेख में दी गई कोई भी सूचना अथवा तथ्य अथवा व्यक्त किए गए विचार #ATALHIND के नहीं हैं, तथा atal hind उनके लिए किसी भी प्रकार से उत्तरदायी नहीं है.

अटल हिन्द से जुड़ने के लिए शुक्रिया। जनता के सहयोग से जनता का मीडिया बनाने के अभियान में कृपया हमारी आर्थिक मदद करें।

Related posts

जब भारतेन्दु हरिश्चन्द्र ने बनाया लाखों लोगों को ‘मूर्ख’

admin

कैथल की 5 महिला जन प्रतिनिधियों को दुष्यंत चौटाला ने दी स्कूटी  

admin

होली आई रे ….परंतु न मनाएं कोरोना के कारण

admin

Leave a Comment

URL