भारी भीड़ के चलते कोरोना के डर से प्रशासन ने दूकानों को करवाया बंद, चिन्हित स्थानों पर ही लगेंगी सब्जी की दूकानें

पिहोवा 26 मार्च (अटल हिन्द/पृथ्वी सिंह):-
कोरोना वायरस को लेकर जहां पूरी दूनिया में भय का माहौल है , वहीं सुबह के समय शहर में स्थित सब्जी मण्डी व करियाना की दुकानों पर अचानक भारी भीड़ जमा होने से स्थानीय प्रशासन के अधिकारियों में हडक़ंप मच गया। क्योंकि यदि थोड़ी सी भी चूक हो गई तो उसका भुगतान देना काफी महंगा हो सकता है। सूचना मिलते ही एसडीएम सोनू राम व चौकी इंचार्ज पुलिस कर्मचारियों सहित मौके पर पहुंचे और एहतियात के तौर पर सब्जी की सभी दुकानों को तुरंत बन्द करवा दिया गया। काबिले गौर है कि कोरोना वायरस के बढ़ते मरीजों की तादाद से पूरे देश में 14 अप्रैल तक लॉक डाउन है। स्थानीय प्रशासन द्वारा लोगों की सुविधा को देखते हुए सब्जी मण्डी ,किरयाना दूकान व मैडिकल स्टोर तथा पेट्रोल पंप को पूरा दिन खोलने के आदेश दे दिए। जब सोशल मीडिया के माध्यम से लोगों को पता चला तो सुबह के समय शहर में स्थित सब्जी मंडी व वहीं पर स्थित किरयाना मार्किट में एकदम से भीड़ जमा हो गयी। जब प्रशासनिक अधिकारियों को सूचना मिली तो वह बिना समय गवाएं सब्जी मंडी पहुंच गए और सभी दुकानों को बन्द करवा दिया। मौके पर पहुंचे एसडीएम सोनू कुमार ने बताया कि कोरोना वायरस जैसी महामारी से बचाव के लिए एहतियात बहुत जरूरी है, लेकिन सब्जी मंडी में लोगों द्वारा सावधानियों को नजर अंदाज किया जा रहा था, जिससे बचाव का सुरक्षा चक्र टूट सकता है जिसकी भरपाई हमें भारी पड़ेगी और प्रशासन इस आपदा से बचने के लिए इंतजाम में कोई कोर कसर नहीं छोडऩा चाहता है। लोगों की सुविधा के लिए उन्होने सब्जी की दुकानें कुरुक्षेत्र रोड स्थित मंडी में व कैथल रोड पर तथा मोरथली अड्डे पर दूकानदारों को लगाने के आदेश दिए। जब एकदम से दूकानें बंद करवाई गई तो दूकानदारों में भारी रोष बन गया कि उनकी सब्जी खराब हो गई तो उन्हे आर्थिक नुकसान हो जाएगा। दूकानदारों ने एक बारगी कह दिया कि वह 14 अप्रैल तक कहीं पर भी दूकानें नहीं लगायेंगे। लेकिन जब एसडीएम ने दूकानदारों से बातचीत की तो वे सहमत हो गए। एसडीएम ने अपील कि जब भी कोई व्यक्ति आवश्यक सामान लेने दूकान पर जाएं तो वहां पर हमेशा आपसी दूरी बनाये रखें। अपने हाथ दिन के समय कई कई बार धोयें। सिर्फ और सिर्फ आवश्यक हो तो घर से बाहर आएं और बच्चों सहित 14 अप्रैल तक अपने घरों में ही रहें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *