AtalHind
उत्तर प्रदेशक्राइमटॉप न्यूज़

भाजपा विधायक रामदुलार गोंड को नाबालिग़ से दुष्‍कर्म के जुर्म में 25 साल की क़ैद

यूपीः भाजपा विधायक रामदुलार गोंड को नाबालिग़ से दुष्‍कर्म के जुर्म में 25 साल की क़ैद
विजय विनीत |
इस मामले में 12 दिसंबर को कोर्ट ने पॉक्सो के अलावा धारा 376 और धारा 201 में दोषी माना था।
उत्तर प्रदेश के सोनभद्र में दुद्धी विधानसभा सीट से बीजेपी के विधायक रामदुलार गोंड को रेप केस में एमपी-एमएलए कोर्ट ने शुक्रवार को 25 साल की सजा सुनाई। कोर्ट ने विधायक पर दस लाख का जुर्माना भी लगाया है। जुर्माने की राशि पीड़िता को दी जाएगी। सजा सुनाए जाने के बाद बीजेपी विधायक एमपी-एमएलए कोर्ट के सामने रोता और गिड़गिड़ाता रहा। बच्चों की पढ़ाई का वास्ता देकर सजा कम करने के लिए कोर्ट से गुहार लगाता रहा। सजा के बाद अब दुद्धी सीट पर खाली हो जाएगी। विधानसभा की इस सीट पर दोबारा चुनाव कराने के लिए जल्द ही अधिसूचना जारी हो सकती है।
भाजपा विधायक रामदुलार गोंड को नाबालिग़ से दुष्‍कर्म के जुर्म में 25 साल की क़ैद
बीजेपी विधायक रामदुलार गोंड ने नौ साल पहले अपने पड़ोस में रहने वाली नाबालिग से रेप किया था। इस मामले में 12 दिसंबर को कोर्ट ने पॉक्सो के अलावा धारा 376 और धारा 201 में दोषी माना था। सजा सुनाने के तत्काल बाद बीजेपी विधायक को कोर्ट ने जेल भेज दिया। विधायक को कड़ी सुरक्षा के बीच एमपी-एमएलए कोर्ट में लाया गया था। सजा पर बहस के बाद कोर्ट ने अपराह्न दो बजे के बाद फैसला सुनाया।
अभियोजन पक्ष के अधिवक्ता विकास शाक्य ने सजा के मामले में बहस की। उन्होंने कोर्ट में इस बात को उठाया कि बीजेपी विधायक रामदुलार गोंड ने बेहद घिनौना कृत्य किया है। वह लगातार एक साल तक नाबालिग पीड़िता के साथ रेप करता रहा। पीड़िता के गर्भवती होने के बाद भाई ने 04 नवंबर 2014 को म्योरपुर थाने में रिपोर्ट दर्ज कराई थी। नाबालिग लड़की ने हिम्मत दिखाई और उसने घटना की जानकारी अपने भाई को दी थी।
पीड़िता ने एमपी-एमएलए कोर्ट को बताया कि रामदुलार ने कई बार पूरे परिवार को खत्म करने की धमकी दी। उसकी धमकियों के चलते एक साल तक पीडि़ता ने दरिंदगी सही। मेडिकल रिपोर्ट में उसके गर्भवती होने की पुष्टि हुई। बाद में एक बच्ची को जन्म दिया। तमाम सबूतों के आधार पर पुलिस ने आरोपित के खिलाफ चार्जशीट दाखिल की थी। जिस समय यह घटना हुई थी उस समय रामदुलार की पत्नी सुरतन देवी ग्राम प्रधान थी।
अभियोजन पक्ष के अधिवक्ता विकास शाक्य “न्यूजक्लिक” से कहते हैं, “जमानत के बाद एमपी-एमएलए कोर्ट ने कई बार विधायक रामदुलार गोंड को तलब किय लेकिन वह कोर्ट आने से बचता रहा। तारीख पर तारीख लगती रही। साल 2022 में उसके खिलाफ कोर्ट ने वारंट जारी किया तब वह कोर्ट में पेश हुआ। पीड़िता को बालिग साबित करने के लिए आरोपी पक्ष द्वारा परिवार रजिस्टर नकल में मिलीभगत करके उसकी उम्र बढ़ा दी गई थी। कोर्ट में पेशी के दौरान पीड़िता की जन्मतिथि की पुष्टि नहीं हुई लेकिन प्राथमिक विद्यालय के स्कूल के सर्टिफिकेट से साबित हो गया कि पीड़िता नाबालिग थी। तमाम कोशिशों के बावजूद भी विधायक खुद को बचाने में नाकामयाब रहा।”
