Atal hind
Uncategorized

मंत्रियों के दफ्तर और आवास पर तबादलों के लिए जल्द ही कर्मचारियों का तांता लगने वाला है

 

मंत्रियों के दफ्तर और आवास पर तबादलों के लिए जल्द ही कर्मचारियों का तांता लगने वाला है
कैथल (अटल हिन्द ब्यूरो )हरियाणा की गठबंधन सरकार के मंत्रियों के दफ्तर और आवास पर तबादलों के लिए जल्द ही कर्मचारियों का तांता लगने वाला है। मनोहर लाल ने अपने मंत्रियों को 25 नवंबर से 10 दिसंबर तक तबादलों की शक्तियां दे दी है। सचिवालय के चौथे और पांचवें तल पर तबादलों के लिए कर्मचारियों की भीड़ जुटने वाली है। मंत्री अपने विभागों में द्वितीय, तृतीय और चतुर्थ श्रेणी कर्मचारियों की ट्रांसफर-पोस्टिंग कर सकेंगे। सीएम के मंत्रियों को तबादलों की शक्तियां देने से आने वाले दिनों में बड़े पैमाने पर अदला-बदली होगी। तीनों श्रेणियों के कर्मचारियों ने इसके लिए नई सरकार बनने के बाद से ही जुगत भिड़ानी शुरू कर दी थी। चूंकि, कर्मचरियों को मालूम था कि सरकार पूर्व की भांति इस बार भी तबादलों की शक्तियां मंत्रियों को कुछ समय के लिए प्रदान करेगी। स्कूल शिक्षा विभाग में ऑनलाइन तबादला नीति लागू हो चुकी है, ऐसे में शिक्षक इन आदेशों का लाभ नहीं उठा सकेंगे। शिक्षकों के अलावा अन्य कर्मचारियों को ही फायदा मिलेगा। अन्य विभागों में अभी ऑनलाइन तबादला नीति प्रभावी ढंग से लागू नहीं हो पाई है। अनेक विभाग अभी नीति तैयार कर रहे हैं, इसलिए मंत्रियों के पास तबादलों के लिए अधिकारियों और कर्मचारियों की अच्छी खासी भीड़ लगेगी। मुख्यमंत्री मनोहर लाल के पास सबसे अधिक तेरह विभाग हैं। जिनमें वित्त, नगर एवं ग्राम आयोजन व शहरी संपदा, जन स्वास्थ्य एवं अभियांत्रिकी, सिंचाई एवं जल संसाधन, सूचना प्रौद्योगिकी व संचार, सूचना, लोकसंपर्क व भाजपा, आवास, योजना, न्याय प्रशासन, पर्यावरण, वास्तुकला, सामान्य प्रशासन सहित अन्य विभाग जो किसी मंत्री के पास नहीं, शामिल हैं। डिप्टी सीएम दुष्यंत चौटाला के पास राजस्व एवं आपदा प्रबंधन, आबकारी एवं कराधान, विकास एवं पंचायत, उद्योग एवं वाणिज्य, लोक निमार्ण बीएंडआर, खाद्य, नागरिक आपूर्ति, श्रम एवं रोजगार, नागरिक विमानन, पुनर्वास व चकबंदी विभाग हैं। अनिल विज के पास सात विभाग हैं, जिनमें गृह, शहरी स्थानीय निकाय, स्वास्थ्य, चिकित्सा शिक्षा एवं अनुसंधान, आयुष, तकनीकी शिक्षा, विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी शामिल हैं। सीएम,डिप्टी सीएम व विज के पास भी तबादलों के लिए अधिकारियों, कर्मचारियों का जमावड़ा रहेगा। अन्य मंत्रियों के पास भी उनके विभागों में तबादलों के लिए भीड़ जुटने वाली है। चूंकि, परिवहन, बिजली, वन, पर्यटन, जेल, कृषि, पशुपालन, खेल व महिला एवं बाल विकास विभाग में भी अधिकारी, कर्मचारी अच्छा पद पाने के लिए पूरा जोर लगाएंगे।

डिस्क्लेमर (अस्वीकरण) : इस आलेख में व्यक्त किए गए विचार लेखक के निजी विचार हैं. इस आलेख में दी गई किसी भी सूचना की सटीकता, संपूर्णता, व्यावहारिकता अथवा सच्चाई के प्रति ATAL HIND उत्तरदायी नहीं है. इस आलेख में सभी सूचनाएं ज्यों की त्यों प्रस्तुत की गई हैं. इस आलेख में दी गई कोई भी सूचना अथवा तथ्य अथवा व्यक्त किए गए विचार #ATALHIND के नहीं हैं, तथा atal hind उनके लिए किसी भी प्रकार से उत्तरदायी नहीं है.

अटल हिन्द से जुड़ने के लिए शुक्रिया। जनता के सहयोग से जनता का मीडिया बनाने के अभियान में कृपया हमारी आर्थिक मदद करें।

Leave a Comment

URL