Atal hind
क्राइम गुरुग्राम

भड़काऊ भाषण देने के आरोपी रामगोपाल शर्मा की जमानत मंजूर

हिंदू जागरण मंच महापंचायत

भड़काऊ भाषण देने के आरोपी रामगोपाल शर्मा की जमानत मंजूर

गुरुग्राम के अतिरिक्त सत्र न्यायाधीश की अदालत ने मंजूर की जमानत

रामगोपाल शर्मा को एक लाख रूपए के बॉन्ड पर दी गई है जमानत

Advertisement

वरिष्ठ एडवोकेट लोकेश वशिष्ठ और अविनाश मिश्रा के द्वारा पैरवी

फतह सिंह उजाला
पटौदी । बीती 4 जुलाई को पटौदी के रामलीला मैदान में आहूत हिंदू जागरण मंच के तत्वाधान में महापंचायत के दौरान कथित भड़काऊ विवादित भाषण देने के आरोपी रामगोपाल शर्मा उर्फ राम भगत गोपाल की जमानत गुरुग्राम की अतिरिक्त सत्र न्यायधीश की कोर्ट के द्वारा मंजूर कर ली गई है। गौरतलब है कि महापंचायत के उपरांत रामगोपाल शर्मा के खिलाफ जमालपुर निवासी दिनेश पुत्र प्रेम प्रकाश की शिकायत पर पटोदी थाना में भारतीय दंड संहिता की धारा 153 ए और 295 के तहत मुकदमा दर्ज कर पुलिस के द्वारा 24 घंटे के अंदर ही गिरफ्तार कर लिया गया था ।

पटौदी में आहूत हिंदू जागरण महापंचायत में मुख्य मुद्दे लव जिहाद, जमीन जिहाद , जबरन धर्मांतरण कराना व अन्य मुद्दे पर विभिन्न वक्ताओं के द्वारा अपनी बात कही गई । जोकि हिंदू सनातन संस्कृति और हिंदू धर्मावलंबियों की भावनाओं को कहीं ना कहीं आहत करती आ रही है । इसी महापंचायत में ही करणी सेना के राष्ट्रीय अध्यक्ष और भाजपा के प्रदेश प्रवक्ता सूरजपाल अम्मू के द्वारा भी बेबाकी के साथ में अपनी बातें कहीं गई थी । रामगोपाल उस वक्त चर्चा में आया थाा जब शाहीन बाग में इसके द्वारा गोली चलाई गई थी । पटौैदी पुलिस के द्वारा गिरफ्तार किया जाने के बाद रामगोपाल शर्मा उर्फ राम भगत गोपाल को पटौदी अदालत में ड्यूटी मजिस्ट्रेट के समक्ष पेश किया गया । जहां से उसे न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया था ।

Advertisement

इसके बाद में 5 वरिष्ठ एडवोकेट के द्वारा पटोदी कोर्ट में ही रामगोपाल शर्मा की जमानत के लिए याचिका दाखिल की गई । 15 जुलाई को सरकारी वकील और रामगोपाल शर्मा उर्फ राम भगत गोपाल के पैरोकार की बहस को सुनने के बाद में अदालत के द्वारा जमानत का फैसला सुरक्षित रखते हुए 15 जुलाई को ही देर सायं आर्डर करने की बात कही । सभी एडवोकेट सहित महापंचायत में शामिल लोगों को यह उम्मीद थी कि रामगोपाल शर्मा की जमानत पटौदी सब डिवीजन कोर्ट के द्वारा मंजूर कर ली जाएगी ,लेकिन पटोदी कोर्ट के द्वारा रामगोपाल शर्मा की जमानत याचिका को खरीद कर न्यायिक हिरासत में भोंडसी जेल भेज दिया गया।