12 दिसंबर 2023 को एमपी-एमएलए कोर्ट ने बीजेपी विधायक को दोषी ठहराया। तब उसके बेटे ने पीड़ित परिवार को हत्या की धमकी दी और कहा कि वह पूरे घर में आग लगा देगा। इस मामले की शिकायत सीएम पोर्टल पर दर्ज कराई गई है। अब पीड़िता की उम्र 25साल है और वह सोनभ्रद के बाहर अपने पति और ससुराल वालों के साथ रहती है। पीड़िता का परिवार फिलहाल दहशत में हैं।
बलात्कार की शिकार पीड़िता के भाई के मुताबिक, “अभियुक्त रामदुलार गोंड के परिवारवाले हमें धमकी दे रहे हैं। कहते हैं कि वो हमसे जरूर बदला लेंगे। उसने मेरे और मेरी मदद करने वालों के खिलाफ तीन झूठे मामले थाने में दर्ज करा रखा है। विधायक के दबाव के चलते लोग हमारी मदद करने में कतरा रहे थे। हमारे ऊपर साल 2015 में राम दुलार गोंड ने एससी/एसटी एक्‍ट और गुंडा एक्‍ट में केस दर्ज कराया था। सत्तारूढ़ दल बीजेपी का विधायक बनने के बाद रामदुलार गोंड ने उसे 40 लाख रुपये देने का आफर दिया था। वह पीड़िता का बयान बदलवाना चाहता था। केस वापस लेने के लिए बहुत दबाव डाला गया। बहन की ससुराल पहुंचकर उसने हत्या की धमकी दी। पिछले नौ सालों में पूरे परिवार ने आतंक में जिंदगी काटी है। मेरी बहन के साथ रेप करने वाला सलाखों के पीछे पहुंच चुका है। अब मैं चैन की नींद सो सकूंगा।”
2022 में गोंड बना विधायक
पीड़िता के भाई ने बताया कि वारदात के समय उसकी बहन नाबालिग थी। इस समय उसकी उम्र 25 साल है। मुकदमे के दौरान बीजेपी ने रामदुलार गोंड को न सिर्फ टिकट दिया बल्कि उसके कद को बढ़ाने के लिए सत्तारूढ़ दल के नेताओं ने एड़ी से चोटी का जोर भी लगाया। रामदुलार के विधायक बनने के बाद पूरा परिवार दहशत भरी जिंदगी जी रहा था।
50वर्षीय रामदुलार गोड़ ने साल2022में यूपी विधानसभा के चुनाव में दुद्धी निर्वाचन क्षेत्र से बीजेपी के टिकट पर विधायक के रूप में चुनाव लड़ा। उसने समाजवादी पार्टी के विजय सिंह गोंड को 6,297 वोटों के अंतर से हराया। राम दुलार की कुल घोषित संपत्ति 2.6 करोड़ है जिसमें 31.4 लाख चल संपत्ति और 2.2 करोड़ अचल संपत्ति शामिल है। उसकी कुल आय सात लाख रुपये है जिसमें से दो लाख रुपये उसकी खुद की आय है। रामदुलार पर कुल7.5 लाख रुपये की देनदारी है। चुनावी हलफनामे में उनके खिलाफ दो आपराधिक मामले दर्ज होने का जिक्र किया गया है।
Advertisement

Related posts

फर्रूखनगर नगरपालिका की पूर्व महिला पार्षद पर व परिजनों पर जानलेवा हमला, न्याय की गुहार

atalhind

सड़क पर सरकार और बेरोजगार ! बिलासपुर चौराहा, दिल्ली जयपुर नेशनल हाईवे पर 8 घंटे जाम

atalhind

20 अक्टूबर को अग्रोहा धाम में शरद पूर्णिमा पर विशाल मेला लगेगा- रामकुमार बंसल

admin

Leave a Comment

URL