इसके बाद में पटौदी कोर्ट के द्वारा रामगोपाल शर्मा उर्फ राम भगत गोपाल की जमानत याचिका खारिज किए जाने को गुरुग्राम कोर्ट में अतिरिक्त सत्र न्यायधीश डीएन भारद्वाज की अदालत में चुनौती दी गई । यहां पर रामगोपाल शर्मा की तरफ से पंजाब हरियाणा हाई कोर्ट के सीनियर एडवोकेट लोकेश वशिष्ठ और सुप्रीम कोर्ट के एडवोकेट अविनाश मिश्रा के द्वारा रामगोपाल शर्मा को जमानत दिए जाने के संदर्भ में मजबूती से अपना पक्ष रखा गया । अतिरिक्त सत्र न्यायाधीश डीएन भारद्वाज की अदालत में रामगोपाल शर्मा के पैरोकार के द्वारा कोर्ट को यह बताया गया कि सबसे पहले पटोदी पुलिस के द्वारा आरोपी रामगोपाल शर्मा को पुलिस के द्वारा सेेक्शन 41 के तहत नोटिस ही जारी नहीं किया गया । इसके अलावा महत्वपूर्ण बात कोर्ट के संज्ञान में यह लाई गई कि जब साक्ष्य पुलिस कस्टडी के अलावा पटोदी कोर्ट में पुलिस पुलिस के द्वारा जमा करवाए जा चुके हैं, तो ऐसे में साक्ष्य से किसी भी प्रकार छेड़छाड़ किया जाना संभव ही नहीं है । वहीं आरोपी राम गोपाल सहित परिवार को स्थाई निवास-आवास भी है। इसी प्रकार से गुरुग्राम कोर्ट में और भी अन्य तर्क मजबूती के साथ में सरकारी वकील सहित कोर्ट के समक्ष रखे गए। दोनों पक्षों की बहस सुनने के बाद में अतिरिक्त सत्र न्यायाधीश डीएन भारद्वाज की अदालत के द्वारा एक लाख रूपए के बांड की शर्त पर आरोपी राम गोपाल शर्मा उर्फ राम भगत गोपाल की जमानत मंजूर कर ली गई है । सीनियर एडवोकेट लोकेश वशिष्ठ ने बताया कि मंगलवार को पटोदी कोर्ट में गुरुग्राम कोर्ट के द्वारा जारी आर्डर के मुताबिक सभी औपचारिकताएं पूरी कर दी जाएंगी और इसके बाद रामगोपाल शर्मा उर्फ राम भगत गोपाल को भोंडसी जेल से बाहर लाया जाएगा । इधर जैसे ही महापंचायत आयोजकों के अलावा अन्य विभिन्न हिंदू संगठनों को रामगोपाल उर्फ राम भगत गोपाल की जमानत मंजूर होने की जानकारी मिली सभी में एक प्रकार से खुशी का माहौल बना हुआ देखा जा रहा है।

Advertisement

डिस्क्लेमर (अस्वीकरण) : इस आलेख में व्यक्त किए गए विचार लेखक के निजी विचार हैं. इस आलेख में दी गई किसी भी सूचना की सटीकता, संपूर्णता, व्यावहारिकता अथवा सच्चाई के प्रति ATAL HIND उत्तरदायी नहीं है. इस आलेख में सभी सूचनाएं ज्यों की त्यों प्रस्तुत की गई हैं. इस आलेख में दी गई कोई भी सूचना अथवा तथ्य अथवा व्यक्त किए गए विचार #ATALHIND के नहीं हैं, तथा atal hind उनके लिए किसी भी प्रकार से उत्तरदायी नहीं है.

अटल हिन्द से जुड़ने के लिए शुक्रिया। जनता के सहयोग से जनता का मीडिया बनाने के अभियान में कृपया हमारी आर्थिक मदद करें।

Related posts

हरियाणा पुलिस सिपाही पेपर को सार्वजनिक करने वाला मुख्य आरोपी सहित 28 को किया जा चूका है गिरफ्तार ,कैथल पुलिस का दावा 

atalhind

पटौदी के गांव इच्छा पूरी  में पांव फिसलने से जोहड़ में गिरा किशोर, हुई मौत

admin

हरियाणा सहित अन्य राज्यों से चुराई गई 1 करोड रुपए से ज्यादा मुल्य की 18 चोरीशुदा गाडियां बरामद,7 गिरफतार

admin

Leave a Comment

%d bloggers like this:
URL